कांग्रेस ने की गन्ने के भाव बढ़ाने की मांग

Congress sachkahoon

चंडीगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। कांग्रेस ने बुधवार को गन्ने का भाव बढ़ाने को लेकर आंदोलन कर रहे किसानों की मांग को जायज करार देते हुए इसके भाव बढ़ाने की मांग की। विपक्ष के नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा और पूर्व हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैैलजा ने अलग-अलग बयान जारी कर यह मांग की। हुड्डा ने कहा कि सरकार को बिना देरी किए गन्ने के में बढ़ोतरी करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि गन्ने का सीजन खत्म होने को आ रहा है लेकिन अब तक सरकार ने गन्ने की दरों में एक भी पैसे की बढ़ोतरी नहीं की।

उन्होंने आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि मनोहर लाल सरकार के सवा आठ साल के दौरान गन्ने के भाव में हुई बढ़ोतरी न के बराबर है। उन्होंने कहा कि सरकार की इन्हीं ज्यादतियों की वजह से किसानों को बार-बार सड़कों पर उतरकर आंदोलन करना पड़ता है। कांग्रेस महासचिव कुमारी सैलजा ने कहा कि मौजूदा सीजन में गन्ने का भाव न बढ़ाकर भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार प्रदेश के किसानों के सब्र का इम्तिहान ले रही है। उन्होंने कहा कि रस निकाले जाने के बाद गन्ने की खोई शुगर मिल से 400 रुपये प्रति क्विंटल बिक रही है, जबकि किसान को गन्ने का भाव पिछले साल वाला 362 रुपये प्रति क्विंटल ही मिल रहा है।

गन्ने की लागत और किसान की मेहनत को देखते हुए गन्ने का भाव इस बार कम से कम 450 रुपये प्रति क्विंटल किया जाना चाहिए था, लेकिन दाम न बढ़ाकर गठबंधन सरकार ने किसानों को बड़ा धोखा दिया है। कुमारी सैलजा ने कहा कि इस साल मुद्रा स्फीति की दर में सात प्रतिशत तक बढ़ोतरी हुई है, इससे साफ है कि किसान को पिछले साल के मुकाबले गन्ना बेचने पर सात प्रतिशत का सीधा नुकसान होगा। पिछले साल का रेट 362 रुपये प्रति क्विंटल रुपये था, जिसमें महंगाई को देखते हुए निश्चित तौर पर बढ़ोतरी की जानी चाहिए थी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here