हमसे जुड़े

Follow us

Epaper

34 C
Chandigarh
More
    Home फीचर्स

    फीचर्स

    Children

    बच्चों को सिखाएं हार को भी स्वीकारना

    बच्चों का मन कोमल और भावुक होता है। उन्हें समझने की जरूरत है और माता पिता से बेहतर उन्हें कौन समझ सकता है। अपनी आकांक्षाओं को उन पर लादने के बजाय उनका मन टटोलें। लगातार मिलने वाली हार से परेशान बच्चा कई बार निरूत्साहित होकर प्रयास करना ही छोड़ देता है...
    Fruit-of-Honesty

    प्रेरक प्रसंग: ईमानदारी का फल

    बहुत पहले की बात है एक राजा सुबह सुबह सैर करने के लिये महल से अकेला ही निकला। रास्ते में उसने देखा, एक किसान पसीने में तर-ब-तर अपने खेत में काम कर रहा है। राजा ने उसके पास जाकर पूछा, 'भाई आप इतनी मेहनत करते हो, दिन में कितना कमा लेते हो ?' किसान ने उ...
    Children Story

    माता-पिता की सीख का असर

    सैंकड़ों साल पुरानी बात है। एथेंस (यूनान) के विश्वविख्यात तत्ववेत्ता जिस पाठशाला में पढ़ाते थे उसी में एक अत्यंत दरिद्र बालक किलेंथिस भी विद्या अध्ययन करता था। उसके कपड़े फटे-पुराने रहते, तथापि पढ़ाई के बदले दी जाने वाली दैनिक फीस वह नियमित चुकाता था। वह...
    kids'-Corner

    बच्चे को सिखाएं शेयर करना

    कुछ बच्चों में देने की आदत जन्मजात होती है। उन्हें इसे सिखाना नंहीं पड़ता, लेकिन कुछ बेहद खुदगर्ज प्रवृत्ति लिए पैदा होते हैं। वे अपनी चीज किसी के द्वारा छू भर देने से हंगामा मचा देते हैं। जमीन में पसर जाते हैं। गला फाड़कर चिल्लाने, हाथ-पैर पटकने लगते ...
    Self Respect of Country

    India is my country: भारत देश मेरा…

    मेरी भारत माता मानवता की महान भूमि है पहली बार सभ्यता को अपनी उपस्थिति मिली
    Old-Game

    इन रौचक खेलों को भूले आज के बच्चे

    नमस्कार दोस्तों, आज के आधुनिक युग में समय जैसे-जैसे आगे बढ़ता जा रहा है वैसे-वैसे हमारे देश के भविष्य कहलाने वाले बच्चे अपने आपको केवल मोबाइल फोन तक ही सीमित रखते जा रहे है, यहां तक कि बहुत से बच्चों को उनके माता-पिता द्वारा खेले जाने वाले पुरातन खेलो...
    Golconda-Fort

    रहस्यों से भरा गोलकोंडा किला

    वे इतनी जटिल रूप से डिजाइन किए गए थे कि ठंडी हवा किले के अंदरूनी हिस्सों तक पहुंच सकती थी
    Bulleh Shah Poetry

    कुत्ते जिहा ना कोई वफ़ादार

    सुत्ता उठ के कोई नहीं ख़ुश हुंदा बुल्लेया ते बड़े सुत्ते जगा के वेखिया ए कुत्ते जिहा कोई नहीं वफ़ादार डिट्ठा ते टुक्कर सुक्खा वी पा के वेखिआ ए तोता जदों वी छड्डिए उड्ड जांदा कईआं चूरिआं पा के वेखिआ ए डंग मारनों कदे वी सप्प नहीं हटदा कईआं दूध पिआ ...
    India

    अलग-अलग देशों में अभिवादन की अनोखी परंपरा

    सच कहूँ डेस्क। अपने प्रियजनों या दोस्तों से मुलाकात होने पर, अजनबियों से मिलने पर, किसी व्यापारिक या व्यावसायिक समारोहों के दौरान लोग अक्सर एक दूसरे से हाथ मिलाकर (हैंडशेकिंग) अभिवादन करते हैं। यह स्वाभाविक रूप से पश्चिमी देशों की प्रथा रही है, और वि...
    Make Kids Smart

    बच्चों को बनाएं समझदार और मिलनसार

    ब च्चे अपने माता-पिता को देखकर ही सब कुछ सीखते है जैसे चलना-बैठना, बोलना, खाना-पीना इत्यादि। बच्चों के लिए उनके माता-पिता हमेशा उनके उदहारण होते हैं, कभी-कभी मुसीबत पड़ने पर वो उनके द्वारा बताए गए मार्गदर्शन का पालन भी करते हैं, और बच्चों को छोटी उम्र...
    Identify Yourself

    खुद की पहचान करो

    एक बार की बात है, किसी गाँव के पास बहती नदी के किनारे बुद्ध बैठे थे। किनारे पर पत्थरों की भरमार थी, पर छोटी सी वह नदी अपनी तरल धारा के कारण आगे बढ़ती ही जा रही थी। बुद्ध ने विचार किया कि यह छोटी-सी नदी अपनी तरलता के कारण कितनों की प्यास बुझाती है, लेक...

    लालच का नतीजा

    शेरसिंह एक कंपनी में काम करता था। आज वह उस कंपनी से रिटायर होने जा रहा था। उस कंपनी से रिटायर होने के उपलक्ष में कंपनी के आफिस में तैयारियां चल रही थीं। आफिस को खूब सुंदर से सजाया गया था। आफिस के कर्मचारी शेरसिंह को उपहार देने के लिए एक से बढ़कर एक ची...
    Mother is the Real God

    माँ ही है इस संसार में साक्षात परमात्मा

    लड़का एक जूते की दुकान पर आता है, गांव का रहने वाला लग रहा था बोलने के लेहजे से लेकिन बोली में ठहराव था उसके। दुकानदार की पहली नजर उसके पैर पर जाती है। उसके पैरों में लेदर के शूज थे, सही से पॉलिश किए हुए।दुकानदार —क्या सेवा करूं? लड़का — मेरी मां के लि...
    Regret Story, School Fees

    पछतावे का पुरस्कार

    कक्षा में उत्साह और डर का माहौल था। गणित के अध्यापक को परीक्षा लेनी थी। अध्यापक ने सवालों के सही हल करने वाले को पुरस्कार की घोषणा कर दी थी। सवाल थोड़े कठिन थे। इसलिए पुरस्कार को लेकर तो विद्यार्थियों में उत्साह था, लेकिन सवाल हल नहीं हो पाने के कारण ...
    Smartphone vs Kids

    सावधान! ‘स्मार्टफोन’आपके बच्चों का बन रहा है दुश्मन, जानें, पूज्य गुरु जी ने क्या किए हैं वचन

    विडियो गेम के चक्रव्यू में फंसे आपके लाडले सरसा (सच कहूँ डेस्क)। छोटे बच्चों के हाथों में स्मार्टफोन थमाना इन दिनों आम बात हो गई है। बच्चों की जरा-सी शैतानी और रोने पर अभिभावक उनके हाथ में मोबाइल थमा देते हैं। गेम लगाकर या फिर यूट्यूब पर वीडियो चलाक...
    Cunning Fox

    चालाक लोमड़ी की चालाक हरकतें

    किसी जंगल में एक शेर तथा एक रीछ रहते थे। उन दोनों में गहरी मित्रता थी। वह साथ उठते साथ बैठते, हंसते, साथ सोते, यहां तक कि वह दोनों एक ही गुफा में एक साथ रहते थे। दोनों में बहुत प्रेम था जंगल के सारे जानवर उनकी मित्रता को देख कर जलते थे। जब कभी शेर ब...
    Father-Love

    लघु कंथा : पिता का प्रेम

    रमा जी के घर निर्माण कार्य चल रहा था। भोजन करने के वक्त श्यामू सबसे अलग-थलग बैठा था। क्या बात है श्यामू, आज तूं खाना लेकर नहीं आया? रमा जी ने पूछा। नहीं मालकिन, मेरी घरवाली बीमार चल रही है, इसीलिए मेरी बेटी ही कुछ दिनों से घर का काम देख रही है। रात म...
    Akbar-and-Birbal

    सोने का खेत : अकबर और बीरबल की कहानी

    अकबर के महल में कई कीमती सजावट की वस्तुएं थीं, लेकिन एक गुलदस्ते से अकबर को खास लगाव था। इस गुलदस्ते को अकबर हमेशा अपनी पलंग के पास रखवाते थे। एक दिन अचानक महाराज अकबर का कमरा साफ करते हुए उनके सेवक से वह गुलदस्ता टूट गया। सेवक ने घबराकर उस गुलदस्ते ...

    कविता : राष्ट्र जीवंत

    राष्ट्र जीवंत रहे दिल में अरमान है सब सुरक्षित रहें दिल में अरमान है देश ही के लिए हों सब अच्छे कर्म यह हर एक देशवासी की पहचान है। तुम ग़रीबी मिटाओगे यह वादा करो मुफ़लिसी को हराओगे वादा करो एकता तुम दिखाओगे यह वादा करो हर बुराई तुम मिटाओगे यह ...
    Son-of-Farmer

    कविता : किसान का बेटा हूँ…

    किसान का बेटा हूँ , खेतों में किस्मत बोता हूँ। खून पसीने से सींचता हूँ, कुदरत की मार भी सहता हूँ । किसान का बेटा हूँ... खेतों में अपनी किस्मत खोते देखा हूँ। कभी सुखाड़ में तो कभी बाढ़ में, पिता के आँखों मे आँसू देखा हूँ। किसान का बेटा हूँ... अ...
    Stories for Kids

    तारों की छांव में

    एक गांव में डोरा नामक लड़की और ब्रूटस नामक बंदर में गहरी दोस्ती थी। दोनों एक होटल में काम करते थे। दोनों दुनिया में अकेले थे। डोरा होटल में वेटर का काम करती और ब्रूटस ग्राहकों को हंसाने का काम करता था। एक रात वे होटल में देर रात तक काम कर रहे थे कि डो...

    वो जलाकर बस्ती…

    वो जलाकर बस्ती आशियानें की बात करते हैं, मिटाकर हाथों की लकीरें मुक्कदर की बात करते हैं। नादान थे हम चालाकियाँ समझ ही ना पाए, अपना बनाकर हमें वो गैरों की बात करते हैं। छुपाते रहें उम्र भर जिनकी गलतियों को हम, वो महफ़िल में मेरी कमियों की बात...
    Truth of Diamond

    काम की कीमत

    यह कहानी एक राजा की है, जिनका नाम था राणा उदय सिंह। राजा अपनी प्रजा से बहुत प्यार करते थे और वह उनका ख्याल भी रखते थे। वह अपने गांव के लोगों के बारे में जानने के लिए हमेशा उत्सुक रहते थे। एक दिन राजा अपने कुछ दरबारियों को बुलाकर उनसे कहते हैं ‘जाओ और...
    Best-Toys

    9 महीने के बच्चों के लिए बेहतरीन खिलौने

    लेख के इस भाग में हमने कुछ बेहतरीन खिलौनों के बारे में बताया है। अगर आपको इनमें से कोई भी खिलौना पसंद आता है, तो आप नीचे दिए गए बाय नाउ बटन पर क्लिक करके उसे खरीद सकते हैं। आइए जानते हैं 9 महीने के बच्चों के लिए भारत में उपलब्ध सबसे अच्छे खिलौने कौन ...

    हुआ उजाला

    अंधकार की काली चादर, धरती पर से सरकी। हुआ उजाला जग में कोई, बात नहीं है डर की। चींची चींचीं चिड़िया बोली, डाली पर कीकर की। कामकाज बस शुरू हो गया, सबने खटर-पटर की। लाया है अख़बार ख़बर सब, बाहर की, भीतर की। घंटी बजी, दूध मिलने में, दे...