बच्चों की काल्पनिक दुनिया है, खिलौने

0
198
Children s Toys

बच्चे के जीवन में खेल का समय अत्यंत ही आनंद उठाने वाला होता है। खेल के क्रियाकलापों में खिलौने बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और ये खिलौने सिर्फ नाममात्र के लिए खेल की वस्तुएँ नहीं होतीं। बल्कि वे बच्चे के जीवन के कार्यों की पूर्ति करते हैं। विभिन्न उद्देश्यों के लिए बड़ी संख्या में भिन्न-भिन्न प्रकार के खिलौने उपलब्ध होते हैं। ये खिलौने बच्चे के अपने छोटे से संसार का सृजन करने में सहायता देते हैं, जो विविध प्रकार के व्यक्तियों, व्यवसायों और क्रियाकलापों में बाहर की बड़ी दुनिया को प्रतिबिंबित करते हैं, जिसमें प्रौढ़ व्यक्ति अपने दैनिक जीवन में व्यस्त लगे रहते हैं। इसलिए, बच्चों के विकास के लिए सही किस्म के खिलौने का चयन बहुत महत्वपूर्ण होता है। सच कहूँ के इस अंक में आज अभिभावकों को हम बताएंगे की अपने बच्चों को कौन से खिलौने दे। जो उनके मनोरंजन के साथ उनके बौद्धिक विकास में भी सहायक होंगे।

toys

खिलौनों से खेलने पर बच्चों की बुद्धि कुशाग्र होती है

बच्चा अपने आसपास के लोगों, खिलौनों, घर और प्रकृति की हर चीज को निहारता है और उस से खेलता है। बच्चे के शारीरिक और बौद्धिक विकास के बारे में थोड़ी-सी भी जानकारी और समझ से माता-पिता बच्चे को सही उम्र में सही खिलौने व उचित वातावरण दे कर उस के विकास को सही दिशा प्रदान कर सकते हैं। पहले बच्चे घर में रुई, कपड़े और मिट्टी के खिलौनों से खेलते थे, पर आज इलेक्ट्रोनिक खिलौनों का युग है। बाजार में महंगे से महंगे खिलौने उपलब्ध हैं, लेकिन खिलौनों के महत्त्व एवं उपयोगिता को उन की कीमत से नहीं आंका जा सकता। खिलौनों से खेलकर बच्चे की बुद्धि कुशाग्र होती है, कल्पनाशक्ति बढ़ती है, शरीर तंदुरुस्त होता है, जिस से उस की योग्यता बढ़ती है। अच्छे खिलौने बच्चों की कार्यक्षमता, कार्यकुशलता और रचनात्मकता को बढ़ाते हैं।

लाइटिंग वाले खिलौने बच्चों को करते हैं अपनी और आकर्षित

आपके बच्चे को अगर खिलौने में गाड़ी मोटर ज्यादा पसंद है। इस खिलौने को आप उसके लिए खरीद सकते हैं। यह प्लास्टिक से बना हुआ जम्बो जेसीबी भी है। इसके ट्रंकि डिजाइन और मोटे ग्रिप वाले टायर बच्चों को खूब लुभाता है। दूसरा प्लास्टिक से बना हुआ एरोप्लेन है। इसमें लगा हुआ कलरफुल एलइडी लाइट बच्चों को खूब लुभाता है। इस प्लेन में रियलिस्टिक इंजन साउंड मिलता है, जिससे बच्चों को इसे चलाने में मजा आता है। यह बैटरी आॅपरेटेड खिलौना है। तीसरा प्लास्टिक से बने हुए ड्रैगनफ्लाई हेलीकॉप्टर हैं। इसमें आपको 14 पीस कलरफुल हेलीकॉप्टर मिलता है। छोटे बच्चों को यह खिलौना बहुत ही लुभाता है और उनके लिए सेफ भी होता है।

ये खिलौना आपके बच्चे का इमेजिनेशन पावर बढ़ाएगा

आप अगर अपने बच्चे को ऐसा खिलौना खरीदकर देना चाहते हैं, जिससे खेलने के साथ उसका मानसिक विकास भी हो सके तो यह एजुकेशनल बिल्डिंग ब्लॉक्स अच्छा आॅप्शन है। इसमें 120 पीस कलरफुल बिल्डिंग ब्लॉक्स मिलते हैं, जिससे आपके बच्चों का इमेजिनेशन पावर बढ़ाता है और वह क्रिएटिव होते हैं।

बच्चों को जानवरों से होता है खास लगाव

बच्चों को जानवरों से बहुत लगाव होता है। अगर आपके बच्चे को भी एनिमल टॉयज पसंद आते हैं तो इस पूरे सेट को आप खरीद सकते हैं। इसमें 6 पीस प्लास्टिक के हाथी, घोड़ा, शेर, चीता, जेब्रा, जिराफ का कॉन्बो मिलता है। यह देखने में बहुत ही अच्छा है और ओरिजिनल दिखता है।

बच्चों के खेल के लिए सावधानियाँ

बच्चा शिशु हो या बच्चा, माता-पिता के लिए यह सलाह है कि वे बच्चे के ऊपर गहरी नजर रखे। अपने बच्चों को खेलता हुआ देखने के अति उत्साह में अक्सर माता-पिता कुछ अनहोने खतरों से बेखबर रहते हैं, जो खेल के दौरान घटित हो सकते हैं। अत: बच्चों के लिए खेल के समय को सुरक्षित एवं आनंददायक बनाने के लिए आवश्यक सावधानियों का बरतना अत्यंत अनिवार्य है।

  •  बच्चों को रसोईघर, स्टोव, हीटरों, बायलरों, ज्वलनशील सामग्रियों और आग लगने के संभाव्य क्षेत्रों से दूर रखें, क्योंकि इनसे आग लगने की दुर्घटनाएं घट सकती हैं।
  •  बच्चों को दम-घोंटू और धुंधले व मलिन स्थानों पर खेलने न दें, क्योंकि वहाँ दम घुटने का खतरा हो सकता है।
  •  बच्चों को बाल्टियों, पोखरों और पानी के टबों से दूर रखें, क्योंकि वहां उनके पानी में गिरकर डूबने का खतरा रहता है।
  •  बच्चों को खुली बावडियों, खुली मोरियों, भीगे फर्श, छतों से ऊपर खलने से रोकें, क्योंकि वे स्थल खतरे से खाली नहीं होते।

बच्चों को इन खिलौने से रखें दूर

बच्चों के खिलौने महंगे और पेचीदा नहीं होने चाहिए। कृपया यह याद रखें कि उन्हें दिए गए हर खिलौने को शिशु चुभाएंगे, पीटेंगे, खींचेंगे, मरोडेंगे। अत: यह सुझाव है कि ऐसे खिलौनों को बच्चों से दूर ही रखें जो उनके लिए घातक साबित हो सकते हैं, ऐसे खिलौने हैं-

  •  तेजधार, नोकदार और किरचदार
  •  इनमें सीसा होता है, सीसा आधारित पेंट्स होते है।
  •  जो छोटे मनकों या बीज, स्प्रिंगों और कोरों से भरे होते हैं, जो उंगलियों में चुभ और धारदार टुकड़ों में टूट सकते हैं।
  •  पूरी तरह से सपाट न किए गए धातु के कोने।
  •  लंबी डोरियां, रस्सियां और धागे जो प्लास्टिक के बने हों।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramlinked in , YouTube  पर फॉलो करें।