उयपुर: चिंतन शिविर में गहलोत को मिली तवज्जो, पायलट गुट को लगा सियासी झटका

Ashok Gehlot- Sachin Pilot

उदयपुर। राजस्थान के उदयपुर में शुक्रवार से शुरू हो रहे कांग्रेस के तीन दिवसीय चिंतन शिविर में शामिल होने के लिए पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी उदयपुर पहुंच गए है। सीएम अशोक गहलोत समेत पार्टी के बड़े नेताओं ने राहुल गांधी का जोरदार स्वागत किया। कांग्रेस के चिंतन शिविर से संकेत मिले हैं कि सीएम अशोक गहलोत राजस्थान के मुख्यमंत्री बने रहेंगे। राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 सीएम अशोक गहलोत के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा। राहुल गांधी के उदयपुर आगमन पर सीएम गहलोत को खासी तवज्जो मिली है। बस में राहुल गांधी और अशोक गहलोत एक ही सीट पर बैठक होटल के लिए रवाना हुए।

पायलट गुट को झटका

पायलट गुट के लिए संदेश काफी मायने रखता है। राहुल गांधी ने सीएम गहलोत के प्रति अपनापन दिखाया है, उससे साफ संकेत है कि राजस्थान कांग्रेस में वही होगा जो सीएम अशोक गहलोत चाहेंगे। सीएम गहलोत को मिली तवज्जो को पायलट गुट के लिए सियासी तौर पर झटका माना जा रहा है। कांग्रेस आलाकमान का सीएम गहलोत पर भरोसा बरकार है। हालांकि, पायलट गुट को उम्मीद है कि राजनीति में अनिश्चितता रहती है, लेकिन संभावनाएं कभी खत्म नहीं होती है।

सोनिया से मिलने दिल्ली पहुंचे थे सचिन पायलट

गौरतलब हैं कि पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कभी खुलकार मुख्यमंत्री बनाने की मांग नहीं की। सचिन पायलट ने पिछले दिनों सोनिया गांधी से नई दिल्ली में मुलाकात की थी। पायलट से पहले सीएम अशोक गहलोत ने भी नई दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। उस समय तेजी नेतृत्व परिवर्तन होने की खबरें मीडिया में चली थी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here