चेहरे के दाग को जड़ से करें खत्म, पढ़े, पूज्य गुरु जी के ये वचन

How to Remove Facial Spots

बरनावा। पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने मंगलवार को शाह सतनाम जी आश्रम, बरनावा, जिला बागपत (उत्तर प्रदेश) से आॅनलाइन गुरुकुल के माध्यम से रूहानी सत्संग फरमाया। इस अवसर पर पूज्य गुरु जी ने जहां भारी तादाद में लोगों की बुराइयां और नशे छुड़वाए। वहीं जिज्ञासुओं के सवालों के जवाब देकर उनकी जिज्ञासा को भी शांत किया।

सवाल : गुरु जी डिलीवरी के बाद फेस पर डार्क धब्बे हो जाते हैं, बहुत सी महिलाएं इससे परेशान हैं, कोई परमानेंट हल बताएं?
पूज्य गुरु जी का जवाब : शुद्ध एलोवेरा जैल, जिसमें कैमिकल कम हो और कोल्ड प्रोसेस वाली हो। उस जैल का चेहरे पर दिन में तीन बार लेप लगाएं। जैल 10-20 मिनट में सूख जाए और फिर तीन-चार घंटे चेहरे पर लगी रहने दें और फिर धो दें। इसके बाद चेहरे को एक घंटा खाली छोड़ दें। एक घंटे बाद फिर पोर ओपन हो जाते हैं और फिर चेहरे को धोकर जैल लगा लें। चार-पाँच घंटे जैल लगा रहने दें और फिर धो दें। इसके पश्चात एक घंटे तक चेहरे पर कुछ ना लगाएं। फिर चेहरे को धो लो, क्योंकि धोते ही पोर ओपन हो जाते हैं। एलोवेरा जैल लगाओ दिन में तीन बार। सुमिरन करते रहो। भगवान ने चाहा तो फायदा होगा।

सवाल : गुरु जी नाम लेने के बाद 99.9 पर्सेंट लोग तो तुरंत नशा छोड़ देते हैं और अगर कोई 1 पर्सेंट फिर भी ना छोड़े तो कैसे छुड़वाएं?
पूज्य गुरु जी : आप कोई भी लॉन्ग इलायची अपने पास रख लीजिए और राम का नाम जपकर नशा करने वाले को दीजिए और उससे कहिये कि जब भी तलब लगे बीड़ी या जर्दे की जगह इलायची को चबाकर थोड़ी देर मुंह में रख लो। ऐसा करने से सारे मसूड़ों में भी फायदा होगा और लत भी चली जाएगी और हाज़मा भी दुरुस्त हो जाएगा।

सवाल : गुरु जी सुबह जल्दी उठने का कोई तरीका बताएं?
पूज्य गुरु जी का जवाब : आप रात को थोड़ा जल्दी सोने की कोशिश कीजिये और टाइमपीस पर ध्यान दीजिये। मान लीजिए आप 10 बजे या 11 बजे सो रहे हैं और आप 4 बजे उठना चाहते हैं। इसके लिए आप टाइमपीस में 10 की सुई देखें और फिर 4 की, और ये सोचें कि ये जब वहां पहुंचेगी तो मैंने जागना ही जागना है और इमेज दिमाग में बैठा लीजिये तीन-चार बार उसको देख-देखकर और सोच-सोचकर, आप जरूर जाग पाएंगे।

सवाल: गुरु जी काम वासना की भावना पर काबू कैसे पाएं?
पूज्य गुरु जी का जवाब : सुमिरन कीजिये, संयम बहुत जरूरी है। पति-पत्नी का रिश्ता जायज है, इसमें कुछ भी गलत नहीं है। लेकिन हद से ज्यादा कोई भी चीज अच्छी नहीं होती। हद से ज्यादा ना धूप अच्छी है, हद से ज्यादा ना बरसात अच्छी है। तो जिंदगी में संयम अपनाना जरूरी है और वो सुमिरन के द्वारा ही संभव है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here