दुल्हन की तरह सजा शाह सतनाम जी धाम सरसा

  • पावन भंडारे की तैयारियां पूर्ण
  • पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां फरमाएंगे रूहानी सत्संग

सरसा। (सच कहूँ न्यूज) सच्चे मुर्शिद-ए-कामिल, रूहानी रहबर पूजनीय परमपिता शाह सतनाम जी महाराज का पवित्र अवतार दिवस का ‘एमएसजी भंडारा’ आज धूमधाम व हर्षोल्लास से मनाया जा रहा है। पावन भंडारा मनाने के लिए डेरा सच्चा सौदा शाह सतनाम जी धाम में देश-विदेश से भारी तादाद में श्रद्धालु पहुंच चुके हैं तथा यह सिलसिला वृहद स्तर पर जारी है। मंगलवार सुबह से साध-संगत का आना अनवरत जारी था। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, बिहार, छतीसगढ़, राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब के अलावा देशभर के अन्य प्रांतों व विदेशों से साध-संगत आश्रम में पहुंच रही है।

sirsa

एमएसजी पावन भंडारे को लेकर सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। श्रद्धालुओं के ठहरने के लिए अलग-अलग पंडाल बनाए गए हैं। इस अवसर पर पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां शाह सतनाम जी आश्रम, बरनावा जिला बागपत (उत्तर प्रदेश) से आॅनलाइन गुरुकुल के माध्यम से रूहानी सत्संग फरमाएंगे। इस दौरान नशे इत्यादि बुराइयां छुड़वाने के लिए कैंप भी आयोजित किया जाएगा। एमएसजी भंडारे का कार्यक्रम सुबह 11 बजे से शुरू हो जाएगा।

 

इस पावन अवसर पर शाह मस्ताना जी धाम व परमपिता शाह सतनाम जी धाम की आभा देखते ही बन रही है। दोनों आश्रमों का चप्पा-चप्पा रोशनी से सराबोर एक अनुपम नजारा पेश कर रहा है। आश्रम की ओर आने वाले सभी मार्ग रंगीन झालरों व लाईटों से आकर्षक तरीके से सजे-धजे नजर आ रहे हैं। इस अवसर पर सरसा शहर के अलावा आश्रम में विभिन्न स्थानों व सभी मार्गों पर लगाए गए होर्डिंग व पोस्टर सुंदरता में चार चांद लगा रहे हैं तथा एमएसजी अंकित झंडे भी सड़कों पर शान से लहलहा रहे हैं।

पावन भंडारे के अवसर पर आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए शाह सतनाम जी धाम व पूजनीय मस्ताना जी धाम में अनेक ट्रैफिक पंडाल बनाए गए हैं। एमएसजी भंडारे को लेकर सभी प्रबंध पूरे कर लिए गए हैं। सभी समीतियों के हजारों सेवादरों ने सेवा कार्योंे को अंतिम रूप दे दिया है। पानी समीति, लंगर समीति, स्पीकर समिति व सजावट समिति समेत सभी समीतियां सेवा कार्यों में दिन-रात जुटी हैं। श्रद्धालुओं की सुविधा के मद्देनजर सभी प्रबंध किए गए हैं। वर्णनीय है कि पूजनीय परम पिता शाह सतनाम सिंह जी महाराज ने 25 जनवरी सन् 1919 को पावन अवतार भूमि श्री जलालआणा साहिब, जिला सरसा में अवतार धारण किया।

छाया: सुशील कुमार

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here