पेड़ से टकराई बस, एक की मौत, दर्जन भर घायल

0
598
Road-Accident

 ड्राइवर फरार, रोषित लोगों की पिटाई से कंडक्टर की बाजू टूटी

(Bus Accident)

अबोहर (सुधीर अरोड़ा)। श्री अमृतसर साहिब से अबोहर आ रही राज. ट्रांसपोर्ट कंपनी की बस अबोहर से कुछ दूरी पर स्थित गांव कुंडल- गोबिंदगढ़ के बीच पेड़ से टकराने से हादसाग्रस्त हो गई। जिसमें एक युवक की मौत हो गई जबकि दर्जन भर सवारियां घायल हो गई। हादसे में जैसे ही बस पेड़ से टकराई उसके पीछे आ रही एक स्कार्पियो गाड़ी भी जा टकराई जिसका चालक भी घायल हो गया।

जानकारी के अनुसार बस श्री अमृतसर साहिब से सुबह पांच बजे चली थी जोकि 11 बजे के बाद हादसा हो गया। बस की टक्कर के बाद जबरदस्त धमाके जैसी आवाज सुनाई दी ओर बस पेड़ से टकराई देखी तो बस की तरफ दौड़े लोगों ने सवारियों को बस से बाहर निकाला। हादसे में एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई जबकि बस में सवार करीब दो दर्जन सवारियों में से अधिकतर घायल हो गई इसमें बस के आगे बैठी सवाारियां को ज्यादा गंभीर चोटें लगी जबकि पीछे बैठी सवारियां को मामूली चोटें आई।

ड्राईवर ने लगा दी छलांग

हादसे का पता चलने पर डीएसपी ग्रामीण अवतार सिंह व सदर थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे। मृतक यूवक श्रीमुक्तसर साहिब के गांव मोहला निवासी हरमन ड्राइवर की पिछली सीट पर बैठा था व बस हादसे से कुछ समय पहले ही बस में सवार हुआ था। बस ड्राइवर ने छलांग लगाकर अपनी जान बचाई व वहां से गायब हो गया। जबकि कंडक्टर हरवंत सिंह को वहां जमा भीड़ ने पकड़ लिया व उसकी जमकर पिटाई की जिससे उसकी एक बाजू टूट गई। उसे बाद में यहां के सरकाारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया।

गंभीर घायल जीरा रेफर

बस हादसे में गंभीर रूप से घायल हुई महिला 54 वर्षीय जसविंदर कौर पत्नी तलविंदर सिंह निवासी रत्ता टिब्बा, 60 वर्षीय सतीश कुमार पुत्र कर्म चंद निवासी गांव मोहला, 45 वर्षीय कर्मजीत पत्नी टेक निवासी चक्कजंड सिंह वाला व कंडक्टर 38 वर्षीय हरवंत सिंह पुत्र जसबीर सिंह निवासी श्री अमृतसर के गांव चाटपिंडी व 58 वर्षीय जसविंदर कौर पत्नी मलकीत सिंह निवासी जीरा को रेफर कर दिया। इसके अलावा भी एक दो घायलों के परिवारिक सदस्य अपनी मर्जी से उन्हें निजी अस्पतालों में ले गए। इसके अलावा हरजौत कौर पुत्री भूपिंदर निवासी बलोचपुरा, मीन्नू पत्नी गुरप्रीत निवसी अमृतसर, अंग्रेज सिंह पुत्र मक्खन सिंह निवासी ढाबा, अमनदीप कौर पत्नी अंग्रेज सिंह निवासी ढाबा, परमजीत सिंह पुत्र दर्शन सिंह चक वाला भी घायल हो गए। जिन्हें यहां के सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

एंबूलेंस देरी से पहुंचने से तड़पते रहे घायल

उधर कुछ लोगों का आरोप है कि एंबूलेंस देरी से पहुंचने के कारण हादसे का शिकाार लोग काफी देर तक तड़पते रहे व बाद में उन्हें निजी वाहनों से अस्पताल पहुंचाया गया। अनूपगढ़ निवासी सुनील कुमार ने बताया कि वह अपनी भाभी मनजीत कौर व भाई अनिल कुमार के साथ बस में सवार था जिससे उसके भाभी के काफी चोटें लगी लेकिन काफी देर तक एंबूलेंस नहीं आई तो वह किसी प्राइवेट वाहन पर अपनी भाभी को वहां के किसी निजी अस्पताल में लेकर गए।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।