महिलाओं की सुरक्षा में ढाल बनेगा डायल 112 का पैनिक बटन

0
138
Panic button of dial 112 sachkahoon

डायल 112 में अब महिलाओं की सुरक्षा को पैनिक बटन शुरू

  • विपत्ति में महिलाएं तीन बार पैनिक बटन दबाएं, पुलिस सहायता पाएं

  • बटन दबाने पर पुलिस के पास पहुंच जाएगी लोकेशन

  • सुरक्षित होने तक बार-बार कॉल सेंटर से आती रहेंगी कॉल

सच कहूँ/संजय मेहरा, गुरुग्राम। सूचना मिलने के बाद चंद मिनटों पर आपके पास पहुंच रही डायल 112 सेवा में अब महिलाओं की सुरक्षा को भी विशेष तवज्जो दी है। इसके लिए पैनिक बटन की सुविधा शुरू की गई है। इस सेवा के माध्यम से विपत्ति में फंसी महिलाओं की सुरक्षा के लिए पुलिस और अधिक सक्षम हो गई है। इस सेवा का लाभ लेने के लिए महिलाएं, युवतियां अपने मोबाइल में डायल 112 ऐप को डाउनलोड करके रखें।

राह चलते, कार्यस्थलों पर या अन्य जगहों पर महिलाओं के साथ छेडखानी या शारीरिक शोषण की सूचनाएं पुलिस के पास आती हैं। पहले जहां पीड़ित महिलाओं को अपनी शिकायतें दर्ज कराने को पुलिस के पास जाना पड़ता था। पुलिस को भी काफी कागजी कार्यवाही करनी पड़ती थी। अब यह सब प्रक्रिया बीते जमाने की बात हुई। क्योंकि अब महिलाओं की शिकायत पर पहले पुलिस पहुंचती है। बाकी की कार्यवाही बाद में की जाती है। सरकार द्वारा शुरू किये गये इमरजेंसी नंबर डायल 112 के माध्यम से अब पुलिस की सक्रियता भी बढ़ गई है और फ्रिक्वेंसी (घटनास्थल पर पहुंचने का समय) भी कम हो गया है। क्योंकि इसमें देरी से पहुंचने वाली पुलिस टीम को जवाब तलब किया जाता है।

इस तरह से होगी पूरी प्रक्रिया

डायल 112 सेवा में महिलाओं के लिए पैनिक बटन की सुविधा दी गई है। इस सुविधा का लाभ महिलाएं अपने मोबाइल में डायल 112 ऐप डाउनलोड करके ले सकती हैं। इसके बाद किसी भी आपात स्थिति या फिर असुरक्षित माहौल में पुलिस सहायता के लिए महिलाएं अपने मोबाइल का पावर बटन तीन बार प्रेस करना है। उनके ऐसा करते ही डायल 112 के कंट्रोल रूम में हेल्प रिक्वेस्ट लोकेशन सहित पहुंच जाएगी। कंट्रोल रूम में कार्यरत स्टाफ द्वारा उनके मोबाइल पर कॉल कर सहायता के लिए पूछा जाएगा। कॉल करने का यह सिलसिला थोड़ी थोड़ी देर के अंतराल के बाद तब तक जारी रहेगा, जब तक कॉल करने वाली महिला खुद को सुरक्षित महसूस नहीं करती एक समय के उपरांत यदि आपको लगता है कि आप सुरक्षित है तो आप अपने मोबाइल की 112 ऐप पर ब्लिंक करते आई एम सेफ मेसेज पर क्लिक करेंगी तो उनके पास 112 हेल्पलाइन से आने वाली कॉल आनी बंद हो जाएगी।

डायल 112 हेल्पलाइन सेवा के तहत शुरू की गई नई सुविधा में पुलिस द्वारा दी जाने वाली मदद अब एक बटन की दूरी पर होगी। ऐसा नहीं है कि इस सुविधा का लाभ केवल महिलाएं ही ले सकती है। आपात स्थिति में फंसा कोई भी व्यक्ति इस बटन के माध्यम से पुलिस की मदद ले सकता है।

डॉ. यश गर्ग, जिला उपायुक्त, गुरुग्राम

डायल 112 सेवा पर महिलाओं से जुड़े अपराधों में कमी लाने व उनको सुरक्षित माहौल प्रदान करने को पैनिक बटन की सुविधा दी गई है। पैनिक बटन की यह एंड्रॉयड मोबाइल के अलावा साधारण की-पैड वाले फोन में भी उपलब्ध है। साधारण फोन से की-पैड पर 5 या 9 का बटन कुछ देर तक दबाकर रखना होगा।

ऊषा कुंडू, एसीपी मुख्यालय, गुरुग्राम

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramlinked in , YouTube  पर फॉलो करें।