ट्रयू ब्लड पम्प: 24 घंटे रक्तदान के लिए हम तैयार

0
397
Blood-Donation

फतेहाबाद में व्हाट्सएप गु्रप के माध्यम से डेरा श्रद्धालु जरूरतमंदों को तुंरत उपलब्ध करवा रहे खून (True Blood Pump)

  • रक्तदाताओं को भी रक्तदान के लिए कर रहे प्रेरित

सच कहूँ/विनोद शर्मा

फतेहाबाद। रक्तदान महादान होता है, हमें रक्तदान जरुर करना चाहिए, ये बाते आमतौर पर लोगों को जागरूक करने के लिए कही जाती है, ताकि लोग इसकी जरुरत जाने और आगे आकर लोगों की जिंदगियां बचाएं। लेकिन जहां रक्तदान के लिए लोग इक्ट्ठे हों और कतार में इस विश्वास से लगे हों कि चाहे कुछ हो जाए रक्त देकर ही जाना है तो उन लोगों के इस जज्बे को क्या नाम देंगे। ये कोई कल्पना नहीं हकीकत है। पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां द्वारा दी गई पाक पवित्र शिक्षाओं का अनुसरण करते हुए डेरा सच्चा सौदा के श्रद्धालु रक्तदान के लिए हमेशा ही तैयार रहते हैं।

Blood Donation

रक्तदान के लिए 79882-87773, 94161-87873, 81689-90903 पर ले सकते हैं मद्द

मानवता भलाई के कार्यों में सच्चे मन से समर्पित डेरा सच्चा सौदा के सेवादार हर क्षेत्र में विश्व स्तर पर परचम लहरा रहे हैं। डेरा सच्चा सौदा के पूज्य गुरु द्वारा ही इन रक्तदाताओं को ट्रयू ब्लड पम्प का नाम दिया गया है। फतेहाबाद के युवा सेवादारों द्वारा नई-नई पहल कर रक्तदान के क्षेत्र में अपनी भूमिका निभा रहे हैं। डीएसएस ब्लड बैंक फतेहाबाद के नाम से बने सोशल व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से अब तब ये डेरा अनुयायी करीब 430 से अधिक लोगों की जिन्दगियां बचा चुके हैं। वहीं डेरा अनुयायियों द्वारा रक्तदान के लिए 79882-87773, 94161-87873, 81689-90903 नंबर जारी किए हैं ताकि जिसे भी रक्त की जरूरत हो वो मद्द ले सके।

जनवरी-2021 में बनाया था ग्रुप

जनवरी-2021 में रोहित अरोड़ा इन्सां व उनकी टीम द्वारा उपरोक्त व्हाट्सएप ग्रुप को बनाया गया था। इसके एडमिन रोहित इन्सां व हर्ष इन्सां एक्टिव रक्तदाताओं को जोड़ा गया है। जो आपातकाल में हर समय रक्तदान करने के लिए तत्पर रहते हैं। उन्होंने बताया कि फतेहाबाद क्षेत्र के किसी भी अस्पताल तथा अग्रोहा मैडिकल में कभी भी आपातकाल में जब रक्त की आवश्यकता पड़ती है तो इस ग्रुप के माध्यम से रक्तदाताओं को रक्तदान के लिए प्रेरित किया जाता है।

टिंकू इन्सां पहुंचाते हैं रक्तदाता को अस्पताल तक

इस ग्रुप के सहयोग से अब तक 430 लोग रक्तदान कर चुके हैं। उन्होंने बताया कि इस गु्रप में 200 से अधिक सदस्य जुड़े हुए हैं। जो पूज्य गुरु जी के पावन वचनों पर चलते हुए मानवता भलाई के कार्यों के लिए तैयार रहते हैं। इस ग्रुप के विशेष सदस्य टिंकू इन्सां रक्तदाताओं को रक्तदान के स्थल पर लाने व वापिस छोड़कर आने की सेवा निभाते हैं। वहीं नीरज इन्सां, गौरव इन्सां, अंकुश बजाज इन्सां, शुभम इन्सां, अमित नारंग इन्सां, सोनू जग्गा, लाडी इन्सां आदि युवा सेवादार हमेशा सेवा के लिए तैयार रहते हैं।

रक्तदान में डेरा सच्चा सौदा के नाम कई रिकॉर्ड

हम आपको बता दें कि इससे पहले 7 दिसम्बर 2003 को शाह सतनाम जी धाम में 15,432 यूनिट रक्त एकत्र किया गया था। 10 अक्तूबर-2004 को राजस्थान के श्रीगुरुसर मोडिया में 17,921 यूनिट रक्त एकत्र किया गया था। 8 अगस्त 2010 कोमात्र 8 घंटों में 43,732 यूनिट रक्तदान कर एशिया बुक आॅफ रिकॉर्ड बनाया गया है। रक्तदान शिविर के लिए पहले से ही डेरा सच्चा सौदा के नाम लिमका बुक और गिनीज बुक आॅफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है। जबकि 61752 डेरा श्रद्धालुओं द्वारा एक साथ लिखित में नियमित रक्तदान करने का प्रण लिया गया है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।