अब घर बैठे ही मिलेगी वृद्धा पेंशन, सरकार कर रही प्रॉइवेट कम्पनी के साथ करार

Elders Pension sachkahoon

चंडीगढ़(सच कहूँ/अश्वनी चावला)। प्रदेश के 19 लाख 78 हजार से अधिक बुजुर्गों को अब पैंशन लेने के लिए बैंकों की लाईनों में नहीं लगना पड़ेगा, क्योंकि अब से बुजुर्गों को पैंशन उनके घर में ही मिलेगी। पंजाब सरकार द्वारा एक प्रॉइवेट कम्पनी के साथ करार किया जा रहा है, यह कम्पनी बुजुर्गों को खुद पैंशन का पैसा देने के लिए घर में आएगी। इसलिए इलेक्टिोनिक तरीका अपनाया जाएगा ताकि बुजुर्गों के साथ किसी भी तरीके का घपला भी न हो सके। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान इस मामले में प्रॉइवेट कम्पनी के साथ मीटिंग कर चुके हैं और आगामी कुछ सप्ताह में यह प्रॉइवेट कम्पनी के साथ पंजाब सरकार करार कर लेगी। जानकारी के अनुसार पंजाब में इस समय 39 लाख 92 हजार पैंशनरों को पैंशन दी जा रही है, जिसमें 19.78 लाख सिर्फ बुजुर्गों को ही पैंशन जा रही है और इस पैंशन के वितरण पर सरकार द्वारा हर वर्ष 4800 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं।

इन पैंशनरों में सब से अधिक परेशानी बुजुर्गों को ही आ रही है, जिन्हें अपनी पैंशन लेने के लिए बैंकों में जाकर लंबी लाईनों में लगना पड़ता है। कई-कई घंटे लाईनों में लगने के बाद ही बुजुर्गों को पैंशन मिलती है। इस परेशानी को देखते हुए मुख्यमंत्री भगवंत मान द्वारा बुजुर्गों को पैंशन उनके घर में ही भेजने का फैसला किया गया है। इसलिए एक प्रॉइवेट कम्पनी का सिस्टम देखा जा रहा है, जो इलेक्ट्रौनिक तरीके के साथ बुजुर्गों का अंगूठा मशीन पर लगाकर नकद पैंशन उन्हें घर जाकर ही देगी। इसलिए प्रॉइवेट कम्पनी की कमीशन से लेकर खर्चें तक का विवरण पंजाब सरकार द्वारा लिया जा रहा है ताकि सरकार द्वारा इस मामले में जल्द से जल्द कार्रवाई करते हुए पैंशन घर भेजने का इंतजाम कर दिया जाए।

लड़के नहीं देते बुजुर्गों को पैंशन के पैसे

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने बताया कि उनके पास काफी शिकायतें आ रही थी कि युवा लड़के अपने बुजुर्गों के अंगूठे बैंक बाउचर पर लगवाकर ले जाते थे और बुजुर्ग भी लाईन से बचने के लिए लड़कों को अंगूठा लगाकर दे देते हैं परंतु युवक बैंक में से पैसे निकवाकर अपने बुजुर्गों को ही नहीं दे रहे हैं। भगवंत मान ने कहा कि यह पैंशन बुजुर्गों के लिए लगाई जा रही है ताकि यह पैंशन उन्हें ही मिलेगी, इसलिए सरकार खुद बुजुर्गों तक घर में ही पैंशन पहुंचाने का इंतजाम कर रही है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here