हरियाणा में 220 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक स्थापित करेगा रेडक्रॉस

0
150
oxygen concentrator sachkahoon

कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए तैयारियां शुरू

  • रेडक्रॉस सोसायटी नि:शुल्क उपलब्ध कराएगी ऑक्सीजन कंसट्रेटर

  • सरसा समेत कई जिलों में 5-5 कंसंट्रेटर बैंक होंगे स्थापित

सच कहूँ/संजय मेहरा, गुरुग्राम। कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की किल्लत को लेकर हर कोई सबक ले रहा है। अब संभावित तीसरी लहर की तैयारियों में ऑक्सीजन पर ही अधिक फोकस किया जा रहा है। प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। ऑक्सीजन की कमी की वजह से किसी की जान न जाए, इस पर रेडक्रॉस सोसायटी काम कर रही है। सोसायटी की ओर से प्रदेश में 220 ऑक्सीजन कंसट्रेटर बैंक स्थापित किए जा रहे हैं।

पिछली दिक्कतों से सबक लेकर अब हरियाणा रेडक्रॉस सोसायटी ने ऑक्सीजन के लिए पहल की है। इसके तहत हरियाणा के हर जिले में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक स्थापित किए जाएंगे। प्रदेशभर में 220 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक स्थापित करने की योजना तैयार की गई है। कोरोना महामारी के समय में मरीजों को ऑक्सीजन निशुल्क दी जा सकेगी। मरीज के ठीक होने के बाद इस उपकरण को रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा वापस ले लिया जाएगा।

सबसे अधिक कंसंट्रेटर गुरुग्राम, फरीदाबाद, अंबाला में

प्रदेश में कंसंट्रेटर बैंक में सबसे अधिक कंसट्रेटर बैंक गुरुग्राम, फरीदाबाद और अंबाला में दिए जाएंगे। गुरुग्राम, फरीदाबाद और अंबाला में 40-40 ऑक्सीजन कंसट्रेटर तथा हिसार में 10 कंसट्रेटर दिए जाएंगे। इनके अलावा सिरसा, झज्जर, नूंह, पलवल, रेवाड़ी, रोहतक, नारनौल, चरखी दादरी, भिवानी, फतेहाबाद, जींद, कैथल, करनाल, कुरुक्षेत्र, पंचकूला, पानीपत, सोनीपत और यमुनानगर में 5-5 ऑक्सीजन कंसट्रेटर बैंक बनेंगे। ऑक्सीजन कंसट्रेटर पांच, आठ और 10 लीटर के होंगे। इन्हें मरीजों को नि:शुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। इन कंसस्ट्रेटर के लिए संबंधित जिलों की रेडक्रॉस सोसायटी में जाकर आवेदन करना होगा। तभी ये उपलब्ध कराए जा सकेंगे। सोसायटी की ओर से ऑक्सीजन कंसट्रेटर से लैस 33 आपातकालीन एम्बुलेंस की मांग भी सरकार से की गई है। कोरोना की दूसरी लहर में जिन जिलों में ऑक्सीजन को लेकर अधिक मारामारी रही है, वहां पर ज्यादा कंसट्रेटर स्थापित किए जाएंगे।

हवा को शुद्ध करते हैं ऑक्सीजन कंसट्रेटर

ऑक्सीजन कंसट्रेटर की मांग भी इसलिए बढ़ी कि यह उपकरण हवा को शुद्ध करता है। यानी यह आसपास की हवा को एकत्रित करता है। हवा में 78 फीसदी नाइट्रोजन, 21 फीसदी ऑक्सीजन और बाकी एक फीसदी अन्य गैसें होती हैं। ऑक्सीजन कंसट्रेटर हवा को फिल्टर करके नाइट्रोजन समेत अन्य गैसों को वापस हवा में छोड़ देता है। बाकी की ऑक्सीजन मरीज को पहुंचाता है। इससे मिलने वाली ऑक्सीजन 90 से 95 फीसदी तक शुद्ध होती है।

जनसेवा को समर्पित है रेडक्रॉस: श्याम सुंदर

गुरुग्राम जिला रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव श्याम सुंदर ने कहा कि रेडक्रॉस सोसायटी जनसेवा को समर्पित है। सोसायटी द्वारा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक बनाने की अच्छी पहल की जा रही है। कोरोना काल में जरूरतमंदों को राशन, भोजन, दवाइयां समेत तमाम तरह की सुविधाएं सोसायटी ने उपलब्ध कराई हैं। उन्होंने कहा कि रेडक्रॉस सोसायटी के साथ जुड़कर कोई भी व्यक्ति आजीवन सदस्य बनकर समाजसेवा में आ सकता है। इंसानियत की सेवा बड़ी सेवा है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramlink din , YouTube  पर फॉलो करें।