जत्थेबंदियां हरियाणा को न बनाए रणभूमि: कृषि मंत्री

0
142
Agriculture-Minister-JP-DALAL SACHKAHOON

यूपी व पंजाब के नेता हमारे किसानों को भड़का कर रहे आगे

सच कहूँ/इन्द्रवेश, भिवानी। कृषि मंत्री जेपी दलाल ने करनाल में किसानों पर लाठीचार्ज को लेकर जत्थेबंदियों से हरियाणा को रणभूमि न बनाने की अपील की और कहा कि यूपी व पंजाब के नेता पंजाब व राजस्थान में जाकर आंदोलन करें, जहां किसानों के लिए कुछ नहीं हो रहा। साथ ही कांग्रेस को याद दिलाया कि सबसे ज्यादा किसानों को उनके राज में मारा गया था। वे मंगलवार को अपने आवास पर बोल रहे थे। यहां उन्होंने जनता दरबार लगाकर स्थानीय नेताओं के साथ लोगों की समस्याएं सुनी।

जेपी दलाल ने सबसे कहा कि ये जत्थेबंदी हरियाणा को रणभूमि न बनाएं। हरियाणा का किसान शांतिप्रिय है और सरकार की पॉलिसी से संतुष्ट है। उन्होंने कहा कि यूपी व जत्थेबंदियों को आंदोलन करना है तो पंजाब व राजस्थान जाकर करें, जहां किसानों के लिए कुछ नहीं किया जा रहा। दलाल ने कहा कि ये बाहर के किसान नेता हमारे किसानों को भड़काकर आगे कर देते हैं और खुद निकल जाते हैं, जिससे नुकसान हमारे किसानों का होता है। वहीं जेपी दलाल ने कांग्रेस द्वारा किसानों के हकों के हनन को लेकर राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग में शिकायत देने और हरियाणा को किसानों को पीटने की प्रयोगशाला बनाने के आरोपों पर कहा कि कांग्रेस अपना समय ना भूले।

हरियाणा में सबसे ज्यादा किसान कांग्रेस राज में मारे गए थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस किसानों के नाम पर राजनीति कर कही है और मोदी का विरोध कर अपनी राजनीति चमका रही है। इसके साथ ही उन्होंने करनाल में किसानों का सिर फोड़ने की बात कहने वाले एसडीएम का बचाव किया और कहा कि सीएम मनोहर लाल स्पष्ट कर चुके हैं कि एसडीएम की भाषा गलत थी, पर लाठीचार्ज 20 किलोमीटर दूर हुआ।

महीनों से सरकार के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे किसान करनाल में लाठीकांड के बाद काफी गुस्से में हैं। वहीं विपक्ष इससे सियासी रंग दे रहा है। वहीं सीएम व उनके हर मंत्री व नेता किसानों के गुस्से व विपक्ष के वारों पर पलटवार कर रहे हैं। ऐसे में अब देखना होगा कि ये आंदोलन व सरकार की रणनीति आगे क्या रंग लाती है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।