हड़ताल का असर, नागरिक अस्पताल ‘बीमार’

0
144
civil-hospital-sirsa sachkahoon

वैकल्पिक उपाय न करने से बदहाल हुए हालात

सरसा (सच कहूँ न्यूज)। कर्मचारियों की हड़ताल के दूसरे दिन ही नागरिक अस्पताल की व्यवस्था चरमरा गई। बीमार का इलाज करने वाला नागरिक अस्पताल स्वयं ‘बीमार’ हो गया। कोरोनाकाल में जब अस्पताल को सर्वाधिक साफ-सफाई की जरूरत है, तब पूरा अस्पताल कचरे से अट गया है। अस्पताल के हर वार्ड में गंदगी का आलम बन गया है। वर्णनीय है कि अस्पताल के आऊटसोर्स कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर मंगलवार से हड़ताल पर है। हड़ताल के दूसरे दिन ही अस्पताल में गंदगी के ढेर लग गए है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से नागरिक अस्पताल की साफ-सफाई का कार्य आऊटसोर्स पर दिया है।

ठेकेदार के माध्यम से कर्मचारी साफ-सफाई के अलावा अन्य कार्य करते है। हर साल ठेकेदार बदलने पर कर्मचारियों की नियुक्ति को लेकर विवाद उपजता है। कर्मचारियों द्वारा अपनी सेवाएं नियमित जारी रखने की मांग को लेकर आंदोलन किया जा रहा है। कर्मचारियों की ओर से पहले चेतावनी भी दी गई थी। लेकिन अस्पताल प्रबंधन की ओर से वैकल्पिक उपाय नहीं किए गए। अस्पताल में जगह-जगह गंदगी पसरी हुई है। मरीजों को गंदगी के बीच ही आना-जाना पड़ रहा है। बारिश की वजह से कई कक्षों में जलभराव की स्थिति बनी हुई है। अस्पताल प्रशासन द्वारा वैकल्पिक प्रबंधन न किए जाने का खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ सकता है।

नगर परिषद् से मांगे गए है सफाई कर्मचारी: डॉ. संदीप

नागरिक अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. संदीप गुप्ता ने बताया कि कर्मचारियों की हड़तााल की वजह से सफाई व्यवस्था पर बुरा प्रभाव पड़ा है। उन्होंने बताया कि अस्पताल में सफाई व्यवस्था की बहाली के लिए मंगलवार को ही नगर परिषद से दो दर्जन सफाई कर्मचारियों की मांग की गई थी। इस बारे में नागरिक अस्पताल की ओर से पत्र भी भेजा गया था। आज सुबह तक नगर परिषद के सफाई कर्मचारी नहीं पहुंचें है। अस्पताल प्रशासन की ओर से सफाई व्यवस्था को बनाए रखने के लिए डेलीवेजिज पर कर्मचारी रखे जा रहे है। जब तक कर्मचारियों की हड़ताल चलेगी, तब तक इन डेली वेजिज कर्मचारियों से सफाई करवाई जाएगी।

तैनात रहा भारी पुलिस बल:

कर्मचारियों की हड़ताल और विरोध प्रदर्शन के दृष्टिगत पुलिस प्रशासन की ओर से नागरिक अस्पताल में भारी पुलिस बल की तैनाती की गई थी। ताकि व्यवस्था में खलल न पड़े। कोई भी असामाजिक तत्व विरोध प्रदर्शन की आड़ में कोई गलत हरकत न करें। चिकित्सा कार्य में किसी प्रकार की अड़चन पैदा न हों।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।