कहा, बार-बार मिल रहे हैं नोटिस, नहीं मिला अभी तक कोई मुआवजा

compensation sachkahoon

ग्रामीणों ने नायब तहसीलदार से कि प्लाट देने की मांग

जुलाना (सच कहूँ न्यूज)। जुलाना में एनएच 352 को फोरलेन करने का कार्य प्रगति पर है। क्षेत्र के गांव पौली के दर्जनों मकान सड़क में आ गए लेकिन ग्रामीणों को अभी तक मुआवजा (Compensation) नहीं मिल पाया है। ग्रामीणों की मांग है कि जल्द से जल्द उन्हें मुआवजा दिया जाए ताकि वो अपने मकान को उखाड़कर दूसरी जगह बना सकें। पौली गांव निवासी रामरति, रघबीर, प्रमेंद्र, तरसेम, महाबीर, नरेंद्र, प्रवीन ने बताया कि सड़क में उनके मकान आ गए हैं।

उनके मकानों को उखाड़ने के नोटिस तो बार-बार प्रशासन द्वारा भेजे जा रहे हैं लेकिन अभी तक उन्हें मुआवजा (Compensation) नहीं मिल पाया है। कुछ लोगों ने तो मकान उखाड़ लिए लेकिन मलबा डालने के लिए उनके पास कोई प्लाट नहीं है। ग्रामीणों की मांग है कि जब तक उन्हें प्लाट नहीं मिलते तब तक पंचायती जमीन में उनके मकानों के उखाड़े गए मलबे को डालने की अनुमति दी जाए। इसके अलावा ग्रामीणों ने कहा कि वो दिहाड़ी मजदूरी करके अपना और अपने परिवार का पेट पालते हैं।

उनके पास इतनी राशि भी नहीं है कि वो किसी दूसरी जगह प्लाट खरीदकर मकान बना सकें। मकान उखाड़ने से दर्जनों परिवार बेघर हो गए हैं। ग्रामीणों ने कहा कि उन्होंने मकान उखाड़कर पंचायती जमीन में मलबा डाल दिया लेकिन ग्राम सचिव ने जल्द से जल्द पंचायती जमीन से मलबा हटाने के आदेश दिए हैं। ग्रामीणों को काफी परेशानियों से होकर गुजरना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने नायब तहसीलदार से प्लाट देने की मांग है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here