गडकरी ने विशेष अनुरोध के साथ सांसदों से किया संवाद

nitin gadkari
  • सड़कों पर जीवन बचाने में शामिल होने के लिए किया आमंत्रित
  • संजीव अरोड़ा सांसद ने कार्रवाई का दिया आश्वासन

सच कहूँ/रघबीर सिंह
लुधियाना। सांसद (राज्यसभा) संजीव अरोड़ा ने केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को उनके द्वारा प्राप्त एक पत्र का जवाब देते हुए आश्वासन दिया कि वह इस पहल को आगे बढ़ाएंगे और यह सुनिश्चित करेंगे कि सड़क दुर्घटनाओं और हताहतों की संख्या कम से कम हो।

विशेष अनुरोध के साथ भेजे गए गडकरी के पत्र के शुरुआती पैराग्राफ में लिखा है, भारत में सड़क दुर्घटनाओं में हर साल 150,000 से अधिक लोग मारे जाते हैं और 450,000 से अधिक गंभीर रुप से घायल या स्थायी रुप से विकलांग हो जाते हैं। यही 15-45 की प्रोडक्टिव ऐज ग्रुप में मृत्यु का प्रमुख कारण हैं, जिससे हर साल लाखों परिवार भावनात्मक और आर्थिक रुप से कमजोर हो जाते हैं। सड़क सुरक्षा का मुद्दा संवेदनशीलता, दृढ़ता और ड्राइवरों, रोड-ओनिंग एजेंसीज, एनफोर्समेंट अधिकारियों और आसपास खड़े लोगों के व्यवहार में बदलाव लाने के लिए लक्षित प्रयासों की मांग करता है। मैंने इस मुद्दे को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है और मैं आपको जीवन बचाने में मदद करने के लिए आमंत्रित करता हूं।

सांसद संजीव अरोड़ा ने यहां यह जानकारी देते हुए कहा कि सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (एमओआरटीएच), भारत सरकार पहले से ही सभी के लिए सुरक्षित सड़कों के प्रचार के लिए सड़क सुरक्षा सप्ताह (आरएसडब्ल्यू) मना रही है। यह पहल विभिन्न आयोजनों और गतिविधियों के माध्यम से सभी स्टेकहोल्डर्स और जनता को एक साथ ला रही है। अरोड़ा ने जोर देकर कहा कि लाइफ-सेविंग स्किल्स में नागरिकों और पुलिस कर्मियों के प्रशिक्षण की आवश्यकता है, सड़क दुर्घटना पीड़ितों की मदद करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए अच्छे मददगार कानून के बारे में सार्वजनिक समारोह और असुरक्षित ड्राइविंग को रोकने के लिए पुलिस और आरटीओ द्वारा जीरो-टॉलरेंस एनफोर्समेंट अभियान की आवश्यकता है।

अरोड़ा ने इस पत्र को भेजने के लिए गडकरी को धन्यवाद दिया और आश्वासन दिया कि वह टी.ई.ए.एम. अप्रोच को लागू करके सड़कों पर जान बचाने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे। साथ ही उन्होंने आशा व्यक्त की कि इस कार्य की सफलता के लिए पंजाब के लोग भी अपना पूरा सहयोग देंगे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here