हमसे जुड़े

Follow us

Epaper

26.5 C
Chandigarh
More
    Jammu and Kashmir,

    जम्मू-कश्मीर का हुआ सार्थक विभाजन

    गुजरात के केवाड़िया में प्रधानमंत्री मोदी ने बोलते हुए कहा है कि ये व्यवस्थाएं जमीन पर लकीर खींचने के लिए नहीं हैं
    role of youth,

    सशक्तिकरण में युवाओं की भूमिका

    उसे स्व्यं से प्रश्न करना होगा कि भारतीय खेती और खेतिहर की आज दुर्दशा क्यों है ? उसे मंथन करना होगा कि यदि खेती सचमुच घाटे का सौदा है, तो फिर कई कंपनियां खेती के काम में क्यों उतर रही हैं ? कमी हमारी खेती में है या विपणन व्यवस्था में ? ऊंची पसंद वाले देसी, जैविक और हर्बल को अन्य से उत्तम समझ रहे हैं।
    Challenges of Equal, Inclusive and Quality Education

    समान, समावेशी और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की चुनौती

    किसी भी प्रगितिशील राष्ट्र के लिये शिक्षा एक बुनियादी तत्व है इसलिए जरूरी हो जाता है कि इसके महत्त्व को समझते हुए ये सुनिश्चित किया जाये की समाज के सभी वर्गों के बच्चों को समान और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का अवसर मिल सके। परन्तु इस देश का दुर्भाग्य ही कह...
    Population Drowth, Future Generation

    जनाधिक्य से बढ़ती सामाजिक-आर्थिक समस्याएं

    किसी भी देश का आर्थिक विकास प्राकृतिक संसाधनों तथा जनसंख्या के आकार, बनावट तथा कार्यक्षमता पर निर्भर करता है। आंकड़ों पर नजर डालें तो जनसंख्या के लिहाज से भारत का विश्व में दूसरा स्थान है। 30 अप्रैल 2013 को जारी जनगणना 2011 के अंतिम आंकड़ों के अनुसार द...
    Achievements, Challenges, Independence

    स्वतंत्रता बाद की उपलब्धियां और चुनौतियां

    आजादी के सात दशक बाद भी यह सवाल जेरेबहस है कि आजादी की जंग के दौरान जो सपने बुने-गढ़े गए थे क्या वे पूरे हुए हैं? क्या समाज के अंतिम पांत का अंतिम व्यक्ति आजादी के लक्ष्य को हासिल कर लिया है? दो राय नहीं कि आजादी के बाद इन सात दशकों में देश ने उल्लेखन...
    Government

    सरकार के लिए आईना आर्थिक मंच की रिपोर्ट

    हमारे देश के हुक्मरान स्त्री-पुरुष के बीच असमानता को खत्म करने की बड़ी-बड़ी बातें करते हंै, लेकिन जमीनी हकीकत क्या है, इसे हाल ही में आई जेंडर गैप रिपोर्ट बयां करती है। लैंगिक समानता पर ह्यवर्ल्ड इकॉनोमिक फोरमह्ण यानी विश्व आर्थिक मंच द्वारा हर साल जार...
    Winner, Trusts, Himself, Thailand Cave

    जीतता वही है, जिसे खुद पर भरोसा हो

    गत 23 जून को 11 से 16 साल आयु के 12 बच्चे और एक कोच लगभग 10 हजार 316 मीटर लम्बी तथा थाईलैंड की चौथी सबसे बड़ी गुफा ‘टैम लूंग’ में फंस गए। ये बच्चे फुटबाल के अभ्यास के बाद इस गुफा को देखने गए थे और भारी बारिश के कारण इसमें फंस गए। संकरे टेढ़े-मेढ़े रास्त...
    Youth, Drunk, Drugs, Discretion, Condition, India

    विवेकहीनता के कारण नशे में डूब रहा है युवा

    युवा अवस्था सपनों को उड़ान देने की होती है। युवा मंजिल तलाश को लेकर कितनी सुनहरी यादें संजोता है, लेकिन इसे विडम्बना कहिये या विवेकहीनता आज का युवा किसी न किसी नशे में अपने आपको घेर कर अपनी युवा अवस्था के हसीन सपनो को घरौंदे की तरह दिन-प्रतिदिन तोड़ता ...
    Kazakhstan, Needs, Central Asia, PM, Narendra Modi, Freedom

    मध्य एशिया में कजाखस्तान का साथ जरूरी

    मध्य एशियाई देश कजाखस्तान से रिश्तों को नई ऊचाईयां प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कजाखस्तान की यात्रा की। इससे पहले प्रधानमंत्री जुलाई 2015 में मध्य एशिया के चार देशों की यात्रा के दौरान मोदी कजाखस्तान गए थे। इस बार शंघाई सहयोग संगठ...
    Nuclear War

    परमाणु हथियारों पर विभाजित दुनिया

    परमाणु हथियारों पर प्रतिबंध लगाने से जुड़ी पहली वैश्विक संधि की स्वीकृति के लिए संयुक्त राष्ट्र में 122 देशों के मतदान व समर्थन से भले ही परमाणु हथियारों पर रोक का प्रस्ताव पारित हो गया हो, लेकिन भारत, अमेरिका समेत नौ परमाणु संपन्न देशों के बहिष्कार...
    Air pollution reduces life expectancy

    वायु प्रदूषण के कहर से घटती जीवन प्रत्याशा

    वायु प्रदूषण का प्रभाव मानव शरीर पर निरन्तर घातक होता जा रहा है। वर्ष 1990 तक जहां 60 फीसदी बीमारियों की हिस्सेदारी संक्रामक रोग, मातृ तथा नवजात रोग या पोषण की कमी से होने वाले रोगों की होती थी, वहीं अब हृदय तथा सांस की गंभीर बीमारियों के अलावा भी बह...
    Farmers in the center of politics

    खफा-खफा से धरतीपुत्र

    0
    कृषि बिलों को लेकर आजकल देश के काश्तकारों का गुस्सा सातवें आसमान पर है। केंद्र की मंशा है, 2022 तक इनकी आमदनी को दोगुना किया जाए। धरती के लालों का मंडियों में शोषण समाप्त हो। फसलों की लागत कम हो। उत्पादन में आशातीत वृद्धि हो। अंतत: धरतीपुत्र खुशहाल ह...
    Rain In Pakistan

    बारिश के पानी में डूबते शहर

    बरसात का मौसम शुरू होते ही देशभर से जलभराव की खबरों की बाढ़ सी आ जाती है। पिछले दिनों राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हुई बरसात ने सारे इंतजामों की पोल खोल दी। घुटनों तक पानी में डूबी दिल्ली की तस्वीरें पूरे देश ने देखी। ये वही दिल्ली है जिसकी तुलना दुनि...
    Our national language has become dumb

    गूंगी हो गई है हमारी राष्ट्रभाषा

    दुनियां भर में हिंदी का उपयोग और प्रचार प्रसार लगातार बढ़ रहा है मगर अपने ही देश में राज भाषा का आधिकारिक दर्जा पाने के बावजूद यह भाषा जनभाषा के रूप में स्थापित होने का अब भी इंतजार कर रही है। गाँधी के शब्दों में बात करें तो राष्ट्रभाषा के बिना राष्ट्...
    Satire: God is on strike!

    व्यंग: भगवान हड़ताल पर हैं!

    भगवान हड़ताल पर हैं। चौंक गए न। आप डर रहे हैं, आप को किसी अनहोनी का खौफ खाए जा रहा है, बिल्कुल सच है। आपका डर वाजिब है, आप ही नहीं भगवान की हड़ताल से पूरा त्रिलोक हिल गया है। संविधान मौन है और विधान ने आंखों पर पट्टी बांध रखी है। भक्त गोलोक वासी हो रहे...
    Way, Man, Space, Indigenous Rocket, Launch Vehicle, GSLV

    अंतरिक्ष में मनुष्य भेजने का खुला रास्ता

    अतरिक्ष असीम है और उसमें जिज्ञासा व खोज की अनंत संभावनाएं हैं। करीब 30 साल पहले भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने अंतरिक्ष के क्षेत्र में भविष्य की सुखद संभावनाओं को तलाशने की पहल की थी। आज हम एक-एक कर कई उपलब्धियां हासिल कर अंतरिक्ष के विस्ता...
    Breaking The Embankments Hindi Language

    तटबंधों को तोड़ती हिंदी भाषा

    0
    कभी गोविंदवल्लभ पंत ने कहा था कि हिंदी और नागरी का प्रचार तथा विकास कोई रोक नहीं सकता। उनकी कही बातें आज अक्षरश: सच साबित हो रही है। भाषा के तौर पर हिंदी अपने सभी प्रतिद्वंदियों को पीछे छोड़ लोकप्रियता का आसमान छू रही है और उसकी वैश्विक स्वीकार्यता लग...
    Pakistan, Democracy, Artical

    क्या होगा पाकिस्तान के लोकतंत्र का रूप ?

    पाकिस्तान में 25 जुलाई को होने जा रहे हैं आम चुनाव पाकिस्तान में 25 जुलाई को आम चुनाव होने जा रहे हैं। संसद के साथ-साथ प्रांतीय असेंबलियों के प्रतिनिधियों के चुनाव भी करवाये जा रहे हैं। जिन परिस्थितियों और वातावरण में इस बार नेशनल असेंबली (संसद) का ...
    Maratha, Reservation

    मराठा आरक्षण का रास्ता साफ

    महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण का रास्ता लगभग साफ हो गया है। महाराष्ट्र की देवेंद्र फडणवीस कैबिनेट ने मराठा आरक्षण को मंजूरी दे दी है। अभी ये तय नहीं हुआ है कि मराठाओं को सामाजिक और आर्थिक पिछड़े समाज के तौर पर कितने प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा। पिछले दिनो...
    Increasing, Emphasis, Non Conventional, Energy

    गैर परंपरागत ऊर्जा पर बढ़ता जोर

    विश्व स्तर पर प्रतिवर्ष लगभग तीन गुण वृद्धि के कारण ऊर्जा संकट आज के युग की वास्तविकता बन चुका है। विश्व में चार करोड़ 36 लाख 65 हजार टन कोयला भंडार है। गैस भंडार तो केवल 41 हजार मेगा टन है। वहीं पेट्रोल उत्पादों के बढ़ते दामों से सरकार ने गैर-परंपरागत...
    West Bengal

    पश्चिम बंगाल में विलुप्त होती विचारों की राजनीति

    राजनीति में विचारों के बजाय तलावारों की संस्कृति क्यों बढ़ रही है? यह ज्वलंत प्रश्न है। बुद्ध के संदेश अहिंसा परमों धर्म के विलोमी रास्ते पर हम क्यों चलने लगे हैं
    Water Crisis, Helpless System, India

    बढ़ता जल संकट और असहाय तंत्र

    हमारे देश में जल को मुफ्त की चीज समझ के बर्बाद किया जाता है। जिसके कारण पानी के स्रोत निरंतर खाली हो रहे हैं और देश जल की कंगाली की ओर बढ़ रहा है। जल को स्वच्छ रखने का सामाजिक संस्कार हमारे समाज से गायब होता जा रहा है। संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के...

    तीन तलाक पर राजनीतिक दलों का निराशाजनक रवैया

    नए साल के पहले ही दिन संसद से मुस्लिम महिलाओं के लिये निराशा से भरी खबर आई। असल में गुजरते साल के आखिरी दिन संसद के ऊपरी सदन राज्यसभा में तीन तलाक बिल पेश भी नहीं किया जा सका। कारण राजनीतिक विभेद, मुस्लिम मर्दों का तुष्टिकरण और हंगामे की निरंतर एवं श...
    Education, Free, Children, Govt School, Haryana

    ऐसे में मुफ्त शिक्षा कैसे दे पाएंगे?

    हरियाणा के रेवाड़ी की एक छात्रा ने शिक्षा व्यवस्था और सरकारी स्कूलों के साथ सरकारों की कलई खोल कर रख दी है। 1937 के राष्ट्रीय शिक्षा सम्मेलन में ही महात्मा गांधी ने मुफ्त शिक्षा की परिकल्पना रखी थी। 1966 में कोठारी आयोग ने पड़ोस स्कूल की कल्पना प्रस्त...
    Water Conservation vs. Sanitation Campaign

    जल संरक्षण बनाम स्वच्छता अभियान

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों अपने दूसरे कार्यकाल में मन की बात कार्यक्रम के पहले एपिसोड को सम्बोधित किया। उन्होंने जनसरोकारों से जुड़े और कई मुद्दों का जिक्र किया। उन्होंने सर्वप्रथम देश के ही नहीं बल्कि पूरे विश्व के सबसे ज्वलंत एवं चिंता...