जापान ने उत्तर कोरिया के बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण पर क्यों जताया विरोध ?

टोक्यो। जापान के प्रधानमंत्री योशिहदे सुगा ने गुरुवार को पुष्टि की कि उत्तर कोरिया ने जापान की समुद्र की ओर दो बैलिस्टिक मिसाइल दागे, जिस पर जापान ने विरोध जताया है। सुगा ने कहा, “इस परीक्षण से हमारे देश और क्षेत्र की शांति तथा सुरक्षा के लिए खतरा उत्पन्न हो रहा हैं। यह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का उल्लंघन है। जापान इसकी कड़े शब्दों में निंदा करता है। (Ballistic Missile Test)

इससे पहले जापानी मीडिया ने गुरुवार को जानकारी दी कि उत्तर कोरिया ने एक बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है, जो जापान के अनन्य आर्थिक क्षेत्र के बाहर गिरा। उत्तर कोरिया द्वारा मिसाइल का परीक्षण की पुष्टि दक्षिण कोरिया की सेना ने भी की। बाद में सीएनएन न्यूज चैनल ने अमेरिका के एक उच्चाधिकारी के हवाले से अपनी रिपोर्ट में बताया कि उत्तर कोरिया ने दो मिसाइलों का परीक्षण किया है। उल्लेखनीय है कि 29 मार्च 2020 के बाद उत्तर कोरिया ने पहली बार बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है। (Ballistic Missile Test)

जापान ने बुलाई राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक | Ballistic Missile Test

जापान ने उत्तर कोरिया द्वारा बैलिस्टिक मिसाइस का परीक्षण किये जाने के बाद राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की विशेष बैठक बुलायी है। यह जानकारी क्योडो न्यूज एजेंसी ने गुरुवार को अपनी रिपोर्ट में दी। इससे पहले जापानी मीडिया ने गुरुवार को जानकारी दी कि उत्तर कोरिया ने एक बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है, जो जापान के अनन्य आर्थिक क्षेत्र के बाहर गिरा। वहीं सीएनएन न्यूज चैनल ने अमेरिका के उच्चाधिकारियों के हवाले से अपनी रिपोर्ट में बताया कि उत्तर कोरिया ने दो मिसाइलों का परीक्षण किया है। (Ballistic Missile Test)