19 जुलाई से 13 अगस्त तक चलेगा संसद का मानसून सत्र: बिरला

0
203
Monsoon session of Parliament sachkahoon

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने 19 जुलाई से संसद के आगामी मानसून सत्र की तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि संसद का मानसून सत्र 19 जुलाई से 13 अगस्त तक होगा। इसमें 19 कार्यदिवस होंगे। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि सभी सदस्यों और मीडिया को कोविड नियमों के अनुसार अनुमति दी जाएगी। आरटीपीसीआर टेस्ट अनिवार्य नहीं है। लेकिन हम उन लोगों से टेस्ट कराने का अनुरोध करेंगे जिन्होंने अभी टीकाकरण नहीं कराया है। कोरोना की दूसरी लहर के बीच सत्र का आयोजन कोविड प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए किया जाएगा। पिछले सत्र की तरह सांसदों को सोशल डिस्टेंशिंग के आधार पर बिठाने की व्यवस्था की जा रही है।

एक डिजीटल प्लेटफॉर्म पर आयेगी संसद और विधानसभायें

लोकसभा एवं सभी राज्यों की विधानसभाओं को एक ही डिजीटल प्लेटफॉर्म पर लाने की तैयारी चल रही है। सदनों की कार्यवाही का सजीव प्रसारण और सभी प्रकार की सामग्री देश की जनता इंटरनेट एवं मोबाइल ऐप पर किसी भी समय देख सकेगी। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि लोकसभा की कार्यवाही का सजीव प्रसारण और सामग्री को एकसाथ एक डिजीटल प्लेटफॉर्म पर एवं एक मोबाइल ऐप के माध्यम से कभी भी कहीं से भी देखा जा सकेगा। उन्होंने कहा कि देश में विभिन्न राज्यों की विधानसभाओं की कार्यवाही एवं सामग्री को भी इसी डिजीटल प्लेटफॉर्म पर जोड़ा जायेगा।

बिरला ने एक सवाल के जवाब में कहा कि देहरादून में हुई पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन में असम के विधानसभा के अध्यक्ष हितेश गोस्वामी की अध्यक्षता में एक ई-विधान समिति का गठन करके इस बारे में एक रिपोर्ट देने को कहा गया था। गोस्वामी ने यह रिपोर्ट दे दी है। 15 अगस्त के बाद पीठासीन अधिकारियों के अगले सम्मेलन में इस रिपोर्ट पर स्वीकृति ली जायेगी। तदुपरांत इसे बहुत जल्द ही क्रियान्वित किया जायेगा। इसबीच इस प्रस्ताव को क्रियान्वित करने की कार्ययोजना तैयार की जा चुकी है।

92 प्रतिशत लोगों ने ई नोटिस एवं प्रश्न ऑनलाइन दिये थे

उन्होंने कहा कि इस डिजीटल प्लेटफॉर्म पर अभी 11वीं से लेकर 17वीं लोकसभा में अभी तक की कार्यवाही जोड़ी जा चुकी है। इसमें 1854 से 11वीं लोकसभा तक की कार्यवाही एवं प्रश्नोत्तर, रिपोर्ट आदि सभी सामग्री को भी जोड़ा जायेगा। इसी प्रकार से पुरानी सभी विधानसभाओं की भी कार्यवाही जोड़ी जायेगी। यह प्लेटफॉर्म सांसदों, संबंधित अधिकारियों एवं मीडिया के लिए उपयोगी होगा जहां नाम, तारीख से कार्यवाही की सामग्री को ढूंढ़ा जा सकेगा। उन्होंने कहा कि वह सदन में अधिक से अधिक ई नोटिस एवं प्रश्न दाखिल किये जाने को बढ़ावा दे रहे हैं। पांचवे सत्र में करीब 92 प्रतिशत लोगों ने ई नोटिस एवं प्रश्न ऑनलाइन दिये थे। इस बार यह शत प्रतिशत होने की आशा है।

नवंबर 2022 में संसद की कार्यवाही नये भवन में आयोजित होगी

एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि कोविड काल में जिन सांसदों ने लोगों की मदद के लिए विशेष उपाय किये या अनूठी सफलता प्राप्त की है, उनके अनुभवों को एक बुकलेट की शक्ल में प्रकाशित किया जायेगा और उन्हें सदन में अनुभव साझा करने का अवसर दिया जायेगा। नए संसद भवन के निर्माण में प्रगति के बारे में पूछे जाने पर बिरला ने कहा कि नये संसद भवन का निर्माण तय समय से केवल दस दिन पीछे चल रहा है और इसके अक्टूबर 2022 तक पूरा होने की आशा है। नवंबर 2022 में संसद की कार्यवाही नये भवन में आयोजित की जाएगी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramlink din , YouTube  पर फॉलो करें।