कोरोना योद्धा डॉक्टरों ने कोरोना संक्रमितों को दिया नवजीवन

0
173
Corona Warriors doctors gave Corona infected new life

80-85 प्रतिशत बंद थी मुख्य धमनी

फरीदाबाद (सच कहूँ/राजेन्द्र दहिया)। चिकित्सा क्षेत्र में अग्रणीय मेट्रो अस्पताल फरीदाबाद के डाक्टरों ने कोरोना काल में अपने दायित्व का बखूबी निर्वहन कर रहे हैं। इसी कड़ी में अस्पताल के डाक्टरों ने 27 वर्षीय कोरोनाग्रस्त युवक को हार्ट अटैक आने पर समय पर इलाज देकर उसकी जान बचाने का कार्य किया।

यह केस डाक्टरों के लिए इसलिए जटिल था, क्योंकि मरीज कोरोना पॉजिटिव था, लिहाजा डाक्टरों की टीम ने पूरी सुरक्षा बरतते हुए इस सर्जरी को अंजाम दिया। दरअसल गांव अलावलपुर पलवल निवासी 27 वर्षीय युवक रोहताश छाती में दर्द के कारण मेट्रो अस्पताल में दाखिल हुआ। अस्पताल में दाखिल होने के पश्चात शुरूआज जांच में पता चला कि उसे हार्ट अटैक हुआ है। कोरोना महामारी के चलते युवक का कोरोना टेस्ट भी करवाया गया, जो कि पॉजिटिव आया।

मरीज की गंभीर हालत को देखते हुए मेट्रो अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर एवं डायरेक्टर कार्डियोलॉजी डा. नीरज जैन, असिस्टेंट डा. अजय बेलिया एवं उनकी टीम द्वारा इस मरीज का समय रहते इलाज देने का जिम्मा उठाते हुए बिना वक्त गंवाए इस मरीज को कैथ लैब में शिफ्ट किया गया, क्योंकि यह मरीज कोरोना पॉजिटिव भी था तो इसको लेकर डा. नीरज जैन एवं उनकी टीम द्वारा काफी सावधानी बरतते हुए युवक की एंजियोग्राफी की गई, जिससे पता चला कि मरीज की एक मुख्य धमनी लगभग 80-85 प्रतिशत बंद है, जिसमें बहुत बड़ी रूकावट (ब्लाक) थी।

यह रूकावट ऐसे स्थान पर थी, जहां से मुख्य धमनी के साथ-साथ 3 और छोटी धमनियां (नसें) जुड़ी होती है। डा. नीरज जैन एवं उनकी टीम द्वारा तुरंत बिना देरी किए इस मरीज को स्टेंट डालकर एंजियोप्लास्टी करने का फैसला लिया और पूरी सतर्कता एवं सावधानी बरतते हुए समय रहते इस मरीज को स्टेंट लगाकर इसकी जान बचाई गई।

क्योंकि यह युवक कोरोना संक्रमित होने के साथ-साथ हार्ट अटैक की बीमारी से भी ग्रस्त था इसलिए इस मरीज की ऐजियोप्लास्टी करना एक चुनौतीपूर्ण कार्य था, जिसको अंजाम देने के लिए अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डा. नीरज जैन एवं उनकी टीम द्वारा इस चुनौती को स्वीकार करते हुए सफलतापूर्वक एंजियोप्लास्टी की गई।

अब मरीज की हालत संतोषजनक है। सफल सर्जरी करने के उपरांत मेट्रो अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर एवं डायरेक्टर कार्डियोलॉजी डा. नीरज जैन ने कहा कि यह एक चुनौतीपूर्ण केस था, जिसे सफलतापूर्वक अंजाम दिया गया और आगे भी अस्पताल के डाक्टरों की टीम लोगों को बेहतर इलाज देने के लिए सदैव कृतसंकल्पित रहेगी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।