पेट्रोल फेंक लगाई आग, बेटे की मौत, पति-पत्नी भर्ती

हालत नाजुक होने पर महिला को किया बीकानेर रेफर, चिट्टा खरीद के रुपयों के विवाद की रंजिश में पेट्रोल छिड़कर लगााई आग

  • आरोपी पिता-पुत्र पुलिस की गिरफ्त में
  • पीलीबंगा के वार्ड नम्बर 9 का मामला

हनुमानगढ़/पीलीबंगा (सच कहूँ न्यूज)। पीलीबंगा के वार्ड 9 के एक घर में गुरुवार अल सुबह पिता-पुत्र ने पेट्रोल फेंक लाइटर से आग लगा दी। आग लगने से कमरे में सो रहे पति-पत्नी व पुत्र झुलस गए। तीनों को पीलीबंगा सीएचसी से हनुमानगढ़ रेफर कर दिया। हालत नाजुक होने पर मां-बेटे को हनुमानगढ़ से बीकानेर रेफर कर दिया। रास्ते में बेटे की मौत हो गई। घटना की सूचना मिलने पर जिला पुलिस अधीक्षक सहित अन्य अधिकारियों ने घटनास्थल का जायजा लिया। एसपी के निर्देश पर गठित पुलिस टीमों ने तत्परता से कार्रवाई करते हुए पिता-पुत्र को घटना के कुछ घंटों बाद ही गिरफ्तार कर वारदात का खुलासा कर दिया। पूछताछ में यह बात सामने आई कि चिट्टा खरीद के रुपयों के विवाद की रंजिश के चलत ेपिता-पुत्र ने घटना को अंजाम दिया।

जानकारी के अनुसार पीलीबंगा के वार्ड 9 स्थित करणी माता के मंदिर के पास के निवासी जसवीर दास उर्फ मद्दी (36) पुत्र मिट्ठूदास स्वामी, उसकी पत्नी मनप्रीत कौर व बेटा एकमजीत दास (7) गुरुवार अल सुबह करीब साढ़े पांच बजे घर के कमरे में बेड पर सो रहे थे। उसी समय कमरे में रखे सोफे व बेड में अज्ञात कारणों से आग लग गई और पति-पत्नी व बेटा आग लगने से झुलस गए। चीख-पुकार सुनकर आस-पड़ोस के लोग वहां पहुंचे और तीनों को झुलसी अवस्था में पीलीबंगा के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया। यहां से तीनों को हनुमानगढ़ के राजकीय जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया।

हनुमानगढ़ टाउन के राजकीय जिला चिकित्सालय के ट्रोमा सेंटर में तीनों का इलाज शुरू किया गया। चिकित्सकों ने मनप्रीत कौर व एकमजीत की हालत ज्यादा नाजुक होने पर मां-बेटे को हायर सेंटर बीकानेर रेफर कर दिया। वहीं जसवीर दास को भर्ती कर इलाज शुरू किया। लेकिन बीकानेर पहुंचने से पहले ही एकमजीत दास की रास्ते में मौत हो गई। उधर, हनुमानगढ़ के जिला अस्पताल में मौजूद जसवीर दास के भाई जगसीर दास ने बताया कि उसका भाई जसवीर दास, भाभी मनप्रीत व भतीजा एकमजीत दास घर में बने कमरे में बेड पर सोए हुए थे। गुरुवार अल सुबह करीब साढ़े पांच बजे अज्ञात जने ने खिड़की से पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी। बेड में आग लगने से तीनों जने गंभीर रूप से झुलस गए। उधर, घटना के बाद पीलीबंगा पुलिस ने जिला अस्पताल पहुंच जसवीर दास के बयान लिए।

उधर, आग लगने से कमरे में रखा सोफा व बेड भी जल गए। पुलिस ने एकमजीत दास की मौत से पहले जसवीर दास की रिपोर्ट पर हत्या प्रयास के आरोप में मुकदमा दर्ज किया। लेकिन एकमजीत दास की मौत के बाद पुलिस ने हत्या की धारा जोड़ दी।

चिट्टा बेचने से रोका तो लगाई आग : परिवादी

जिला अस्पताल में भर्ती जसवीर दास ने कहा कि वह करीब डेढ़ साल पहले चिट्टे का नशा करता था। तब वह जिनसे चिट्टा खरीदता था, अब उन्हीं लोगों ने उसकी गली में चिट्टा बेचना शुरू कर दिया था। जब उसने उन लोगों को चिट्टा बेचने से रोका तो उन लोगों ने हाथापाई की। उसने इन लोगों से करीब 25-30 ग्राम चिट्टा छीनकर गंदे पानी की नाली में फेंक दिया। तब इन लोगों ने जाते समय धमकी दी कि वे उसे देख लेंगे। तब उसने इनकी बातों पर ध्यान नहीं दिया। लेकिन गुरुवार सुबह जब वह, उसकी पत्नी व बेटा घर में सो रहे थे तो यह लोग बाल्टी में भरकर पेट्रोल लेकर उसके घर आए और पेट्रोल फेंककर आग लगा दी। इससे वे तीनों झुलस गए। जसवीर दास के अनुसार सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में दो जने नजर आ रहे हैं जो अबोहर क्षेत्र के निवासी हैं और पिता-पुत्र हैं।

पिता-पुत्र को बापर्दा किया गिरफ्तार

घटना की जानकारी मिलने पर जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. अजयसिंह राठौड़, एएसपी सुरेश जांगिड़, रावतसर डीएसपी पूनम चौहान, पीलीबंगा थाना प्रभारी विजय मीणा ने पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचकर घटना का जायजा लिया। घटनास्थल पर पहुंची एसएफएल टीम ने भी सबूत जुटाए। एसपी ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए तीन पुलिस टीमों का गठन किया। पुलिस ने करणी माता मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी खंगाली। इसके आधार पर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को मात्र 6 घंटे में पड़ोसी राज्य पंजाब से बापर्दा गिरफ्तार कर लिया।

मीडिया से बात करते हुए एसपी डॉ. राठौड़ ने बताया कि विवाद के चलते एक पक्ष ने दूसरे पक्ष के घर पर ज्वलनशील पदार्थ फेंककर आग लगा दी। इस मामले में शारज सिंह उर्फ गोरा (27) पुत्र बाजसिंह मजहबी निवासी झोरड़खेड़ा पीएस बहाववाला तहसील अबोहर हाल किराएदार ढाणी चिराग पीएस अबोहर सिटी-1 जिला फाजिल्का (पंजाब) व उसके पिता बाजसिंह (53) पुत्र मुकंद सिंह मजहबी को बापर्दा गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों ने पूछताछ के दौरान बताया कि जसवीर दास उर्फ मद्दी के साथ उनका चिट्टा खरीद के रुपयों का विवाद था। जसवीर दास ने रुपए देने से मना कर दिया। इस पर रंजिशवश उन्होंने अपनी मोटर साइकिल में पेट्रोल पम्प से पेट्रोल भरवाया। पीलीबंगा आकर एक छोटी बाल्टी में पेट्रोल डालकर जसवीर दास उर्फ मद्दी के रिहायशी मकान में फेंककर लाइटर से आग लगा दी। एसपी के अनुसार प्रकरण में अन्य सहयोगी आरोपी के बारे में अनुसंधान जारी है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here