बेजुबान पक्षियों की सहायता में छत्तीसगढ़ की साध-संगत ने बढ़ाए हाथ, लगाए पानी के सकोरे

हरदी (छत्तीसगढ़)। ब्लॉक हरदी की साध-संगत ने बेजुबान पक्षियों की गर्मी में भूख तथा प्यास बुझाने के लिए आज अपने-अपने घरों की छत्तों पर उनके भोजन तथा पानी के प्रबंध के लिए सकोरे रखते हुए उनमें पानी तथा पक्षियों के खाने के दाने रखें। दरअसल, पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां के वचनों पर अमल करते हुए डेरा सच्चा सौदा की साध-संगत निरंतर मानवता भलाई के कार्य कर रही है। इसी कड़ी में ब्लॉक हरदी की साध-संगत ने बेजुबान पक्षियों के लिए पानी के सकोरे लगाए।
ब्लॉक हरदी के जिम्मेवार ने बताया कि बेजुबान पक्षियों को ग्रीष्म ऋतु में खाने-पीने का प्रबंध ना होने से छोटे और दुलर्भ पक्षी विलुप्ता की कगार पर पहुंच जाते हैं। वहीं लगातार वातावरण में बढ़ रही गर्मी से बड़े पक्षी भी बदहवास हो जाते हैं। जिसको देखते हुए साध-संगत ने पानी के सकोरे लगाए गए। उन्होंने कहा कि पक्षियों को बचाने हर नागरिकों को आगे आना चाहिए, क्योंकि प्रकृति में पेड़-पौधों के साथ पक्षियों की चहचहाहट बरकरार रहें।

पूज्य गुरू जी का आभार जताया

पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां द्वारा चलाए गए 139 मानवता भलाई कार्यों को साध-संगत निरंतर तेज गति दे रही है। देश के विभिन्न राज्यों की साध-संगत जरूरतमंद परिवारों को राशन, पानी के सकोरे इत्यादि कार्य कर रही है। वहीं छत्तीसगढ़ की साध-संगत ने पूज्य गुरू जी का आभार जताया और कहा कि पूज्य गुरू जी ने हमें मानवता की सेवा करने की शिक्षा दी है जिससे आज इस कलियुग समय में भी हम मानवता भलाई के कार्य कर रहे हैं।
अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here