पंजाब में गैंगस्टर गैवी के पाँच साथी गिरफ्तार

0
244
Five gangster Gavi accomplices arrested

 हेरोइन और हथियार बरामद

चंडीगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। पंजाब पुलिस ने गिरफ्तार गैंगस्टर और नशा तस्कर गैवी सिंह उर्फ विजय उर्फ ज्ञानी से पूछताछ के बाद उसके पाँच साथियों आज गिरफ्तार कर इनके कब्जे से 1.25 किग्रा. हेरोईन, तीन पिस्तौल और तीन वाहन बरामद किये हैं। गिरफ्तार अपराधियों की शिनाख्त तरनतारन के अकबरापुरा गांव निवासी करनबीर सिंह, जोहला गांव निवासी हरमनजीत सिंह, बठल गांव निवासी गुरजसप्रीत सिंह, हंसलावाला गांव निवासी रविंदर इकबाल सिंह और फरोजपुर के सैमुअल उर्फ सेम के तौर पर की गई है। इन सभी के खिलाफ राज्य के अलग-अलग जिलों में कई अपराधिक मामले दर्ज हैं।

राज्य के संगठित अपराध नियंत्रण इकाई और मोहाली पुलिस ने एक संयुक्त अभियान के तहत वांछित गैंगस्टर जयपाल के करीबी सहयोगी गैवी सिंह को गत 26 अप्रैल को झारखंड के सराए किला खरसावा जिले से द्वारा एक सांझे अभ्यान के दौरान गिरफ्तार किया गया था। राज्य के पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता ने शनिवार को बताया कि गैवी से पूछताछ के बाद पुलिस ने खरड़ के अर्बन होम्ज-2 में स्थित उसके किराये के फ्लैट से 1.25 किलो हेरोइन बरामद की है। इसके इलावा उसके अलग-अलग ठिकानों से तीन पिस्तौल, 23 कारतूस और तीन मंहगे वाहन भी बरामद किये हैं जो नशा तस्करी के लिए इस्तेमाल किये जाते थे।

उन्होंने बताया सैमुअल जमशेदपुर में गैवी के साथ रह रहा था लेकिन गैवी की गिरफ्तारी से पहले दिल्ली फरार होने में सफल हो गया। सैमुअल पाकिस्तान से लाई गई हेरोइन के वितरण का काम सम्भालता था। उन्होंने कहा कि जांच के दौरान गैवी ने खुलासा किया कि उसने गत लगभग ढाई वर्षों में पाकिस्तान से हथियारों समेत 500 किलो से अधिक हेरोइन की तस्करी की है जिन्हें पंजाब, दिल्ली और जम्मू कश्मीर राज्यों में सप्लाई किया जाता था।

पुर्तगाल में रहने की योजना बना रहा था

गैवी ने बताया कि भारत-पाकिस्तान सीमा के माध्यम से सीमा पार के तस्कर भारत में हथियारों और नशे की आपूर्ति करते हैं। गैवी हवाला माध्यम या फिर नयी दिल्ली स्थित आयात/निर्यात कम्पनियों के द्वारा भारत, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में स्थित लोगों और संस्थाओं के साथ बड़ी मात्रा वित्तीय लेन-देन भी करता था जिसकी जांच की जा रही है।

गैवी ने यह भी कबूला है कि उसने एक ट्रैवल एजेंट से फर्जी दस्तावेजों के आधार पर जाली भारतीय पासपोर्ट हासिल किया था और वह पुर्तगाल में रहने की योजना बना रहा था। गैवी के बैंक खातों और सम्पत्तियों की पहचान कर ली गई है और यह जानकारी अगली कार्रवाई के लिये सम्बन्धित जांच एजेंसियों के साथ सांझी की जा चुकी है। गैवी के अन्य साथियों की भी पहचान की गई है और पंजाब पुलिस ने इस मामले में सभी की गिरफ्तारी के लिये प्रयास शुरू कर दिये हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।