बच्चों के लिए खतरनाक है बड़े व डरावने दिखने वाले खिलौने

0
765
Scary-Toys

घरों में आम तौर पर हर एक बच्चें को टाइम पास के लिए उसके मां-बाप खिलौने लाकर दे देते है। आमतौर पर बच्चें इन खिलौनों से कुछ खुश होते है और अपना अधिकतर समय इनसे खेलने में व्यतीत करते है। (Scary Toys) लेकिन क्या आप जानते है ये बच्चे के साथी कहलाने वाले ये खिलौने बच्चे के साथ होने के साथ-साथ उनके दुश्मन भी साबित हो सकते है। इसलिए हम आपको आज बताने जा रहे है कि कौन से ऐसे खिलौने है जो बच्चों के लिए हानिकारक साबित भी हो सकते है जिनसे आप अपने बच्चों को दूर रखें।

1. टॉकिंग बेबी वॉकर

टॉकिंग बेबी वॉकर, यह आकार में काफी बड़े होते हैं। कुछ बेबी वॉकर तो बच्चों से भी बड़े होते हैं। इस पर बैठ कर बच्चे यहां से वहां चल सकते हैं। दरअसल इसमें एक स्पीकर लगा होता है जो तरह-तरह की आवाज निकालता है। दरअसल अचानक निकलने वाली यह आवाज बच्चों को डरा देती है। टॉकिंग बेबी वॉकर, यह आकार में काफी बड़े होते हैं। कुछ बेबी वॉकर तो बच्चों से भी बड़े होते हैं। इस पर बैठकर बच्चे यहां से वहां चल सकते हैं। दरअसल इसमें एक स्पीकर लगा होता है जो तरह-तरह की आवाज निकालता है। दरअसल अचानक निकलने वाली यह आवाज बच्चों को डरा देती है।

2. स्लाइम

यह प्लास्टिक के क्रिस्टल और रबर से बना हुआ एक ऐसा खिलौना होता है, जो अलग-अलग आकार बदलता है। इससे भी बच्चे काफी डर जाते हैं। 5 साल से कम उम्र के बच्चों को स्लाइम कभी नहीं देना चाहिए। यह प्लास्टिक के क्रिस्टल और रबर से बना हुआ एक ऐसा खिलौना होता है, जो अलग-अलग आकार बदलता है। इससे भी बच्चे काफी डर जाते हैं। 5 साल से कम उम्र के बच्चों को स्लाइम कभी नहीं देना चाहिए।

3. आंट फार्म

आंट फार्म एक ऐसा खिलौना है जो बच्चों को डिप्रेस कर सकता है। दरअसल यह शीशे से बना एक बॉक्स होता है, जिसके अंदर मिट्टी और शुगर क्रिस्टल डालकर चीटियों को रख दिया जाता है। छोटे बच्चों को चीटियां काफी भयानक लगती हैं, इसलिए बच्चों को ऐसे खिलौने देने से बचना चाहिए।
आंट फार्म एक ऐसा खिलौना है जो बच्चों को डिप्रेस कर सकता है। दरअसल यह शीशे से बना एक बॉक्स होता है, जिसके अंदर मिट्टी और शुगर क्रिस्टल डालकर चीटियों को रख दिया जाता है। छोटे बच्चों को चीटियां काफी भयानक लगती हैं, इसलिए बच्चों को ऐसे खिलौने देने से बचना चाहिए।

4. टॉकिंग पज्लर

यह एक ऐसा खिलौना होता है, जिसमें बच्चे पजल सॉल्व करते हैं। पजल काफी मुश्किल होता है जो बच्चे कई बार गलत करते हैं। जितने बार पजल गलत होता है, उतने बार टॉकिंग पज्लर से काफी लाउड आवाज निकलती है। इसके चलते बच्चे भी काफी लाउड बात करने लगते हैं। यह एक ऐसा खिलौना होता है, जिसमें बच्चे पजल सॉल्व करते हैं। पजल काफी मुश्किल होता है जो बच्चे कई बार गलत करते हैं। जितने बार पजल गलत होता है, उतने बार टॉकिंग पज्लर से काफी लाउड आवाज निकलती है। इसके चलते बच्चे भी काफी लाउड बात करने लगते हैं।

5. प्ले-डोह

प्ले-डोह खिलौनों का एक सेट होता है, इसमें सैंड यानी मिट्टी जैसा एक मैटेरियल होता है, जिसे किसी भी
आकार में ढाला जा सकता है। इसमें बच्चों के सामने एक टास्क होता है कि कुछ बनाकर उसे सेफ रखना। टास्क आसानी से पूरा नहीं होता जिससे बच्चे काफी डी-मोटिवेट हो जाते हैं।
प्ले-डोह खिलौनों का एक सेट होता है, इसमें सैंड यानी मिट्टी जैसा एक मैटेरियल होता है, जिसे किसी भी आकार में ढाला जा सकता है। इसमें बच्चों के सामने एक टास्क होता है कि कुछ बनाकर उसे सेफ रखना। टास्क आसानी से पूरा नहीं होता जिससे बच्चे काफी डी-मोटिवेट हो जाते हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।