जैसलमेर में अंतरराज्यीय ठगी गिरोह का पर्दाफाश, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

0
76
Arrested Taking Bribe

जैसलमेर (एजेंसी)। राजस्थान के सीमांत जैसलमेर जिले में कोरोना काल में लॉकडाऊन में ग्रामीणों को सोने के नकली आईटमों को असली बताकर उनसे ठगी करने के एक अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश कर पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया हैं। पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने आज बताया कि इस मामले में संदिग्ध वचनाराम उर्फ रमेश (29) निवासी बीबलसर पुलिस थाना बागरा जिला जालौर को दस्तयाब कर पूछताछ करने पर प्रकरण की वारदात करना स्वीकार कर लिया गया। इस पर उसे गिरफतार कर लिया गया।

पूछताछ में आरोपी ने राजस्थान एवं गुजरात में कई जगह वारदात करना स्वीकार किया हैं। उन्होने बताया कि स्थानीय एवं भोले भाले लोगों की खून पसीने की कमाई करने वाले लोगों को अपनी दयनीय स्थिति जैसे कभी मां का बीमार होना एवं कभी भाई का ईलाज करवाना बताकर शिकार बनाते हैं।

एक ठगी के बाद वापस उस सिम को प्रयोग नहीं करते हैं आरोपी

आरोपी इतने शातिर हैं कि फर्जी आधार कार्ड पर अपनी फोटो डाल देते हैं, अपने मोबाईल नम्बर एवं आईडी दिखा देते हैं, जिससे लोग उस फोटो के देखकर विश्वास कर लेते हैं। ये लोग गांव में भी नहीं रहते तथा निरंतर स्थान बदलते रहते हैं, मोबाईल सिम भी फर्जी गुजरात की इस्तेमाल करते हैं, जिससे पकड़ में नहीं आ सके। एक ठगी के बाद वापस उस सिम को प्रयोग नहीं करते हैं। गिरोह नकली सोने के जेवरात में कुछ अंश असली रखते हैं, उसके चैक कराने पर संदेह नहीं होता और व्यक्ति ठगी का शिकार हो जाता। उन्होंने बताया कि गत 17 मई को डाबला निवासी मुरलीधर दईया ने उसके साथ ठगी होने का मामला दर्ज कराया था। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही हैं।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।