पानी की कीमत बताएगी सक्षम युवाओं की टीम

Pure-drinking-water

विभाग ने की 300 सक्षम युवाओं की डिमांड

सरसा (सच कहूँ न्यूज)। जन स्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग की ओर से पानी के बिल आनलाइन भरवाने के लिए मुहिम शुरू की जाएगी। आनलाइन बिल भरने के लिए सक्षम युवाओं की टीम उपभोक्ताओं को जागरूक करने का कार्य करेगी। इसके लिए जन स्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग द्वारा 300 सक्षम युवाओं की डिमांड की गई है। सक्षम युवाओं की टीम गठित होगी। जो घर घर जाकर लोगों को व्यर्थ पानी की बर्बादी नहीं करने व बिल भरने के लिए जागरूक करेगी। गौरतलब है कि जिले में 1 लाख 87 हजार ग्रामीण उपभोक्ता है। जिनके पास जन स्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग द्वारा एसएमएस से बिल भेजा जा रहा है। जिससे उपभोक्ता विभाग के पोर्टल पर सीधे तौर पर बिल अदा कर सके।

करीब 15 करोड़ रुपये बकाया

जन स्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग द्वारा पानी का बिल मोबाइल पर एसएमएस से भेजा जा रहा है। इससे पहले ग्रामीण क्षेत्र के उपभोक्ताओं को छह माह में बिल दिया जाता था। जिसे उपभोक्ताओं के घरों पर सीधे तौर पर ही भेजा जाता था। इससे कई उपभोक्ता बिल नहीं मिलने के बारे में शिकायत भी करते थे। विभाग द्वारा उपभोक्ताओं के पास करीब 15 करोड़ बकाया पड़ा हुआ है। जो लंबे समय से बकाया चल रहा है।

पानी की बर्बादी करने वालों को होगा जुर्माना

गर्मी के मौसम में पानी की समस्या चल रही है। पानी नहीं मिलने से उपभोक्ताओं को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है। जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा व्यर्थ पानी बहाने पर जुर्माना किया जाएगा। कहीं पर भी वाहन धोने व व्यर्थ पानी बहाने पर 500 रुपये जुर्माना किया जाएगा। विभाग के अधिकारी चालान के साथ उसी समय जुर्माना राशि वसूल करेंगे। इसी के साथ पेयजल कनेक्शन वैध नहीं कराने वालों पर नकेल कसी जाएगी। विभाग द्वारा अवैध घरेलू कनेक्शन मिलने पर 1000 रुपये व व्यवसायिक अवैध कनेक्शन मिलने पर 2000 रुपये जुर्माना किया जाएगा।

अस्वच्छ कनेक्शन मिलने पर भी होगा जुर्माना

जनस्वास्थ्य विभाग अस्वच्छ कनेक्शन मिलने पर जुर्माना किया जाएगा। अस्वच्छ कनेक्शन मिलने पर 1000 रुपये जुर्माना किया जाएगा। पेयजल सप्लाई लाइन से घर तक कनेक्शन ले जाने के लिए कई व्यक्ति गंदगी में से भी पाइप गुजर देते हैं। वहीं पेयजल कनेक्शन के पास जलभराव रहता है। इससे पानी जब भी सप्लाई बंद होती है। दूषित पानी पेयजल सप्लाई लाइन में चला जाता है। इससे जब सप्लाई छोड़ी जाती है। जिससे घरों में दूषित पानी सप्लाई हो जाता है। इस दूषित पानी से बीमारी फैलने का डर बना रहता है। जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा अस्वच्छ कनेक्शन को तुरंत प्रभाव से काटा जाएगा।

‘‘जन स्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग के कार्यकारी अभियंता भानू शर्मा ने बताया कि पानी के बिल भरने के लिए उपभोक्ताओं को जागरूक किया जाएगा। इसी के साथ पानी की बर्बादी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here