जानें, बग्गा की गिरफ्तारी मामले पर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में आज क्या हुआ…

Tajinder Bagga

चंडीगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। भाजपा युवा मोर्चा के राष्ट्रीय सचिव तेजिंदर पाल सिंह बग्गा की पंजाब पुलिस द्वारा गिरफ्तारी को लेकर कल हाई वोल्टेज ड्रामा रहा। इस बीच आज पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में आज की सुनवाई टल गई है। अब कोर्ट इस मामले में 10 मई को सुनवाई करेगा। आपको बता दें कि आज की सुनवाई में हरियाणा और दिल्ली पुलिस को कोर्ट में बताना था कि किन हालातों में पंजाब पुलिस का कुरूक्षेत्र में काफिला रोका गया और दिल्ली पुलिस को क्यों सुर्पुद किया। वही इस केस में पंजाब सरकार ने आज हाईकोर्ट में दो याचिका लगाई है। एक में हरियाणा पुलिस व दिल्ली पुलिस को पार्टी बनाने की बात कही है और दूसरी याचिका में सीसीटीवी फुटेज सेव करने की बात कही है। वहीं आज इस मामले पर भाजपा कार्यकर्ता दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर प्रदर्शन करेंगे।

जानें, कल क्या हुआ….

  • यूं शुरू हुई तीन राज्यों की पुलिस के बीच खींचतान

बता दें कि मोहाली में तेजिंदर सिंह बग्गा के खिलाफ अरविंद केजरीवाल के खिलाफ बोलने के मामले में केस दर्ज में पंजाब पुलिस ने बग्गा को दिल्ली में शुक्रवार सुबह 9 बजे गिरफ्तार कर लिया। बग्गा के परिजनों ने आरोप लगाया था कि पंजाब पुलिस ने बग्गा को गिरफ्तार नहीं किया बल्कि अपहरण करके ले गई है। इसकी शिकायत बग्गा के परिजनों ने दिल्ली पुलिस को दी थी और दिल्ली पुलिस ने इस मामले में पंजाब पुलिस के खिलाफ अपहरण का केस दर्ज किया था।

पंजाब पुलिस ने बेरिकेट्स को लांघा तो कुरुक्षेत्र पुलिस ने आगे किया काबू

जब पंजाब पुलिस दिल्ली से पंजाब की ओर तेजिंद्र पाल बग्गा को लेकर जा रही थी तो कुरुक्षेत्र पुलिस ने करनाल-कुरुक्षेत्र बोर्डर पर नाका लगा दिया और पंजाब पुलिस बेरिकेट्स को लांघते हुए आगे बढ गई। इसके बाद उन्हे खानपुर पुलिया के समीप हरियाणा पुलिस ने रोक लिया। वहां से पुलिस तजिंदर पाल सिंह बग्गा को लेकर थाना सदर में ले आई। इस दौरान मोहाली के एएसपी मनप्रित सिंह भी मौके पर मौजूद थे।

भाजपा कार्यकर्ताओं ने की नारेबाजी

जैसे ही भाजपा युवा मोर्चा को तेजेंद्र पाल सिंह बग्गा की गिरफ्तारी की खबर लगी। उसके बाद भाजपा के जिलाध्यक्ष राजकुमार सैनी व भाजपा युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष रूबल शर्मा की अगुवाई में भाजपा कार्यकर्ताओं ने थाना सदर के बाहर पंजाब पुलिस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। मामला हाई वोल्टेज हो गया और थाना सदर का घेराव कर पंजाब पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। इस दौरान दिल्ली पुलिस भी थाना सदर पहुंच गई। कई घंटे तक तीनों राज्यों की पुलिस के बीच गुफ्तगू होती रही। इसके बाद दिल्ली पुलिस तजिंदर पाल सिंह बग्गा को दिल्ली लेकर चली गई। वहीं दूसरी ओर इस मामले को लेकर राजनीति के गलियारों में दिन भर खूब चर्चा रही। भाजपा का आरोप था कि दिल्ली पंजाब पुलिस ने तजिंदर पाल सिंह बग्गा को अवैध रूप से गिरफ्तार किया गया है।

बग्गा को 5 बार नोटिस भेजा गया: एएसपी

मोहाली के एएसपी मनप्रीत सिंह का कहना है की बग्गा के खिलाफ 1 अप्रैल को आईटी एक्ट सहित विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया था। उसी के तहत उसकी गिरफ्तारी की गई है। गिरफ्तारी से पहले पूरे मामले की वीडियोग्राफी करवाई गई। कोई भी नियम ताक पर नहीं रखा गया है। मनप्रीत सिंह ने बताया कि बग्गा को 5 बार नोटिस भेजा गया था। उन्होंने किसी भी नोटिस का जवाब नहीं दिया। उन्होंने बग्गा की गिरफ्तारी वैध तरीके से की है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here