जम्मू-कश्मीर और लद्दाख देश के अभिन्न अंग, अवैध कब्जा तुरंत खाली करे पाकिस्तान: भारत

0
150

न्यूयॉर्क (एजेंसी)। भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की ओर से जम्मू-कश्मीर का मुद्दा उठाये जाने पर करारा जवाब देते हुए कहा है कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख हमेशा भारत का अभिन्न एवं अविभाज्य हिस्सा थे, हैं और रहेंगे तथा पाकिस्तान यहां से अपना अवैध कब्जा तुरंत खाली करे। संयुक्त राष्ट्र मिशन में भारत की प्रथम सचिव स्नेहा दुबे ने यूएनजीए में मजबूती से भारत का पक्ष रखते हुए कहा, ‘मैं यहां एक बार फिर कहना चाहती हूं कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख हमेशा भारत का अभिन्न एवं अविभाज्य हिस्सा थे, हैं और रहेंगे। इनमें वे क्षेत्र भी शामिल हैं जिन पर पाकिस्तान ने अवैध कब्जा कर रखा है। हम पाकिस्तान से उसके अवैध कब्जे वाले सभी क्षेत्रों को तुरंत खाली करने की मांग करते हैं।’

भारत के जवाब देने के अधिकार का उपयोग करते हुए कहा उन्होंने कहा, ‘पूरी दुनिया जानती है कि पाकिस्तान एक ऐसा देश है, जो सरकारी नीति के तहत आतंकवादियों को खुले तौर पर समर्थन, प्रशिक्षण, वित्तपोषण और हथियार प्रदान करता है। उसकी जमीन पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा प्रतिबंधित आतंकवादियों की सबसे बड़ी संख्या की मौजूदगी का अपमानजनक रिकॉर्ड है।’ सुश्री दुबे ने शांति की शर्तों के बारे में कहा, ‘हम पाकिस्तान सहित अपने सभी पड़ोसियों के साथ सामान्य संबंध चाहते हैं हालांकि, एक अनुकूल माहौल बनाने की दिशा में ईमानदारी से काम करना पाकिस्तान पर निर्भर करता है। इसके तहत पाकिस्तान को भारत के खिलाफ किसी भी तरह से सीमा पार आतंकवाद के लिए उसके नियंत्रण में आने वाले किसी क्षेत्र के इस्तेमाल की अनुमति नहीं देने के लिए विश्वसनीय, सत्यापन योग्य और अपरिवर्तनीय कार्रवाई करनी होगी।’

‘फायर फाइटर के वेश में आगजनी करने वाला’ देश है पाकिस्तान : भारत

भारत ने कश्मीर मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) के समक्ष पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के अनर्गल प्रलाप का जवाब देते हुए पाकिस्तान को ‘फायर फाइटर के वेश में आगजनी करने वाला’ और एक ऐसा देश करार दिया है जो अपनी जमीन पर आतंकवादियों को सरकार की नीति के तहत संरक्षण देता है, जिससे पूरे क्षेत्र और दुनिया भर के देश पीड़ित हैं। संयुक्त राष्ट्र मिशन में भारत की प्रथम सचिव स्नेहा दुबे ने यूएनजीए में जवाब देने के अधिकार का उपयोग करते हुए कहा कि पाकिस्तान में आतंकवादियों को सत्ता का संरक्षण प्राप्त है।

पूरी दुनिया को पाकिस्तान की नीतियों की वजह से नुकसान उठाना पड़ा है, क्योंकि पाकिस्तान लगातार आतंकवादियों का पोषण करता आ रहा है। उन्होंने जोरदार हमला करते हुए दुनिया को यह भी याद दिलाया कि अल कायदा नेता ओसामा बिन लादेन को पाकिस्तान ने पनाह दी थी। सुश्री दुबे ने कहा, ‘दुनिया यह नहीं भूली है कि कई नृशंस घटनाओं के मास्टरमाइंड ओसामा बिन लादेन को पाकिस्तान में शरण मिली थी। पाकिस्तानी नेतृत्व ओसामा को अब भी शहीद के रूप में महिमामंडित करता है।’ उन्होंने कहा, ‘अफसोस की बात है कि आज भी हमने पाकिस्तान के नेता को आतंकवादी कृत्यों को सही ठहराने की कोशिश करते सुना। आतंकवाद का इस तरह बचाव किया जाना आधुनिक दुनिया में अस्वीकार्य है।’

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।