सरकारी कर्मचारियों की हो गई बल्ले-बल्ले, सरकार ने इतने फीसदी बढ़ा दिया महंगाई भत्ता

West Bengal DA Hike
West Bengal DA Hike सरकारी कर्मचारियों की हो गई बल्ले-बल्ले, सरकार ने इतने फीसदी बढ़ा दिया महंगाई भत्ता

West Bengal DA Hike: पश्चिम बंगाल के सरकारी कर्मचारियों को ममता सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है। ममता सरकार ने राज्य सरकार के कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ते में चार प्रतिशत तक की वृद्धि की घोषणा की है। ये फैसला 1 अप्रैल 2024 से ही लागू माना जाएगा। राज्य वित्त विभाग ने अधिसूचना जारी कर यह जानकारी दी।

Heart Attack Symptoms: हार्ट अटैक आने से पहले शरीर देने लगता हैं ये 8 संकेत, इग्नोर करने की बिल्कुल भी ना करें भूल

गौरतलब हैं कि पश्चिम बंगाल के राज्यपाल सी बी आनंद बोस ने फैसला दिया है कि राज्य सरकार और सरकारी कर्मचारियों, सरकार द्वारा संचालित शैक्षणिक संस्थानों के कर्मचारियों, सरकार के अधीन पंचायतों और पंचायत कर्मियों, नगर निगमों, नगर पालिकाओं, स्थानीय बोर्डों और रिटायर्ड सरकारी कर्मचारियों के पेंशन प्राप्तकर्ताओं और उनके परिवारों को यह सुविधा मिलेगी। अधिसूचना में यह भी बताया गया कि राज्यपाल ने सभी पहलुओं की जांच के बाद डीए देने के फैसले पर मुहर लगा दी है।

कोलकाता की हल्दिया और चीन के बीच सीधी पोत सेवा की शुरुआत

पश्चिम बंगाल में कोलकाता के हल्दिया बंदरगाह से चीन के पोर्ट केलांग और यांगून के बीच सीधी साप्ताहिक एक्सप्रेस पोत सेवा हाल ही में शुरू हुई है। श्यामा प्रसाद मुखर्जी पोर्ट (एसएमपी) के हल्दिया डॉक कॉम्प्लेक्स (एचडीसी) ने मंगलवार को यह जानकारी दी।
एसएमपी के चेयरमैन रथेंद्र रमन ने बताया कि अपनी तरह की यह पहली सेवा गत 06 जून को हल्दिया इंटरनेशनल कंटेनर टर्मिनल में जहाज एसआईटीसी नागोया के सफल लंगर डालने के साथ शुरू हुई। यह जहाज चीन के शंघाई से सीधे यहां पहुंचा है। वहीं अग्रणी लूप सेवा में दूसरा पोत, एसआईटीसी तियानजिन, 12 जून के आसपास चीन से एचडीसी में पहुंचने वाला है।

उन्होंने कहा कि एसएमपी के इतिहास में पहली बार, यांगून और पोर्ट केलांग से एक नियमित साप्ताहिक प्रत्यक्ष पोत सेवा हल्दिया कंटेनर टर्मिनल पर पहुंचेगी। इस साप्ताहिक सेवा के लिए पोर्ट रोटेशन, पोर्ट केलांग-हल्दिया डॉक कॉम्प्लेक्स-यांगून पोर्ट-पोर्ट केलांग/शंघाई होगा, जो मलेशिया, चीन, जापान, भारत, मलेशिया और म्यांमार में सुदूर पूर्व के बंदरगाहों के बीच एक निर्बाध संपर्क बनाएगा।

उन्होंने कहा कि यह जहाजों को जोड़ने, म्यांमार, पोर्ट केलांग और शंघाई से संपर्क बढ़ाने, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, छत्तीसगढ़, बिहार, उत्तर पूर्व, नेपाल और भूटान में तेजी से और सस्ते पारगमन के साथ जहाजरानी चालकों को लाभान्वित करके नौवहन दक्षता और लचीलेपन में उल्लेखनीय वृद्धि का प्रतीक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here