4 वर्ष की नौकरी, 30 हजार की सैलरी… जानिए अग्निवीरों को क्या-क्या मिलेगा?

HM Rajnath Singh

तीनों सेनाओं में ‘अग्निपथ’ के जरिए की जाएंगी भर्ती: राजनाथ सिंह

  • सेनाओं में ‘अग्निपथ’ से भर्ती कि जाएंगे ‘अग्निवीर’: राजनाथ

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। सरकार ने तीनों सेनाओं में जवानों की भर्ती प्रक्रिया में बड़ा बदलाव करते हुए एक नयी योजना अग्निपथ के जरिए केवल चार वर्ष के लिए अग्निवीरों की भर्ती करने का निर्णय लिया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मंगलवार को यहां हुई केन्द्रीय मंत्रिमंडल की सुरक्षा मामलों की समिति में इस निर्णय को मंजूरी दी गई। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बाद में एक संवाददाता सम्मेलन में तीनों सेनाओं के प्रमुखों की मौजूदगी में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अब तीनों सेनाओं में अग्निपथ योजना के तहत ही जवानों यानी अग्निवीरों की भर्ती की जाएगी। उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य सेनाओं को चुस्त दुरूस्त , युवा तथा जोश और उत्साह से परिपूर्ण बनाना है।

इससे देश की सुरक्षा व्यवस्था तो मजबूत होगी, साथ ही इसके जरिए युवाओं को देश सेवा करने का मौका मिलेगा और उनमें देशप्रेम की भावना भी पैदा होगी। सिंह ने कहा कि इस योजना से युवाओं के लिए रोजगार के अवसर भी बढेंÞगे तथा चार वर्ष के बाद जब ए युवा सेना से बाहर आएंगे तो देश को विभिन्न कौशलों से लैस युवा जनशक्ति भी मिलेगी। उन्होंने कहा कि इन युवाओं को अच्छा वेतन तथा सेना से बाहर आने के बाद अच्छा सेवा निधि पैकेज भी दिया जाएगा। सेना में कार्यरत रहने के दौरान यदि किसी अग्निवीर की मौत हो जाती है तो उसके परिजनों को बीमे के रूप में अच्छी खासी राशि दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि यह योजना विदेशों की योजनाओं का अध्ययन कर युवाओं को ध्यान में रखकर बहुत सोच समझकर तैयार की गयी है और इसे किसी की नकल नहीं कहा जा सकता। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि इस योजना को संदेह की दृष्टि से नहीं देखा जाना चाहिए। यह कयास भी नहीं लगाए जाने के लिए सेनाओं में खर्च कम करने तथा बचत के लिए सरकार यह योजना लेकर आई है। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा के लिए सरकार कितना भी खर्च करने से पीछे नहीं हटेगी। एक सवाल के जवाब में रक्षा मंत्री ने कहा कि नए प्रमुख रक्षा अध्यक्ष यानी चीफ आॅफ डिफेंस स्टाफ सीडीएस की नियुक्त जल्दी ही की जाएगी। उन्होंने कहा कि इसके लिए जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।

मुख्य बिंदू

  • अग्निपथ के जरिए तीनों सेनाओं के अधिनियम के तहत अग्निवीरों की भर्ती की जाएगी।
  • इसमें प्रशिक्षण की अवधि भी शामिल होगी जो अलग अलग सेनाओं के लिए अलग होगी।
  • 4 वर्ष पूरे होने के बाद इनमें से 25 प्रतिशत को सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए मेरिट के आधार पर स्थायी किया जाएगा।
  • अलग अलग सेनाओं की जरूरत के आधार पर महिलाओं की भी होगी भर्ती।
  • इस वर्ष तीनों सेनाओं में 46 हजार अग्निवीरों को भर्ती किए जाने की संभावना।
  • ग्निवीरों की भर्ती प्रक्रिया में पहले की तरह ही बेहद कड़े शारीरिक मानदंडों को पूरा करना होगा तथा भर्ती प्रक्रिया पूरी तरह मेरिट के आधार पर पूरी की जाएगी।

Rafael will formally join the Indian Air Force tomorrow

China, Indian Ocean, PLA Navy, International Community

शैक्षणिक योग्यता

Education-of-government-schools-of-Punjab sachkahoon

  • अग्निवीरों की भर्ती के लिए शैक्षणिक योग्यता 10वीं या बारहवीं रखी गई।
  • भर्ती के लिए उम्र सीमा साढे सत्रह वर्ष से 21 वर्ष रखी गई।
  • सेना की औसत उम्र 32 वर्ष से कम होकर 24 से 26 वर्ष हो जाएगी।
  • पहली भर्ती रैली आज से 90 दिन में होगी

सैलरी

ATM

  • अग्निवीरों को पहले वर्ष 30 हजार रुपए।
  • दूसरे वर्ष 33 हजार , तीसरे वर्ष 36500 तथा चौथे वर्ष 40 हजार रुपए का वेतन प्रति माह दिया जाएगा।
  • इसमें से 9 हजार रुपए की राशि अग्निवीर निधि में जमा होगी। और इतनी ही राशि सरकार की ओर से दी जाएगी।
  • पहले वर्ष में अग्निवीरों की आमदनी 4 लाख 76 हजार रुपए तथा चौथे वर्ष में 6 लाख 92 हजार होगी।
  • अग्निवीरों को जोखिम और कठिनाई भत्ता भी दिया जाएगा।
  • इसके अलावा चार वर्ष पुरे होने के बाद सेना निधि पैकेज से 11 लाख 71 हजार रुपए की राशि दी जाएगी जो पूरी तरह से करमुक्त होगी।
  • किसी भी अग्निवीर की सेवा के दौरान मृत्यु होने पर उसके परिजनों को बीमा राशि प्रदान की जाएगी जो कुल मिलाकर एक करोड़ रुपए से भी अधिक होगी। इसके अलावा बाकी बची नौकरी की अवधि के वेतन का भी भुगतान किया जाएगा।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here