सविता के पिता बोले- हमारी छोरियां खूब खेली हैं, हार-जीत चलता रहता है

0
255
Goalkeeper Savita Poonia

 पूरे मैच के दौरान परिवार ने टीवी पर गड़ाए रखी आंखें

सरसा (सच कहूँ न्यूज)। भारतीय महिला हॉकी टीम टोक्यो ओलंपिक के सेमिफाइनल में भले ही अर्जेंटीना से हार गई है। लेकिन टीम ने पूरी दुनिया का दिल जीत लिया है। 2-1 से सेमीफाइनल हारने के बावजूद महिला हॉकी टीम को पूरा सपोर्ट मिल रहा है। सरसा जिला के गाँव जोधका निवासी भारतीय हॉकी टीम की गोलकीपर सविता पूनिया के परिवार ने पूरे मैच के दौरान टीवी पर आंखें गड़ाए रखी। परिवार में सविता के पिता महेंद्र सिंह पूनिया, मां लीलावती, दादी उमा देवी, भाई अशोक, बहन किरण व मंजू, भतीजे रवि सिंह ने मैच का लाइव प्रसारण देखा। मैच के दौरान जब टीम ने गोल किया या सविता ने जब विरोधी टीम का कोई गोल रोका तो परिवारजनों ने तालिया बजाकर उनका हौंसला बढ़ाया।

भारतीय हॉकी टीम हारने पर परिजन हुए भावुक

मैच के आखिरी क्षणों में जब टीम इंडिया हार रही थी तो सविता की माता लीलावती व अन्य परिवारिक सदस्य मायूस दिखाई दिए और भारतीय हॉकी टीम की हार पर सविता के परिजन भावुक हुए। सविता पूनिया के पिता महेंद्र सिंह पूनिया ने कहा कि खुशी हो या गम, जीत हो या हार चलती रहती है। भारतीय टीम बहुत अच्छा खेली है। तभी टीम सेमीफाइनल खेली। जब ब्रॉच मेडल के लिए फाइट होगी तो हमारी टीम कामयाब होगी और देश की झोली में मेडल आएगा। हमें गर्व होना चाहिए कि भारतीय हॉकी टीम के पास भारतीय दीवार है। आने वाले टाइम में सविता भी अच्छा प्रदर्शन करेगी। उन्होंने कहा कि हमारी छोरियां खूब खेली हैं। होपफुल इसमें टीम अच्छा प्रदर्शन करके ब्रॉज मैडल लेकर आएगी।

न्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।