पंजाब भर में किया गया विरोध, सड़कों पर उतरे कांग्रेसी नेता

0
186
petrol

पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर भड़की कांग्रेस, फूंके वाहन, किया केंद्र का विरोध

सच कहूँ/अश्वनी चावला चंडीगढ़। देश में पेट्रोल और डीजल की बढ़ रही कीमतों को लेकर भड़की कांग्रेस ने आज राज्य में जमकर प्रदर्शन किया तो कई स्थानों पर वाहनों ही जला दिया गया तो कई स्थानों पर वाहनों को नहर में फेंकते हुए बहा दिया गया। कांग्रेस पार्टी के पेट्रोल और डीजल के खिलाफ प्रदर्शन तो समझ में आता है परन्तु वाहनों को आग लगाना या फिर नहरों में बहा देने वाला प्रदर्शन हर किसी की समझ से परे ही नजर आ रहा है। राज्य कांग्रेस की ओर से दिए गए आदेशों अनुसार ही पंजाब के हर जिले में यह प्रदर्शन किये गए थे, जब कि कांग्रेस प्रधान ने मोहाली में प्रदर्शन करते हुए केंद्र सरकार को घेरने की कोशिश की।

पंजाब भर में कांग्रेसी नेताओं की तरफ केंद्र सरकार को सवाल किया गया कि देश में किस तरीके से पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ रही हैं, जबकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में कोई ज्यादा विस्तार भी नहीं हुआ है। पूर्व मनमोहन सिंह की सरकार दौरान कच्चे तेल की कीमतें आसमान पर थी परन्तु देश में पेट्रोल 60 रुपए तक ही सीमित थी परन्तु अब कच्चे तेल की कीमतें उससमय के मुकाबले आधी हैं परन्तु फिर भी पेट्रोल और डीजल की कीमतें डेढ़ गुणा से ज्यादा बढ़ गई हैं। जो कि अपने आप में एक रिकार्ड है। पंजाब भर में हुए प्रदर्शन दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पुतला भी जलाई गया और यह मांग की गई कि आम व्यक्ति को राहत देने के लिए तेल की कीमतों में कटौती की जाये।

खुद ही इस्तीफा देने को तैयार हूँ: जाखड़

कांग्रेस पार्टी के घमासान में सुनील जाखड़ को अध्यक्षता से हटाने की आ रही चर्चाओं में सुनील जाखड़ ने कहा कि वह खुद ही कांग्रेस प्रधान के पद से इस्तीफा देने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी के आगे अध्यक्षता कोई मायने नहीं रखती है, इस लिए वह खुद ही इस्तीफा देने को तैयार हैं। सुनील जाखड़ पेट्रोल की कीमतों में हो रहे वृद्धि खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे, इसी दौरान पत्रकारों से अध्यक्षता से हटाए जाने वाला सवाल पूछा गया था।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।