साईबर अपराधियों ने झज्जर एसपी को बनाया निशाना

Murder sachkahoon
  • वाट्सएप पर पुलिस अधीक्षक की फोटो और नाम का इस्तेमातल कर पुलिस को किया परेशान

  • सभी थाना और चौकीप्रभारियों से गश्त की मांगी जा रही थी लोकेशन

  • मामला संज्ञान में आने पर साईबर थाने में किया गया अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज

झज्जर(सच कहूँ न्यूज)। साईबर क्राइम के प्रति आमजन को सजग करने के लिए पुलिस समय-समय पर जागरूकता अभियान या फिर लोगों को इस फ्राड़ से बचने के लिए आगाह करती रहती है। लेकिन इस बार साईबर क्राइम को समय-समय पर अंजाम देने वाले क्रमिनल ने पुलिस के अधिकारियों का ही फोन नम्बर व फोटो का दुरूपयोग करने की योजना बना डाली है। ताजा मामला झज्जर जिले का है। यहां जिला पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम के फोटो व फोन नम्बर का वट्सअप प्रोफाईल पर नाम और फोटो लगाकर दुरूपयोग किए जाने की योजना बना डाली है। इतना हीं नहींं इसी प्रोफाईल पर जिले के सभी थाना और चौकी प्रभारियों की लोकेशन भी मांगी गई है। मामला साईबर सैल के संज्ञान में उस समय आया जब जिले के सम्बंधित अधिकारियों ने वर्दी में पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम का फोटो देखकर इस बारे में साईबर थाना इंचार्ज से जानकारी मांगी गई। मामला फ्राड़ पाए जाने पर साईबर थाने में अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

समाचारों में विज्ञापन देकर भी फ्राड का मामला आया सामने

उधर जिला पुलिस से ही जुड़ा एक अन्य मामला भी सामने आया है। इस मामले में कई जिलों के पुलिस अधीक्षकों के फोन नम्बर देकर जालसाजी करने का प्रयास किया गया। समाचार पत्रों में टॉवर लगाने सम्बंधित एक विज्ञापन दिया गया। प्रकाशित विज्ञापन में झज्जर, कुरूक्षेत्र, महेन्द्रगढ़ व रिवाड़ी के एसपी का नम्बर दिया गया है। मामला संज्ञान में उस समय आया जब इन सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों के नम्बरों पर फोन आने शुरू हुए और उनसे टॉवर लगाने सम्बंधी जानकारियां मांगी गई। इस मामले में भी झज्जर की साईबर सैल में मामला दर्ज किया गया है।

आरोपी जल्द होगी गिरफ्तार: एसपी

पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम का कहना है कि दोनों ही मामलों में पुलिस तह तक जाने का प्रयास कर रही है। उम्मीद यहीं है कि आरोपी जल्द ही पुलिस गिरफ्त में होंगे और मामलों का खुलासा भी जल्द ही हो जाएगा।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।