काबुल बलास्ट में बिछड़ा था बच्चा, दो हफ्ते बाद अपने माता-पिता से मिला

0
230
Kabul Blast

काबुल (एजेंसी)। अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार बन चुकी है। तालिबान के कहर से वहां की जनता परेशान है। वहां पर हालात इतने बदतर हो चुके हैं कि लोग अब खुलकर सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं। तालिबान के कहर से कितने ही घर बेघर हो गए हैं और कितनी ही जान चली गई है। इस बीच काबुल से एक ऐसी खबर निकल कर आई है जिसमें तीन साल का बच्चा आज दो हफ्ते बाद अपने परिवार वालों से मिला।

कतर के विदेश मंत्रालय के अनुसार, काबुल एयरपोर्ट पर एक 17 साल के बच्चे ने हिम्मत नहीं दिखाई होती तो यह बच्चा वहां से कभी नहीं निकल पाता। धमाको के बाद जब उसने बच्चे की ओर देखा तो वह अफरा-तफरी में घबराया हुआ था, उसने तुरंत फैसला लिया और बच्चे को वहां से निकाल लिया, जिसकी बदौलत आज यह बच्चो अपने माता-पिता से मिल पाया है।

पाकिस्तान ने तालिबान और हक्कानी नेटवर्क को पनाह दी, अफगानिस्तान में उसके हित हैं: ब्लिंकेन

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन ने कहा है कि पाकिस्तान ने तालिबान और हक्कानी नेटवर्क के आतंकवादियों को पनाह दी है तथा अफगानिस्तान में उसके अनेक हित हैैं जिनमें से कईं ऐसे हैं जहां अमेरिका का उसके साथ टकराव भी है। ब्लिंकेन ने अफगानिस्तान मामले में कांग्रेस के एक सदस्य बिल किटिंग के ‘अफगानिस्तान के मामलों में दशकों से पाकिस्तान की सक्रिय और नकारात्मक भूमिका , इंटर सर्विसेज इंटेलीजेंस एजेंसी का तालिबान के साथ घनिष्ठ संबंध विषय पर जवाब देते हुए कहा कि इस मामले में पाकिस्तान की जो भूमिका रही है उसकी तरफ सांसद ने बहुत सही इशारा किया है।

उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान के भविष्य को लेकर हमेशा पाकिस्तान की भूमिका दावं लगाने की रही है और इनमें से एक यह है कि उसने तालिबान और हक्कानी नेटवर्क के आतंकवादियों को पनाह दी है और कई बार उसने आतंकवादी विरोधी मामलों में हमारा साथ भी दिया है। उन्होंने कहा ‘लेकिन कईं ऐसे मामले भी हैं जहां अफगानिस्तान को लेकर पाकिस्तान के अपने अनेक हित हैं और उनमें से कईं हितों का हमारे साथ टकराव भी है और यह स्पष्ट दिखाई देता है।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।