हमसे जुड़े

Follow us

Epaper

10.9 C
Chandigarh
More
    donald trump

    क्या महाभियोग के जरिये हट सकते हैं ट्रंप

    संवैधानिक प्रावधानों के अनुसार अगर ट्रंप के विरूद्व महाभियोग का प्रस्ताव पारित हो जाता है, तो वे दोबारा राष्ट्रपति पद के लिए अयोग्य हो जाएंगे। महाभियोग की इस जल्दबाजी का एक बड़ा कारण उपराष्ट्रपति माइक पेंस का व्यवहार भी है।
    Commentary on vaccination and good governance

    टीका पर टीका-टिप्पणी और सुशासन

    महामारी से लड़ाई में टीका किसी संजीवनी से कम नहीं होता। यह 7 दशकों में कई बार सिद्ध हुआ है। साल भर से दुनिया एक ऐसी अदृश्य बीमारी से जूझ रही है जिसके खात्मे को लेकर अब उम्मीद जग गयी है। महामारी के बीच भारत में बने दो टीके इस दौर में किसी किरण से कम नह...
    Upcoming budget possibilities of improvement in economy

    आगामी बजट: अर्थव्यवस्था में सुधार की संभावनाएं

    वित्त वर्ष 2020-21 का आम बजट 1 फरवरी को आने जा रहा है। सरकार सुस्ती में फंसी अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए आगामी बजट में पूँजीगत व्यय पर जोर दे सकती है, जिससे मांग में वृद्धि हो सके। वित्त वर्ष 2021-22 में भारत की अर्थव्यवस्था की नॉमिनल वृद्धि दर 13 ...
    Political Movement Impact of Non-violent Movements

    राजनीतिक आंदोलन: अहिंसक आंदोलनों का प्रभाव

    जैसा कि सभी जानते हैं कि आज हमारा समाज विस्फोटक और तनावग्रस्त है तथा विकासशील देशों के अधिकतर भागों में हिंसा देखने को मिलती है। भौतिक समृद्धि और अधिक शक्ति और संपत्ति की लालसा के कारण गरीबी बढ़ती जा रही है। साथ ही समाज में असमानता भी बढ़ती जा रही हैं ...

    वैज्ञानिकों ने स्वीकारा आत्मा का अस्तित्व

    भगवत गीता हजारों साल पहले से शरीर की काया में विद्यमान 'आत्मा' को अजर-अमर मानती चली आ रही है। महाभारत युद्ध के दौरान भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन को दिए उपदेश में आत्मा को कभी नष्ट नहीं होने वाला बीज-तत्व माना है। अब इसी सनातन मान्यता को वैज्ञानिक समर्थ...

    क्या यह केवल बर्ड फ्लू है?

    सरकार को इस बात को समझना होगा कि सामाजिक क्षेत्र में सुधार के बिना आर्थिक सुधार अपने आप में अभिशाप बन सकते हैं क्योंकि यदि सामाजिक क्षेत्र कमजोर होगा तो पूरी प्रणाली धराशायी हो सकती है।
    Donald Trump

    शक्तिशाली लोकतंत्र में विवादास्पद ‘ट्रंप’

    इसमें कोई दो राय नहीं कि कैपिटल हिल पर हमला ट्रंप की सत्ता में बने रहने की जिद्द का ही परिणाम है। लेकिन अमेरिकी पुलिस जिस तरह से लोकतंत्र के मंदिर पर हमला होते देख रही थी उससे यह तो साबित हो गया कि अमेरिका वर्षों पुरानी विभाजित समाज की मानसिकता से नह...
    Global Front

    वैश्विक मोर्चों पर बरकरार रहेंगी चुनौतियां

    26 जनवरी 2021 को ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भारत के गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि के रूप में भारत आ रहे हैं। जॉनसन के सत्ता में आने के बाद भारत-ब्रिटेन संबंधों लगातार मजबुत हुए है। ब्रिटेन यूएन सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य है। मार्च 20...
    Domestic Violence

    घरेलू हिंसा की गहरी होती जड़ें

    181 - महिलाओं के लिए हेल्पलाइन नंबर केंद्र सरकार ने महिलाओं को संकट में मदद करने के लिए यह संख्या आवंटित की है। प्रत्येक राज्य ने इस नंबर के साथ अपना कॉल सेंटर स्थापित किया है। महिला काउंसलर हेल्पलाइन की संचालक हैं। कॉल करने के बाद महिलाओं को ...

    समान नागरिक की अनदेखी

    आखिरकार एक राष्ट्र, एक विधि और समान नागरिक संहिता (यूसीसी) का स्वाभाविक सिद्धान्त लागू क्यों नहीं हो सकता है।? यह राष्ट्रीय एकता का मूलाधार है। मजहबी लोग समान नागरिक संहिता (यूसीसी) को अपने अपने निजी मजहबी कानूनों में हस्तक्षेप मानते हैं जबकि संविधान...

    पारिस्थितिकी तंत्र और जीवन श्रृंखला की कहानी

    नरपत दान चरण, पर्यावरण विशेषज्ञ पर्यावरण (Environment) में हर जीव-जंतु, पेड़-पौधे का जीवन एक दूसरे पर आश्रित (Dependent) है। सभी से जुड़ी हुई एक जीवन श्रंखला है। लेकिन जब यह श्रंखला टूट जाती है, तो किस कदर जीवन संकट में पड़ जाता है। इसे एक कहानी से स...

    आशा और उम्मीदों से भरा हो नया साल

    आर्थिक मोर्चे के बाद राजनीतिक फ्रंट पर भी नये साल में बहुत कुछ होगा। देश के पांच राज्यों में इस साल विधानसभा चुनाव होंगे। तमिलनाड, पश्चिम बंगाल, केरल, असम और पुडुचेरी वो पांच राज्य हैं जहां विधानसभा चुनावों के लिए छह महीने का समय बमुश्किल बाकी है। अप...

    बंगाल में ‘चाणक्य बनाम चाणक्य’

    पश्चिम बंगाल में निकट भविष्य में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर राज्य में 'राजनैतिक तापमान ' बढ़ता ही जा रहा है। राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जिन्हें 'बंगाल की शेरनी' भी कहा जाता है, अपने अकेले दम पर न केवल बंगाल की सत्ता पर दशकों तक काबिज रही...

    2020: संपूर्ण दुनिया लॉकडाउन में, आगे कठिन राह

      वर्ष 2020 का विदाई गीत किस प्रकार लिखें। ढोल नगाडे बजाएं? नई आशाओं, सपनों और वायदों के पंखों पर सवार होकर वर्ष 2021 का स्वागत करें? या पिछले 12 महीने से चले आ रहे निराशा के वातावरण में ही जीएं जिसके थमने के कोई आसार नहीं हैं? नि:संदेह वर्ष 20...
    poor-and-the-farmers

    गरीबों और किसानों की परवाह कौन करे?

    ऐसे समय पर जब किसान आंदोलन जारी है और संपूर्ण विपक्ष उनका समर्थन कर रहा है, सरकार द्वारा हठधर्मिता अपनाना दुर्भाग्यपूर्ण है। यही नहीं इससे देश के लाखों किसानों को यह संदेश जा रहा है कि सरकार की प्राथमिकता में उनका कोई स्थान नहीं है और इसके बजाय सरकार...
    Congress Party

    क्या पार्टी में बदलाव की लहर चलेगी?

    सोनिया पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष हैं। उनकी उम्र बढ रही है। राहुल अनिश्चित नेता हैं जिनमें विश्वसनीता का अभाव है और प्रियंका के साथ वाड्रा उपनाम जुडा हुआ है। वस्तुत: कांग्रेसी नेता गुपचुप रूप से सोनिया के इरादों पर हर कीमत पर अपने बेटे को बचाने की नीति...

    ओली को ले डूबा सत्ता का गुरूर

    नेपाल हमेशा भारत को बिग ब्रदर मानता रहा है, लेकिन कोविड-19 के दौरान नेपाल के प्रधानमंत्री ओली की बोली जहरीली ही रही तो रीति और नीति भी एकदम जुदा। ओली अपने आका ड्रैगन के इशारे पर साम, दाम, दंड और भेद की नीति का अंधभक्त की मानिंद अनुसरण करते रहे। भारत ...

    श्रीराम नेपाल के सियासी संग्राम की वजह

    ओली शुरू से ही इस बात के लिए प्रयासरत थे की देश के वास्तविक मुखिया होने के नाते वे सता के केन्द्र में रहें। जबकि पार्टी के वरिष्ठ नेता ओली की शक्तियों में वृद्धि के खिलाफ थे। वे एक व्यक्ति एक पद का हवाला देते हुए ओली को पीएम पद या पार्टी के अध्यक्ष प...
    Temperature

    कोरोना के बावजूद तापमान में वृद्धि

    बढ़ते उत्सर्जन के सांथ इस समस्या पर गंभीरता से ध्यान देना होगा हालांकि देश में कुछ कदम उठाए गए हैं और अक्षय उर्जा पर ध्यान दिया जा रहा है। इसके साथ ही वाहनों से उत्सर्जन, औद्योगिक प्रदूषण, बाहरी प्रदूषण आदि रोकने के लिए भी कदम उठाए जाने चाहिए। अर्ध-शह...
    India-UK Relations Increasing Partnership

    भारत-ब्रिटेन संबंध: बढ़ती साझीदारी

    ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन अगले वर्ष गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि होंगे। इस अवसर पर उनकी उपस्थिति ब्रेक्जिट के बाद भारत और ब्रिटेन के बीच बढ़ती साझीदारी की द्योतक है। जॉनसन ब्रिटेन के दूसरे प्रधानमंत्री होंगे जो गणतंत्र दिवस के अवसर पर...
    Governments dwarfed in agriculture and farmer welfare

    कृषि और किसान कल्याण में बौनी रही सरकारें

    बीते सात दशकों में कृषि समृद्धि और किसान का कल्याण दोनों हाशिये पर रहे हैं। सरकारें किसानों की जिन्दगी बदलने का दावा करती रहीं मगर देश की आबादी का आधे से अधिक हिस्सा समस्याओं की जकड़न से बाहर ही नहीं निकला। मौजूदा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भले ही तम...
    Farmers Protest

    अपने हित-अहित से किसान बेखबर व सरकार बाखबर ?

    सत्ता द्वारा किसानों की नए कृषि अध्यादेशों को वापस लेने की दो टूक मांग से देश का ध्यान भटकाने के लिए अनेक हथकंडे प्रयोग में लाए जा रहे हैं। सत्ता+गोदी मीडिया+आईटी सेल का अदृश्य संयुक्त नेटवर्क कभी इस आंदोलन को खालिस्तान से जोड़ने की कोशिश करता है तो क...
    MSP System

    बाजार ताकतों के आगे मजबूर एमएसपी व्यवस्था

    सवाल यह है कि केन्द्र व राज्य सरकारें एमएसपी व्यवस्था को फूलप्रुफ बनाना सुनिश्चित कर दे और सरकार द्वारा घोषित एमएसपी से मण्डियों में भाव नीचे जाते ही तत्काल खरीद आंरभ कर दे तो निश्चित रुप से अन्नदाता को इस व्यवस्था का पूरा पूरा लाभ मिल सकता है। इसके ...
    Farmer

    पहली पंक्ति का किसान अन्तिम पायदान पर क्यों!

    असल में किसान कानून की पेचेंदगियों में फंसना नहीं चाहता वह फसल उगाने और उसकी कीमत तक ही मतलब रखना चाहता है यही कारण है कि एमएसपी के मामले में वह एक ठोस कानून चाहता है जिसे लेकर सरकार का रूख टाल-मटोल वाला है। सरकार एमएसपी को लेकर किसान का भरोसा बिना क...
    This crooked weapon to suppress the voice of protest

    विरोध के स्वर दबाने के यह ‘कुटिल शस्त्र’

    किसी भी लोकतंत्र में विपक्ष की भूमिका को सत्ता की भूमिका से कम कर के नहीं आंका जाता है,न ही आंका जा सकता है। प्राय: पूरे विश्व के सभी लोकताँत्रिक व्यवस्था रखने वाले देशों में विपक्ष को, सत्ता के किसी भी निर्णय का सड़क से लेकर संसद तक विरोध करने का पूर...