Happy Lohri: पंजाब के डेरा श्रद्धालुओं ने इस तरह मनाई Lohri

पूज्य गुरु जी की पावन शिक्षाओं पर चलते हुए साध-संगत निरंतर कर रही मानवता भलाई के कार्य

  • तारा सिंह का पक्के घर का सपना साध-संगत ने कुछ ही घंटों में किया पूरा
  • गणमान्यजनों ने की डेरा श्रद्धालुओं की प्रशंसा

लौंगोवाल/संगरूर (सच कहूँ/हरपाल सिंह)। खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर, गर्मी-सर्दी व खराब मौसम को अपने ऊपर झेल रहे तारा सिंह इन्सां पुत्र भूरा सिंह का पक्के मकान का सपना साध-संगत ने कुछ घंटों में पूरा कर दिया।इस बारे में जानकारी देते ब्लॉक लौंगोवाल के एमएसजी आईटी विंग के जिम्मेवार हरप्रीत इन्सां, प्रेम कुमार इन्सां, गुरमेल सिंह इन्सां, सतपाल सिंह इन्सां, गुरतेज सिंह इन्सां व तरसेम सिंह इन्सां ने बताया कि ब्लॉक लौंगोवाल की साध-संगत को जब पता चला कि डेरा श्रद्धालु तारा सिंह इन्सां की आर्थिक स्थिति बहुत ही कमजोर है और वह अपना घर बनाने में असमर्थ है तो समूह साध-संगत ने पूरा घर बनाकर देने का बीड़ा उठाया।

यह भी पढ़ें:– खांसी की समस्या के लिए बहुत कारगर है यह गुरु जी का घरेलू नुस्खा

उन्होंने बताया कि ब्लॉक की साध-संगत ने कुछ ही घंटों में मकान बनाकर डेरा श्रद्धालु तारा सिंह इन्सां को सौंप दिया। सेवादारों ने कहा कि हमें यह शिक्षा पूज्य गुरु जी से मिली है। उन्होंने बताया कि हम पूज्य गुरु जी का तहेदिल से धन्यवाद करते हैं, जिन्होंने हमें मानवता की भलाई करने का पाठ पढ़ाया है। इस मौके पर शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैल्फेयर फोर्स विंग के सेवादार, बुजुर्ग समिति के सेवादार, गांवों के भंगीदास और विभिन्न गांवों की साध-संगत उपस्थित थी।

सेवादारों का सेवा के प्रति जज्बा प्रशंसनीय : राज कुमार इन्सां

45 मैंबर पंजाब राज कुमार इन्सां ने कहा कि डेरा सच्चा सौदा लौंगोवाल के सेवादारों द्वारा बहुत ही प्रशंसनीय मानवता भलाई के कार्य किए जा रहे हैं, जिनमें सेवादारों द्वारा रक्तदान किया जा रहा है, वहीं मरणोपरांत शरीरदान भी किए जा रहे हैं, जिससे पूरी मानवता का भला हो रहा है, वहीं जरूरतमंदों को मकान बनाकर देना ‘सोने पर सुहागा’ वाली बात हो रही है।

साध-संगत का दूसरों की मदद के लिए आगे आना काबिले-तारीफ : डॉ. लाभ सिंह मंडेर

जिला बरनाला डॉक्टर यूनियन के जिला प्रधान एनआरआई डॉ. लाभ सिंह मंडेर ने साध-संगत की प्रशंसा करते कहा कि आज के समय में जब हाथ को हाथ खाए जा रहा है और सिर्फ और सिर्फ इन्सान अपने बारे में ही सोच रहा है, उस समय दौरान साध-संगत द्वारा दूसरों की मदद के लिए आगे आना काबिले-तारीफ है। उन्होंने कहा कि धन्य हैं पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां, जो साध-संगत को मानवता भलाई का पाठ पढ़ा रहे हैं, जिस पर चलकर साध-संगत दीन-दु:खियों का सहारा बन रही है।

पूज्य गुरु जी व साध-संगत का तहेदिल से धन्यवाद : तारा सिंह इन्सां

साध-संगत द्वारा किए गए कार्य के लिए डेरा श्रद्धालु तारा सिंह इन्सां ने पूज्य गुरु जी व साध-संगत का तहेदिल से धन्यवाद किया व कहा कि साध-संगत ने उसकी लम्बे समय से चली आ रही चिंता को कुछ ही घंटों में खत्म कर दिया है। उन्होंने कहा कि साध-संगत के इस जज्बे की जितनी प्रशंसा की जाए उतनी ही कम है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here