‘अफगानिस्तान में हालात बेकाबू’

0
349
Afghanistan

संयुक्त राष्ट्र (एजेंसी)। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि तालिबान के काबुल पर हमले तेज करने से अफगानिस्तान में स्थिति नियंत्रण से बाहर हो रही है। गुटेरेस ने यहां जारी एक बयान में कहा कि अफगानिस्तान एक और अराजक और हताश अध्याय की चपेट में है। अपने लंबे समय से पीड़ित लोगों के लिए एक अविश्वसनीय त्रासदी। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में स्थिति नियंत्रण से बाहर हो रही है।

किसी राजनयिक या दूतावास पर नहीं करेंगे हमला : तालिबान

अफगानिस्तान में हिंसा के बीच तालिबान का बयान सामने आया है, जिसमें उसने कहा कि अफगानिस्तान में वो किसी दूतावास या राजनयिक को निशाना नहीं बनाएगा। तालिबान के प्रवक्ता मोहम्मद सुहैल शाहीन ने एक समाचार एजेंसी को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हमारी तरफ से दूतावासों और राजनयिकों को कोई खतरा नहीं है। हम किसी दूतावास या राजनयिक को निशाना नहीं बनाएंगे।

अफगानिस्तान से अपने नागिरकों को हटा रहे अमेरिका समेत कई देश

अमेरिका और कई अन्य देशों ने अफगानिस्तान में तालिबान के तेजी से बढ़ते नियंत्रण के बीच अपने-अपने नागरिकों को इस देश से निकालना शुरू कर दिया है। इस बीच संयुक्त राष्ट्र ने अफगानिस्तान में तालिबान से अपनी हिंसक गतिविधियों को रोकने और बातचीत शुरू करने का आग्रह किया है। व्हाइट हाउस ने जानकारी दी कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने अफगानिस्तान से अपने नागरिकों को सुरक्षित निकालने के प्रयासों को लेकर मंत्रिमंडल से बात की है। इससे कुछ घंटे पहले ही अमेरिकी रक्षा विभाग ने अफगानिस्तान में तालिबान के तेजी से बढ़ते कदम पर चिंता जताई थी।

तालिबान ने अब तक अफगानिस्तान के 34 प्रांतीय राजधानियों में से लगभग आधे और इस दक्षिण एशियाई देश के लगभग दो-तिहाई हिस्से पर नियंत्रण कर लिया है। अमेरिका के अलावा ब्रिटेन, कनाडा, स्विट्जरलैंड, नॉर्वे, फ्रांस, स्पेन, बेल्जियम, जर्मनी, चेक गणराज्य और अन्य देशों ने भी अफगानिस्तान से अपने नागरिकों को सुरक्षित निकालने के लिये कदम उठाए हैं। ब्रिटेन ने अफगानिस्तान से अपने नागरिकों को सुरक्षित निकालने के लिये इस युद्धग्रस्त देश में शुक्रवार को अपने सैनिकों को तैनात करना भी शुरू कर दिया है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।