पीएम मोदी ने उज्जवला योजना-2 की लॉन्चिंग पर कहा- अब गैस कनेक्शन के लिए एड्रेस प्रूफ जरूरी नहीं

0
210
PM Ujjwala 2

नई दिल्ली (एजेंसी)। उज्जवला योजना -2 का पीएम मोदी के वर्चुअल माध्यम से शुभारंभ के साथ मुख्यमंत्री योगी ने प्रदेश में महोबा से योजना की शुरूआत की। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा आज उज्जवला योजना के अगले चरण में कई बहनों को मुफ्त गैस कनेक्शन और गैस चूल्हा मिल रहा है। मैं सभी लाभार्थियों को फिर से बहुत-बहुत बधाई देता हूं। आज मैं बुंदेलखंड की एक और महान संतान को याद कर रहा हूं। मेजर ध्यान चंद, हमारे दद्दा ध्यानचंद। देश के सर्वोच्च खेल पुरस्कार का नाम अब मेजर ध्यान चंद खेल रत्न पुरस्कार हो गया है। प्रधानमंत्री ने कहा अब किसी भी व्यक्ति को गैस कनेक्शन के लिए एड्रेस प्रूफ की जरूरत नहीं है। बिना एड्रेस के ही गैस कनेक्शन मिल जाता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि महिला सशक्तिकरण पर बल देते हुये कहा कि अगले 25 सालों में देश को आत्मनिर्भर बनाने में महिलाओं की भूमिका अहम होगी। मोदी ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए महोबा में उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण का शुभारंभ करने के अवसर पर कहा कि राष्ट्र निर्माण में महिलाओं के योगदान को भुलाया नही जा सकता। उन्होंने उपलब्धियों के अनेक कीर्तिमान स्थापित किये लेकिन आजादी के सात दशक बाद भी उनकी स्थिति खराब बनी रही। एनडीए सरकार ने आधी आबादी के महत्व के मद्देनजर महिलाओं से जुड़ी योजनाओं को मिशन मोड में लेकर कार्य किया।

उन्होने कहा कि पांच साल में उज्जवला योजना में पूरे देश की आठ करोड़ महिलाओं को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन प्रदान कर धुंआ रहित ईंधन से जोड़ा गया है। स्वाधीनता की 75वीं वर्षगांठ पर इन दिनों देश मे चल रहे आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम और बहन भाई के पवित्र प्रेम के प्रतीक रक्षाबंधन के त्योहार पर सरकार ने उज्जवला 2.0 का शुभारंभ करके उन एक करोड़ परिवारों की महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन का तोहफा देने का लक्ष्य तय किया है जो इसे हासिल कर पाने में अभी तक वंचित रहे है।

उज्जवला के दूसरे चरण में कामगार वर्ग को विशेष लाभ होगा। उन्हें अब कनेक्शन के लिए पते का प्रमाण पत्र की जरूरत नही होगी। वह स्व उद्घोषणा से कनेक्शन प्राप्त कर सकेंगे। देश में रसोई गैस का कवरेज शत प्रतिशत होने को है। सिलेंडर की बुकिंग व आपूर्ति की दिक्कत को दूर करने के प्रयास किये जा रहे है। हर घर में पाइप लाइन से गैस पहुचाने की योजना पर तेजी से कार्य हो रहा है। इस वर्ष के अंत तक यूपी के 50 जिलों को इससे जोड़ देने का प्रयास है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वर्ल्ड बायो फ्यूल डे यानी विश्व जैव ईंधन दिवसध के अवसर पर आयोजित इस कार्यक्रम में जैविक ईंधन पर प्रमुखता से चर्चा की और इसे आत्मनिर्भरता के लिए महत्वपूर्ण बताया। उन्होने कहा कि किसानों के गन्ना की फसल,कचरा व खराब सामग्री से इथेनॉल तैयार किया जा रहा है। जो आगे चलकर हमारे लिए ईंधन का एक सशक्त विकल्प होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके पूर्व बटन दबाकर उज्जवला 2.0 योजना की शुरूआत की। इस दौरान महोबा में कार्यक्रम स्थल पर मौजूद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चयनित दस लाभार्थी महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन वितरित किये। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यक्रम में उज्जवला 1.0 की लाभार्थी महिलाओं उत्तराखंड की गोंदी, गोवा की एकता चोपडेकर,अमृतसर की आशा,गोरखपुर की किरण देवी तथा भोपाल की सुनीता वैष्णव से वर्चुअल तरीके से संवाद किया और रसोई गैस मिलने के बाद उनके जीवन मे आये बदलाव को जाना।

इस मौके पर केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने तेल एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय की कार्य योजना का ब्यौरा प्रस्तुत किया जबकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वागत भाषण में बुंदेलखंड में संचालित विकास योजनाओं की प्रधानमंत्री को जानकारी दी। कार्यक्रम में सूबे के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य,डा दिनेश शर्मा तथा केंद्रीय पेट्रोलियम व गैस राज्य मंत्री रामेश्वर तेली भी मौजूद रहे। इस मौके पर छोटी सी फिल्म भी दिखाई गई।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।