डेरा श्रद्धालुओं ने साकार किया मकान-दुकान का सपना

0
535
Dera devotees, Tapa sachkahoon

सच कहूँ/सुरेन्द्र मित्तल, तपा। डेरा सच्चा सौदा सरसा की साध-संगत पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां के नेतृत्व में मानवता भलाई के हित में 135 भलाई कार्य कर आए दिन नए आयाम स्थापित कर रही है। इसी कड़ी के तहत जिला बरनाला के ब्लॉक तपा/भदौड़ की साध-संगत ने गांव पक्खो कलां में पूज्य बापू मघ्घर सिंह जी की याद में परमार्थी दिवस पर केवल 3 दिनों में अलग-अलग जरूरतमंद तीन परिवारों को रहने के लिए मकान और एक जरूरतमंद को स्व-रोजगार चलाने के लिए दो दुकानों का निर्माण कर सौंपा। ब्लॉक के भलाई कार्य की गांव के पंचायत सदस्यों ने भरपूर सराहना की।

Dera devotees, Tapa sachkahoon

जानकारी देते हुए गांव के भंगीदास राजविन्द्र इन्सां, 25 मैंबर बग्गा इन्सां, 15 जगदीश इन्सां, नछत्तर इन्सां ने बताया कि वैल्डिंग मिस्त्री गुरतेज सिंह पुत्र गुरचरन सिंह की पत्नी का लम्बी बीमारी के कारण निधन हो गया था। उनकी बीमारी का इलाज करवाने के लिए गुरतेज सिंह को अपनी जमीन तक भी बेचनी पड़ी थी। अब उसके पास अपना घर का गुजारा चलाने के लिए कोई चारा नहीं बचा। पीड़ित गुरतेज सिंह ने साध-संगत को दुकान बनाने के लिए विनती की। जिस पर साध-संगत ने सहमति से ब्लॉक समिति के सहयोग से दो दुकानें बनाकर दी, ताकि वे अपने बच्चों का पालन पोषण सही ढंग से कर सके।

इसी प्रकार बिन्दर सिंह पुत्र संता सिंह अड्डा बस्ती, पाल कौर पालो पत्नी नेक सिंह बासो पत्ती पक्खो कलां गांव की ही बेटी है। इसके अलावा शिंगार सिंह पुत्र जीत सिंह सागर पत्ती वालियां की आर्थिक स्थिति दयनीय थी। जिस देखते हुए साध-संगत ने तीनों ही परिवारों को तीन दिनों में मुकम्मल मकान बनाकर दिए हैं जो डेरा सच्चा सौदा सरसा के पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां और समूह साध संगत का धन्यवाद करते नहीं थक रहे।

जिम्मेवारों का कहना है कि उन्हें यह भलाई कार्यों की शिक्षा ही पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां से मिली है। उनकी बदौलत ही आज ब्लॉक की साध-संगत बढ़-चढ़कर भलाई कार्य कर रही है। इस अवसर पर ब्लॉक भंगीदास अशोक इन्सां, 25 मैंबर बसंत राम इन्सां, महेन्द्र इन्सां, मिस्त्री गुरमेल इन्सां ढिल्लवां, सेवादार रमित इन्सां, पप्पू इन्सां, अमरदीप इन्सां, राज इन्सां बिट्टू इन्सां सहित लगभग 150 सेवादार उपस्थित थे।

Dera devotees, Tapa sachkahoon

अब तक गांव में 13 मकान बनाए

गांव पक्खों कलां की साध-संगत अब तक जरूरतमंदों की मदद के लिए कुल 13 मकान गांव में ही बनाकर दे चुकी है। जबकि हाल ही में साध-संगत ने लगातार तीन दिनों में तीन परिवारों को मकान और एक जरूरतमंद को दो दुकानें बनाकर दी हैं। इन भलाई कार्यों की गांव के अलावा क्षेत्र में भी पूरी चर्चा है और लोग डेरा सच्चा सौदा के प्रेमियों की खूब प्रशंसा कर रहे हैं। ब्लॉक में अब तक 75 जरूरतमंदों को ‘आशियाना’ मुहिम के अंतर्गत छत दी जा चुकी है और यह मुहिम आगे भी निरंतर जारी है।

प्रशंसा करने के लिए शब्द नहीं

सरपंच गुरलाभ सिंह लाडी ने साध-संगत के जज्बे को सलाम करते हुए कहा कि धन्य है डेरा सच्चा सौदा की साध-संगत, जो खुद खर्च कर गरीब बेसहारा परिवारों की मदद करते हैं। आज के कलयुगी समय में सब स्वार्थी लोग हैं, दूसरों को तो छोड़िए अपने भी मदद के लिए तैयार नहीं होते। लेकिन डेरा सच्चा सौदा की साध-संगत बिना स्वार्थ व भेदभाव के गरीबों व जरूरतमंदों की मदद कर रही है।

Dera devotees, Tapa sachkahoon

सदा पूज्य गुरु जी के ऋणी रहेंगे

पक्खों कलां निवासी तीनों परिवारों का कहना है कि आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण वे जीवन में अपने मकान के बारे में सोच भी नहीं सकते थे, लेकिन डेरा सच्चा सौदा की साध-संगत ने उनकी चिंताओं को खत्म कर दिया है। जिसके लिए वे डेरा सच्चा सौदा के पूज्य गुरु जी के सदा ऋणी रहेंगे। हम पूज्य गुरु जी व ब्लॉक की साध-संगत का तहदिल से धन्यवाद करते हैं। उन्होंने कहा कि कहा कि गुरू जी की महान शिक्षाएं समाज के लिए कल्याणकारी हैं। जिससे आपसी भाईचारे को मजबूती मिलेगी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।