फर्जी अंकतालिका से नौकरी हासिल करने का भंडाफोड़

श्रीगंगानगर (सच कहूँ न्यूज)। उत्तर प्रदेश शिक्षा विभाग की फर्जी अंकतालिका से सहायक शाखा डाकपाल की नौकरी हासिल करने का श्रीगंगानगर में भंडाफोड़ हुआ है। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज स्थित माध्यमिक शिक्षा परिषद की जाली अंकतालिका से नौकरी हासिल करने वाले 9 युवाओं के खिलाफ डाक अधीक्षक देवीलाल की रिपोर्ट पर जवाहरनगर थाना में धोखाधड़ी और जालसाजी की धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

पुलिस के मुताबिक जवाहरनगर में गगन पथ पर स्थित डाक अधीक्षक कार्यालय के कर्मचारी चंदनसिंह द्वारा प्रस्तुत की गई रिपोर्ट पर विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच सब इंस्पेक्टर चंद्रभान के सुपुर्द की गई है। पुलिस को दी गई रिपोर्ट में बताया गया है कि डाक विभाग द्वारा पिछले वर्ष 5 जून को सहायक शाखा डाकपाल पदों पर भर्ती के लिए आॅनलाइन आवेदन आमंत्रित किए गए थे।इसमें श्रीगंगानगर स्थित मंडल कार्यालय के अधीन डाकघरों में 85 सहायक शाखा डाकपाल के लिए शैक्षणिक योग्यता के आधार पर आवेदन आमंत्रित किए गए। दसवीं पास युवा इसके लिए आवेदन कर सकते थे।

अभ्यर्थियों का चयन 10वीं की मार्कशीट के अंकों की वरीयता से किया जाना था। डाक विभाग ने 20 जून को परिणाम घोषित कर दिया।इसमें चयनित हुए अभ्यर्थियों को उनके द्वारा आॅनलाइन आवेदन के साथ अपलोड किए गए शैक्षणिक और अन्य दस्तावेजों के मूल कागजात 5 जुलाई 2022 तक जमा करवाने का समय दिया गया। डाक अधीक्षक देवीलाल के मुताबिक इस नियत तिथि तक चयनित अभ्यर्थियों द्वारा अपनी शैक्षणिक योग्यता के प्रस्तुत किए गए मूल दस्तावेजों की जांच पड़ताल की गई।

इस दौरान माध्यमिक शिक्षा परिषद प्रयागराज उत्तर प्रदेश की अंक तालिका के साथ 9 आवेदन प्राप्त हुए। इनके मूल दस्तावेजों की आॅनलाइन जांच की गई। यह दस्तावेज माध्यमिक शिक्षा परिषद प्रयागराज को आॅनलाइन प्रेषित किए गए। उक्त एजुकेशन बोर्ड के डीजी लाकर से इन अंकतालिकाओं का सत्यापन नहीं हुआ। डीजी लॉकर से सत्यापन नहीं होने वाले शैक्षणिक दस्तावेजों की जांच के लिए सहायक अधीक्षक निरीक्षक/डाकघर अधीक्षक के अधिकारियों की एक कमेटी गठित की गई।

राकेश कुमार धींगडा सहायक अधीक्षक डाकघर हनुमानगढ़ और पवन कुमार निरीक्षक डाकघर सूरतगढ़ ने व्यक्तिगत रूप से प्रयागराज जाकर क्षेत्रीय कार्यालय माध्यमिक शिक्षा परिषद 8 शैक्षणिक दस्तावेजों और 1 अभ्यर्थी जिसकी अंकतालिका पूर्व की भर्ती की थी, कुल 9 शैक्षणिक दस्तावेजों का सत्यापन करवाया गया।

इनकी अंकतालिकाएं फर्जी मिली

पुलिस और डाक विभाग के सूत्रों के अनुसार जिन अभ्यर्थियों की दसवीं की अंक तालिका फर्जी पाई गई है,उनमें कुलदीप पुत्र एक्शन गांव छिछड़ाना तहसील गोहाना जिला सोनीपत (हरियाणा), पवन पुत्र सत्यवान निवासी घघाना अलदादपुर तहसील गोहाना जिला सोनीपत, बलजीत पुत्र एक्शन निवासी छिछड़ाना, तहसील गोहाना जिला सोनीपत (हरियाणा), शिवकुमार पुत्र संदीप कुमार निवासी मलवानी तहसील नोहर जिला हनुमानगढ़, दीपक पुत्र समुंदर निवासी घघाना अलदादपुर पुर तहसील गोहाना जिला सोनीपत (हरियाणा), राजेश पुत्र सतपाल निवासी फेफाना तहसील नोहर जिला हनुमानगढ़,अमित पुत्र वजीर निवासी छिछडाना तहसील गोहाना जिला सोनीपत (हरियाणा), मोहनलाल पुत्र ओमप्रकाश निवासी वार्ड नंबर 9 झांसल तहसील भादरा जिला हनुमानगढ़,आकाश मीणा पुत्र नेम सिंह मीणा शामिल हैं।

इनमें कुलदीप गजसिंहपुर तहसील क्षेत्र के गांव जोरावरपुरा,पवन श्रीकरणपुर तहसील क्षेत्र के गांव बंडिगा, बलजीत हनुमानगढ़ जिले के गांव डाबड़ी, शिवकुमार हनुमानगढ़ जिले में ही नोहर तहसील क्षेत्र के गांव सोनड़ी, दीपक भादरा उपखंड क्षेत्र के गांव छानीबड़ी,राजेश गोविंदपुरा अमित हनुमानगढ़ जिले में संगरिया तहसील क्षेत्र के गांव नुकेरां, मोहनलाल केसरीसिंहपुर थाना क्षेत्र के गांव कमीनपुरा तथा आकाश मीणा अनूपगढ़ तहसील क्षेत्र के चक 86-जीबी में सहायक शाखा डाकपाल के पद पर कार्यरत है। डाक विभाग ने इन 9 अभ्यर्थियों के तमाम दस्तावेज और अपनी जांच रिपोर्ट पुलिस को पेश कर दी हैं और पुलिस इनकी जांच पड़ताल करने में जुट गई है। इन 9 अभ्यर्थियों की शीघ्र ही गिरफ्तारियां होने की संभावना है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here