जमीनी विवाद में जयपाल शर्मा को मारी गोली, उपचार दौरान तोड़ा दम

कुछ समय पहले जयपाल के बड़े भाई पर भी हुआ था हमला

  • पहले से वांछित मुख्य आरोपी सुखप्रीत के खिलाफ केस दर्ज

रतिया/भूना (सच कहूँ न्यूज)। पालसर गांव में जमीनी विवाद की रंजिश को लेकर रविवार की दिनदहाड़े एक व्यक्ति की वांछित अपराधी ने गोली मारकर हत्या कर दी। हत्यारोपी वारदात के बाद मोटरसाइकिल लेकर मौके से फरार हो गया। घायल को तुरंत सीएचसी केंद्र रतिया में दाखिल किया गया, जहां गोली लगने से गंभीर रूप से घायल जयपाल शर्मा ने दम तोड़ दिया। जानकारी के अनुसार पालसर निवासी करीब 54 वर्षीय जयपाल शर्मा रविवार दोपहर को अपने घर के समीप तेजाराम बाजीगर की दुकान के सामने उपलों की आग पर सर्दी से बचाव के लिए हाथ गर्म कर रहा था।

यह भी पढ़ें:– हिसार, गुरुग्राम और महेन्द्रगढ़ में पारा 1 डिग्री

उनके पास दो अन्य व्यक्ति भी बैठे हुए थे। लेकिन मोटरसाइकिल पर नकाब पहनने हुए सुखप्रीत उर्फ सुखू ने जयपाल के नजदीक आते ही पीछे से कमर में 315 बोर के पिस्तौल से गोली मार दी और मौके से मोटरसाइकिल लेकर फरार हो गया। लोगों ने तुरंत उसे उपचार के लिए रतिया लेकर पहुंचे। मगर उपचार के दौरान जयपाल ने दम तोड़ दिया। गांव पालसर निवासी जयपाल शर्मा व जसबीर सिंह उर्फ जस्सू ने मिलकर मध्यप्रदेश में करीब 18 बीघा जमीन खरीदी थी, जिसमें से तीन एकड़ जमीन की रजिस्ट्री हो गई।

मगर बाकी की जमीन गोचरण से संबंधित होने के कारण जमीन का पंजीकरण नहीं हुआ। जसबीर ने पालसर में अपनी छह कनाल जमीन 20 लाख रुपये में बेचकर उक्त राशि एमपी की जमीन पर खर्च कर दी थी। परंतु जमीन गोचरण की होने के कारण जस्सू व जयपाल शर्मा के बीच विवादास्पद हालात बन गए। क्योंकि उपरोक्त जमीन जयपाल की पसंद की थी, इसलिए जसबीर नुकसान की भरपाई के लिए जयपाल शर्मा पर दबाव देने लगा और मध्य प्रदेश से खेती को छोड़कर वापस पालसर आ गया।

हालांकि जयपाल शर्मा व उसका बेटे गौरव शर्मा मध्यप्रदेश में ही खेती करते रहे। लेकिन करीब 6 साल पहले जसबीर का निधन हो गया और उसके परिवार के लोग जयपाल को जिम्मेदार मानने लगे। जस्सू का इकलौता बेटा सुखप्रीत उर्फ सुखू ने जयपाल शर्मा को कई बार जान से मारने की धमकी भी दी थी। जबकि जयपाल शर्मा एमपी में थे तो उनके पीछे से 19 अक्टूबर 2019 में सुखप्रीत उर्फ सुखू व उसकी मां छिन्द्रकौर ने गुरदीप उर्फ कालू तथा चार अन्य लोगो साथ मिलकर जयपाल शर्मा के बड़े भाई डॉक्टर हरपाल सिंह के घर में घुसकर हमला कर दिया था।

पुलिस ने हरपाल सिंह की शिकायत पर उपरोक्त लोगों के खिलाफ घर में घुसकर मारपीट करने व जान से मारने की धमकी देने की एफआईआर दर्ज की थी। उसी हमले में हत्यारोपी सुखप्रीत उर्फ सुखू न्यायालय से वांछित चल रहा है। मगर खेती में घाटा होने के चलते एक साल पहले जयपाल शर्मा अपने घर वापिस पालसर आ गया था। लेकिन रविवार की दोपहर 12 बजे नकाबपोश सुखप्रीत उर्फ सुखू पर जयपाल शर्मा की कमर पर गोली मारकर हत्या कर देने के आरोप लगे हैं।

बेटे की हरकतों से तंग मां बेच गई थी पालसर से जमीन

जसबीर उर्फ जस्सू की पत्नी छिन्द्रकौर अपने इकलौते बेटे सुखप्रीत उर्फ सुखू की गलत संगत को देखते हुए पालसर गांव से अपनी छह एकड़ जमीन बेचकर पंजाब के गांव फतेह में 5 एकड़ जमीन की खरीदारी कर ली थी। बेटे को भी यहां से ले गई थी। बताया गया है कि सुखू लगातार जयपाल की हत्या करने के लिए मौका तलाश रहा था। क्योंकि उसे पंजाब में कम और पालसर में ज्यादातर देखा गया था। रविवार को सुखू ने एक एक महिला का पति और एक बेटे का बाप छीन लिया। पालसर में शर्मा परिवार के घर घटना के बाद कोहराम मचा हुआ है।

पुलिस उप अधीक्षक अजायब सिंह ने बताया कि पालसर गांव में पुराने जमीनी विवाद को लेकर जयपाल शर्मा की हत्या कर दी गई है। मृतक के बेटे गौरव शर्मा की शिकायत पर मुख्य आरोपी सुखप्रीत उर्फ सुखू व एक अन्य के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है आरोपियों की तलाश की जा रही है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।