जेल में युवक की मौत पर परिजनों ने किया हंगामा

Prisoner

शव लेने से किया इंकार, अस्पताल में भारी पुलिस बैल रहा तैनात

करनाल(सच कहूँ न्यूज)। करनाल जेल में बंद एक युवक रजत (23) की संदिग्ध हालात में मौत गई। परिजनों ने पुलिस पर हवालात में मारपीट का आरोप लगाकर मंगलवार को पोस्टमार्टम हाऊस के बाहर जमकर हंगामा किया। डीएसपी मुकेश कुमार ने परिजनों से बात की, लेकिन उन्होंने शव उठाने से मना कर दिया है। हंगामे को देखते हुए अस्पताल में भारी पुलिस बैल तैनात कर दिया गया है। जनाकारी अनुसार मानसिंह खेड़ी निवासी रजत को लड़ाई झगड़े के मामले में परिजनों द्वारा 2 जुलाई को वकील के जरिए अदालत में पेश कर उसे पुलिस के हवाले किया था। परिजनों का कहना है कि सोमवार देर शाम करीब 8 बजे पुलिस द्वारा सूचना दी गई की रजत की मौत हो गई। परिजनों ने आरोप लगाया कि 2 जुलाई को जब रजत को अदालत में पेश किया गया तो वह बिल्कुल स्वस्थ था, हवालात में रजत के साथ मारपीट हुई है जिससे उसकी मौत हुई है।

लड़ाई झगड़े के मामले में गया था जेल

करीब 2 साल पहले गांव मानसिंह खेड़ी में गांव में कुछ लोगों में झगड़ा हो गया था। उस समय भी रजत व उसके भाई को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल में भेज दिया था। करीब 1 माह जेल में रहने के बाद वह जमानत पर बाहर आ गए थे। अब रजत व उसका भाई कोर्ट की तारीख पर पेश नहीं हुए थे। जिससे अदालत ने रजत व उसके भाई को गिरफ्तार करने के आदेश दिए थे। 2 जुलाई को परिजनों ने रजत व उसके भाई को वकील के जरिए अदालत में पेश कर उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया था।

रात 8 बजे दी परिजनों को सूचना

परिजनों ने आरोप लगाते हुए कहा कि जब रजत को अस्पताल में लेकर आए थे तो पुलिस द्वारा उन्हें सूचित नहीं किया गया। उसके बाद जब 6 बजे रजत की मौत हो गई थी तो उन्हें रात 8 बजे क्यों सूचना दी। उन्होंने आरोप लगाया कि जिला जेल में उसके साथ मारपीट हुई है। जिससे उसकी मौत हो गई।

क्या कहते हैं थाना प्रभारी

रामनगर थाना प्रभारी किरण ने बताया आज बोर्ड के पैनल पर रजत के शव का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही रजत की मौत के कारणों का पता लग पाएगा।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।