6 बजे लाइन में लगे, दोपहर बाद पहुंची वैक्सीन

0
260
Vaccination

इंतजार में घंटों परेशान होते रहे लोग, एक दिन में रिकॉर्ड 70 हजार से अधिक लोगों के वैक्सीनेशन

हनुमानगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। जिले में रविवार को कोविड-19 वैक्सीनेशन करवाने टीकाकरण केन्द्रों पर पहुंचे लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। दिन चढ़ते ही सुबह करीब 6 बजे लोग वैक्सीनेशन करवाने के लिए निर्धारित टीकाकरण केन्द्रों के बाहर लंबी कतारों में लग गए। लेकिन सभी जगह दोपहर तक वैक्सीन नहीं पहुंची। इस कारण कड़ी धूप में खड़े लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। लोग घंटों लाइन में खड़े होकर केन्द्र पर वैक्सीन पहुंचने का इन्तजार करते रहे। कई लोग बिना वैक्सीन लगवाए ही घरों को लौट गए। कई जगह अपराह्न तीन बजे वैक्सीन पहुंची। कई केन्द्रों पर इन्तजार करते-करते लोगों के सब्र का बांध टूट गया और उन्होंने केन्द्रों पर हंगामा कर दिया।

हनुमानगढ़ जंक्शन की नई खुंजा के सरकारी स्कूल के वैक्सीनेशन सेंटर पर रविवार को अपराह्न 3 बजे तक वैक्सीनेशन नहीं पहुंचने पर नागरिकों ने हंगामा कर दिया। इस केन्द्र पर भी लोग सुबह 6 बजे से वैक्सीनेशन का इंतजार कर रहे थे। सब्र का बांध टूटा तो नागरिकों ने वैक्सीनेशन के लिए वितरित की गई पर्चियां फाड़ दी। लोगों ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। लोगों का कहना था कि अगर केन्द्रों पर समय पर वैक्सीन की डोज उपलब्ध नहीं करवाई गई थी तो चिकित्सा विभाग को इस बारे में अवगत करवाना था ताकि लोगों को बेवजह घंटों लाइनों में खड़े न रहना पड़ता। तकरीबन सभी केन्द्रों पर दोपहर बाद वैक्सीन पहुंचने पर टीकाकरण का कार्य शुरू होने पर लोगों ने राहत की सांस ली। शाम करीब 6 बजे तक टीकाकरण का कार्य जारी रहा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि रविवार को 70 हजार से अधिक लोगों के वैक्सीनेशन हुआ जो जिले में एकदिन में सर्वाधिक वैक्सीनेशन का रिकॉर्ड है। इससे पहले एकदिन में 54 हजार के करीब वैक्सीनेशन का रिकॉर्ड था।

वेक्सीनेशन देरी से पहुंचने से हुए परेशान

पीलीबंगा (सच कहूँ न्यूज)। कोरोना से बचाव को लेकर शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में रविवार को देरी से वेक्सीन पहुंचने से नागरिक परेशान हुए। इंदिरागांधी मैमोरियल कॉलेज व शहरी क्षेत्र में अन्य केन्द्रों पर अलसुबह ही वेक्सीनेशन को लेकर लोगों को टोकन वितरित कर दिए गए लेकिन दोपहर तक वेक्सीन नहीं पहुंची ऐसे में लोगों ने रोष प्रकट किया। इंदिरागांधी कॉलेज में समय पर वेक्सीन नहीं पहुंचने की सूचना पर लोग टोकन लेकन अपने अपने घर चले गए। आसपास व दूरदराज क्षेत्र से आई महिलाएं धूप में वेक्सीन आने का इंतजार करती रही। कॉलेज में परीक्षा होने के बावजूद इसे वेक्सीनेशन केन्द्र बना दिया गया।

इस संबंध में बीसीएमओ मनोज अरोड़ा ने बताया कि कॉलेज प्रबंधन ने परीक्षा को लेकर उन्हें पूर्व में सूचना नहीं दी। राजकीय स्कूलों में परीक्षा केन्द्र बने हुए थे ऐसे में कॉलेज सहित छात्रावास को केन्द्र बनाने पड़े। रविवार दोपहर में हनुमानगढ से राजकीय चिकित्सालय में वेक्सीन पहुंची। बीसीएमओ मनोज अरोड़ा की मौजूदगी में वेक्सीन वितरण प्रभारी निशा शर्मा ने शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में बने केन्द्रों की संबंधित एएनएम को कोविडशील्ड व कोवेक्सीन की डोज उपलब्ध करवाई। यहां से डोज लेने के बाद चिकित्सा विभाग की टीमें दोपहर में संबंधित केन्द्रों पर पहुंची तब कहीं जाकर लोगों के वेक्सीनेशन लगनी श़ुरू हुई। वेक्सीन वितरण प्रभारी निशा शर्मा ने बताया कि रविवार को कोविडशील्ड की 9000 तथा कोवेक्सीन की 2500 डोज प्राप्त हुई। रविवार को शहरी क्षेत्र में आईजीएम कॉलेज, अंबेडकर भवन, बीएल स्कूल में वेक्सीनेशन हुआ। ग्रामीण क्षेत्र विभिन्न केन्द्रों पर कोवेक्सीन का वेक्सीनेशन हुआ।

शाम 6 बजे तक होता रहा वैक्सीनेशन

रावतसर (सच कहूँ न्यूज)। कोरोना से बचाव के बचाव के लिए रविवार को रावतसर उपखंड़ क्षेत्र मे 10200 डोज वैक्सीन पहुंची जिसमे 2200 कोवैक्सीन व 7000 कोविशील्ड की डोज रावतसर क्षेत्र के लिए मिली जो कि अब तक की सर्वाधिक वैक्सीन थी। रविवार का दिन होने के कारण वैक्सीनेशन स्थल पर सुबह 6 बजे से ही लोगो की लाइने लगनी शुरू हो गई। लोगो ने वैक्सीन के लिए टोकन प्राप्त करने के लिए घंटो कतार मे खड़े रहे। शहरी क्षेत्र मे 11 बजे वैक्सीनेशन शुरू तो ग्रामीण क्षेत्र मे लगभग 11:30 बजे के बाद वैक्सीनेशन प्रारम्भ हुआ। वैक्सीन देरी से पहुचने के कारण गर्मी मे लोगो को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ा।

वैक्सीनेशन साइट की धीमी गति व विधुत कट ने कोढ मे खाज का काम किया। लोगो ने पेड़ो के नीचे छाव मे बैठकर वैक्सीन की बारी का इंतजार किया तथा शाम 6 बजे तक वेक्सीनेशन जारी रहा। वहीं रावतसर ब्लॉक के ग्रामीण क्षेत्र में 11 बजे तक वैक्सीन नहीं पहुंचने से बड़ी संख्या में ग्रामीण वापिस घरों को चले गए। रविवार को रावतसर क्षेत्र में 38 जगहों पर वैक्सीनेशन हुआ।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।