आधार कार्ड की प्रमाणिकता की होगी जांच

Aadhaar Card

पुलिसकर्मियों सहित विभिन्न विभागों के फील्ड स्टाफ मिलेगा प्रशिक्षण

चंडीगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। हरियाणा के मुख्य सचिव संजीव कौशल ने कहा कि आधार कार्ड में गलत जानकारी दर्ज होने या आधार कार्ड की प्रमाणिकता की जांच हेतू पुलिसकर्मियों सहित विभिन्न विभागों के फील्ड स्टाफ को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए राज्य सरकार ने कार्यशालाओं का कार्यक्रम तैयार कर लिया है। 18 जनवरी से 23 जनवरी तक सभी जिलों में ऑनलाइन कार्यशालाओं का आयोजन किया जाएगा। इसके बाद फरवरी माह में आॅफलाइन मोड में जिलों में ऐसी कार्यशालाएं आयोजित की जाएंगी। मुख्य सचिव ने सोमवार को यहां वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर इन कार्यशालाओं की रूपरेखा तैयार करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें:– 63 गांवों को विकास कार्यों के लिए मिली 10 करोड़ 40 लाख, 11 हजार रुपये की ग्रांट

उन्होंने कहा कि भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) के सहयोग से आयोजित की जाने वाली इन कार्यशालाओं में जिला उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग, महिला एवं बाल विकास, स्वास्थ्य व स्कूल शिक्षा विभागों के फील्ड स्टाफ को यूआईडीएआई के विशेषज्ञों की ओर से आधार कार्ड की प्रमाणिकता की जांच की ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी। इस कार्यशाला में 10 साल पुराने आधार वाले नागरिकों के पते को दोबारा सत्यापित करने तथा 18 वर्ष या उससे अधिक की आयु के व्यक्तियों के नए कार्ड बनाने की प्रक्रिया की भी समुचित जानकारी दी जाएगी।

18 जनवरी से 23 जनवरी तक ऑनलाइन होंगी कार्यशालाएं

मुख्य सचिव ने बताया कि 2-2 जिलों का समूह बनाकर इन कार्यशालाओं का आयोजन किया जाएगा। पंचकूला एवं यमुनानगर जिलों तथा अंबाला एवं कुरुक्षेत्र जिलों के लिए 18 जनवरी को कार्यशाला का आयोजन होगा। इसी प्रकार, जींद एवं हिसार, रोहतक एवं झज्जर, पानीपत एवं सोनीपत और चरखी दादरी एवं भिवानी जिलों में 19 जनवरी को अलग-अलग समय पर कार्यशाला आयोजित की जाएगी। उसके बाद, गुरुग्राम एवं मेवात, रेवाड़ी एवं महेंद्रगढ़, सरसा एवं फतेहाबाद तथा कैथल एवं करनाल जिलों में 20 जनवरी को कार्यशाला का आयोजन होगा। 23 जनवरी को फरीदाबाद एवं पलवल जिलों में कार्यशाला आयोजित की जाएगी। उन्होंने कहा कि आॅनलाइन प्रशिक्षण कार्यशालाओं के बाद आॅफलाइन कार्यशालाओं का भी आयोजन होगा। इसके लिए भी प्रारूप तैयार कर लिया गया है।

आधार विवरण में नागरिक पीओआई और पीओए करें अपडेट

कौशल ने कहा कि यूआईडीएआई के डाटा के मुताबिक हरियाणा में लगभग 77.91 लाख ऐसे नागरिक हैं, जिन्होंने पिछले 10 वर्षों में आधार में अपने दस्तावेज अपडेट नहीं किए हैं। इसलिए उन्होंने आधार धारकों से आग्रह किया कि भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के निर्देशानुसार जिन्होंने पिछले 10 वर्षों में अपने आधार को अपडेट नहीं किया है, वे पहचान के प्रमाण (पीओआई) तथा पते के प्रमाण (पीओए) के वैध सहायक दस्तावेजों के साथ आधार को माई आधार पोर्टल या एम आधार ऐप के माध्यम से आॅनलाइन या निकटतम आधार केन्द्र पर जाकर आॅफलाइन माध्यम से अपडेट करें। उन्होंने कहा कि पिछले एक दशक में आधार कार्ड भारत में निवासियों की पहचान के सार्वभौमिक रूप से स्वीकृत प्रमाण के रूप में उभरा है।

यह निवासियों के हित में है कि वे अपने आधार को पहचान के वर्तमान प्रमाण और पते के प्रमाण के साथ अपडेट रखें। बड़ी संख्या में केंद्र और राज्य सरकार की योजनाएं और वित्तीय संस्थान जैसे बैंक और एनबीएफसी ग्राहकों को प्रमाणित करने और आॅनबोर्ड करने के लिए आधार का उपयोग करते हैं। मुख्य सचिव ने निवासियों से आग्रह किया कि वे आधार विवरण में अपने मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी को अपडेट करें तथा 5 और 15 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए अनिवार्य बायोमेट्रिक अपडेट भी अवश्य करें।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here