अब लेजर से पलक झपकते ही मरेगा कोरोना

0
374
Coronavirus

इटली के ईजाद की नई लेजर मशीन

नई दिल्ली। कोरोना की तीसरी लहर की आशंका जहां अब चिंताएं बढ़ा रही है। इसी बीच एक राहत भरी खबर भी है। वैज्ञानिक अब ऐसी तकनीक की खोज के नजदीक पहुंच चुके हैं, जिसमें लेजर की मदद से कोरोना को कुछ ही पलों में खत्म किया जा सकेगा। इटली के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि उन्होंने ऐसी मशीन बनाई है, जो चार दिवारी के भीतर मौजूद वायरस के कणों को पलक झपकते ही खत्म कर देगी।

बताया जा रहा है कि इस डिवाइस को संयुक्त राष्ट्र के वैज्ञानिकों ने इटली की टेक कंपनी के वैज्ञानिकों संग मिलकर ईजाद किया है। उत्तरी इटली के शहर ट्रिस्टे में स्थित इंटरनेशनल सेंटर फॉर जेनेटिक इंजीनियरिंग एंड बायोटेक्नोलॉजी और लेजर उपकरण बनाने वाली स्थानीय कंपनी एल्टेक के-लेजर ने मिलकर ये प्रयास गत वर्ष उस वक्त शुरू किया था जब इटली बुरी तरह से कोरोना की मार झेल रहा था। बता दें कि एल्टेक कंपनी के फाउंडर फ्रेंचेस्को जनाटा हैं, जिनकी कंपनी उपचार में प्रयोग होने वाले लेजर प्रोडक्ट का निर्माण करती है।

पल झपकते ही ऐसे खत्म होगा वायरस

मशीन में हवा को लेजर बीम से होकर गुजारा जाएगा और वह वायरस और बैक्टीरिया को खत्म कर देगी। इंटरनेशनल सेंटर फॉर जेनेटिक इंजीनियरिंग एंड बायोटेक्नोलॉजी में कार्डियोवस्कुलर बायोलॉजी ग्रुप की प्रमुख सेरेना जकिन्या का कहना है कि डिवाइस 50 मिलीसेकेंड में वायरस को खत्म कर देती है।

कैंसर जैसे रोगों के खतरे की जताई जा रही आशंका

मशीन को लेकर कई वैज्ञानिक कहते हैं कि कोरोना वायरस को मारने के लिए लेजर आधारित तकनीक सुरक्षित नहीं होगी। जर्नल आॅफ फोटोकेमिस्ट्री एंड फोटोबायोलॉजी में गत वर्ष प्रकाशित एक शोध के मुताबिक लेजर आधारित डिवाइस से कैंसर का खतरा बताया गया था।

निर्माताओं ने खतरे की आशंका को नकारा

जनाटा और जकिन्या दोनों ने ही इस तरह की रिपोर्ट को खारिज किया है। इनका मानना है कि इससे निकलने वाली लेजर कभी इंसान की त्वचा के संपर्क में नहीं आती है, इसलिए इससे कैंसर होने का भी खतरा नहीं है। उन्होंने ये भी कहा है कि ये डिवाइस पूरी तरह से सुरक्षित है। इसके अलावा ये रिसाइकिल प्रोडेक्ट है।

ये खामियां

इस तकनीक की सबसे बड़ी खामी ये बताई जा रही है कि वायरस और बैक्टीरिया हवा में ही खत्म किए जा सकते हैं। अगर वे हवा से फर्श या किसी सतह पर गिर गए तो लेजर काम नहीं करेगी। इसके अतिरिक्त यदि वायरस छींक से या किसी के ऊंचा बोलने से दूसरे तक पहुंच जाता है तो ये लेजर कोई काम नहीं करेगी।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।