प्रशासन की सख्ती के बावजूद जिले में पाबन्दीशुदा प्लास्टिक डोर का इस्तेमाल जोरों पर

प्लास्टिक डोर मानवीय जिदंगीयों व पक्षियों पर ढ़ाह रही कहर

  • प्लास्टिक डोर से जख्मी हुआ डिप्टी कमिशनर की पीए का बेटा, लगे 7 टांके

बरनाला। (सच कहूँ/जसवीर सिंह गहल) पंजाब सरकार के आदेशों पर बेशक प्लास्टिक डोर को लेकर जिला प्रशासन सख्त दिखाई दे रहा है लेकिन जमीनी स्तर पर इस सख्ती का थोड़ा सा भी असर दिखाई नहीं दे रहा। परिणाम स्वरूप इस्तेमाल कर फैंकी गई प्लास्टिक डोर हर सड़क व हर छत्त पर मिल रही है। चाईना डोर की चपेट में आने से जख्मी होने वालों की संख्या में लगातारा इजाफा होता नजर आ रहा है, इस बार कई जगहों पर बच्चे भी इस डोर के कहर का शिकार हो रहे हैं।

यह भी पढ़ें:– भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा का कार्यकाल जून 2024 तक बढ़ा

कुछ दिन पहले स्थानीय पुलिस ने शहर के एक प्रसिद्ध व्यक्ति को काबू कर उससे बड़ी मात्रा में पाबन्दीशुदा डोर बरामद की थी, जिसके खिलाफ पहले ही कुल 11 मामले दर्ज हैं। बावजूद इसके स्थानीय शहर के अलावा जिले के गांवों में पाबन्दीशुदा डोर की बिक्री जोरोंं पर है। जिसकी चपेट में मानवीय जिन्दगियों के अलावा पक्षी भी आ रहे हैं। प्रशासन के अलावा समाज सेवी संगठनों द्वारा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर प्लास्टिक डोर के खिलाफ शुरू की गई मुुहिम का असर भी लालची दुकानदारों पर रत्ती भर भी नहीं हो रहा व वह सरेआम बच्चों के हाथों में पाबन्दीशुुदा प्लास्टिक डोर के रोल पकड़ाकर एक तरीके से मौत का सामान बेच रहे हैं।

प्राप्त विवरणों मुताबक बीते कल डिप्टी कमिशनर बरनाला की पीए चंचल शर्मा का बेटा भी स्थानीय शहर के एसडी कॉलेज ओवर ब्रिज ऊपर प्लास्टिक डोर की चपेट में आकर बुरी तरह जख्मी हो गया। जिसके गाल पर 7 टांके लगे हैं। इसके अलावा तपा कसबे में भी एक और होर बच्चे के डोर से जख्मी होने की खबर है। सिविल व पुलिस प्रशासन अपने स्तर पर प्रयास कर रहे हैं परंतु कुछ स्वार्थी व्यापारियों का लालच इन प्रयासों पर भारी पड़ रहा है। जिसके परिणाम स्वरूप प्लास्टिक डोर की बिक्री जारी है। चिंतित वर्ग अनुसार पाबन्दीशुदा डोर बेचने के मामले में कानूनी लचक भी इसकी बिक्री के लिए जिम्मेवार मानी जा रही है। क्योंकि गिरफ्तारी के कुछ समय बाद ही जमानत मिल जाती है।

अब दुकानदारों के साथ-साथ प्लास्टिक डोर इस्तेमाल करने वालों पर भी होगी कार्रवाई : मलिक

जिला पुलिस प्रमुख सन्दीप कुमार मलिक ने कहा कि सरकार के आदेशों मुताबिक प्लास्टिक डोर बेचने पर पूर्ण पाबन्दी है। जिसके तहत पिछले दिनों 11-12 मामले दर्ज कर 13 जनों की गिरफ्तारी सहित बड़ी मात्रा में प्लास्टिक डोर बरामद की गई है। उन्होंने जिलावासियों से अपील की कि प्लास्टिक डोर बेचने वालों संबंधी पुलिस को सूचना दी जाए, बनती कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इसके अलावा अपने बच्चों को प्लास्टिक डोर का इस्तेमाल न करने के लिए भी प्रेरित किया जाए। उन्होंने कहाकि अब सिर्फ दुकानदारों पर नहीं बल्कि प्लास्टिक डोर इस्तेमाल करने वालों पर भी कार्रवाई होगी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here