सामान्य पात्रता परीक्षा में सेंटरों को बढ़ाने की तैयारी में जुटा प्रशासन

12th Exam Cancel
  • उपायुक्त अनीश यादव ने शिक्षण संस्थानों के प्रभारियों के साथ मीटिंग कर सीटिंग कैपेस्टी की ली डिटेल
  • करनाल में करीब 110 सेंटरों में 35 हजार से अधिक परीक्षार्थी दे सकेंगे परीक्षा

करनाल(सच कहूँ न्यूज)। प्रदेश भर से 11 लाख से अधिक परीक्षार्थियों की सामान्य पात्रता परीक्षा सम्पन्न करवाने के लिए जिला प्रशासन तैयारियों में जुट गया है। चूंकि यह परीक्षा एक दिन में ली जानी है, जाहिर है कि इसके लिए अधिक से अधिक परीक्षा केन्द्र बनाने होंगे। मंगलवार को उपायुक्त अनीश यादव ने जिला शिक्षा अधिकारी और केन्द्र व राज्य सरकारों के भिन्न-भिन्न शिक्षण संस्थानो के प्राचार्यों के साथ एक मीटिंग कर सितम्बर माह में होने वाली इस परीक्षा के प्रयोजन को समझाया। उन्होंने कहा कि पहली बार सरकार की ओर से ज्यादा से ज्यादा परीक्षा केन्द्र बनाने की जिम्मेदारी मिली है, इसे पूरा करना है। तथापि उन्होंने मीटिंग में मौजूद भिन्न-भिन्न संस्थानो के एक-एक प्रभारी से उनके परीक्षा केन्द्र में सीटिंग कैपेस्टी की डिटेल ली। यह भी संकेत दिए कि करनाल में परीक्षार्थियों की संख्या, पहले के 20 हजार के अनुभव से ज्यादा 35 हजार या इससे ऊपर हो सकती है। इसे देखते सेंटरों की संख्या, जो पहले 74 थी, अब 100 से 110 की जानी है।

दो शिफ्टों में होगी परीक्षा

मीटिंग में मौजूद संस्थानों के प्रभारियों को स्पष्ट करते कहा कि बस एक दिन की ही बात है, यह परीक्षा दो शिफ्टों में होगी। इसे करवाने के लिए सभी संस्थानों में स्टाफ भी उपलब्ध है, फिर भी यदि कोई दिक्कत है तो प्रशासन उसमें मदद करेगा, लेकिन सेंटर जरूर बढ़ाए जाएंगे। कई संस्थानो में 4-5 सेंटर बन सकते हैं। यह सब इसलिए किया गया है कि परीक्षा पूरी पारदर्शिता से और बिना किसी अनूचित तरीके से सम्पन्न करवाई जानी है, क्योंकि कई बार ऐसी परीक्षाओं में पेपर लीक इत्यादि की घटनाएं हो चुकी हैं। सरकार की मंशा है कि इस पर अंकुश लगाया जाए।

30 से अधिक सेंटर बढ़ने का अनुमान तैयार

मीटिंग में करनाल लोकल व इन्द्री राजकीय कॉलेजों के प्राचार्य, नवोदय विद्यालय, बुद्घा कॉलेज रम्बा, आरपीआईआईटी बसताड़ा, केसीजीएमसी, नीलोखेड़ी स्थित पोल्टेकनिक, इंजीनियरिंग कॉलेज व गुरूकुल, आईटीआई करनाल, बागवानी विश्वविद्यालय, एनडीआरआई तथा केन्द्रीय विद्यालय सहित करीब दर्जनभर संस्थानों के प्रभारियों ने भाग लिया। सभी ने अपने-अपने संस्थानो की कैपेस्टी बताई, अत: मौके पर ही 30 से अधिक सेंटर बढ़ाए जाने का अनुमान तैयार हो गया। जिला शिक्षा अधिकारी राजपाल चौधरी ने बताया कि घरौंडा के अराईपुरा स्थित राजकीय कॉलेज में भी उक्त परीक्षा का सेंटर बनाया जाएगा।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।