लाइमस्टोन की खान को मार्बल की बता आवंटन किया, सरकार को करोड़ों का नुक्सान: टीटी

0
132
TT

सीबीआई जांच करवाए जाने की मांग

श्रीगंगानगर (सच कहूँ न्यूज)। भाजपा ने अब प्रदेश में खनन विभाग में चल रहे कथित भ्रष्टाचार के मुद्दे पर प्रदेश की गहलोत सरकार को घेरा है। पूर्व मंत्री सुरेंद्रपालसिंह टीटी ने जयपुर में भाजपा मुख्यालय में मंगलवार को प्रेस वार्ता कर सीकर में कांग्रेस नेता और प्रतापगढ़ में आवंटित की गई खान में घोटाले का आरोप लगाया और इसकी सीबीआई जांच करवाने की मांग भी की। सुरेंद्रपाल टीटी ने कहा कि प्रदेश सरकार की शह पर खान विभाग के अधिकारियों ने सीकर में कांग्रेस के दिग्गज नेता को लाभ पहुंचाने के लिए चेजा पत्थर की खान की कैटेगरी चेंज कर दी और उसे संगमरमर की खान बता दिया गया।

मामला खुला तो इसे चेजा पत्थर की खान की कैटेगरी में डाला गया और 243 करोड़ की पेनल्टी लगाई गई।मामला कोर्ट पहुंचा तो विभाग को मामले पर निर्णय करने के लिए आदेश दिया गया।इसी दौरान हमारी सरकार बदल गई और कांग्रेस की सरकार बन गई। नेताजी ने दोबारा अपील की मगर विभाग ने जवाब नहीं दिया और 243 करोड़ की पेनल्टी माफ हो गई। टीटी ने यह पेनल्टी कांग्रेस के नेता से वापस वसूलने के लिए अपील करने की मांग की। प्रेस वार्ता के दौरान भाजपा नेता और पूर्व मंत्री सुरेंद्रपाल टीटी ने प्रतापगढ़ का भी मामला उठाया। उन्होंने कहा कि प्रतापगढ़ में भी चहेतों को फायदा पहुंचाने के लिए लाइमस्टोन की खान को मार्बल का बताया गया और आवंटन कर दिया गया।इस खान में अन्य मिनरल्स भी मिले थे। इस पर सरकार ने 4 सदस्यों की एक कमेटी बनाई।

कमेटी ने भी माना कि खान लाइमस्टोन की है लेकिन सरकार ने जूनियर अधिकारियों की एक कमेटी बनाई, जिसने सरकार के इशारे पर इस खान को मार्बल का बताया। इसके पीछे वजह यह थी कि अगर लाइमस्टोन की खान बताई जाती तो केंद्र सरकार से इसकी अनुमति लेनी पड़ती है। यही नहीं, नीलामी में कई बड़ी सीमेंट कंपनियां भी हिस्सा लेती, जिससे सरकार के चहेते व्यक्ति को यह काम नहीं मिल पाता। सरकार के इस निर्णय से न केवल करोड़ों रुपए के राजस्व का नुकसान हुआ बल्कि आदिवासी क्षेत्र के लोगों का हक भी मारा गया।भाजपा नेता ने इन दोनों ही मामलों में आवंटित की गई खान रद्द करने की मांग की। इसके अलावा पेनल्टी वसूली के लिए भी सरकार से अपील की. उन्होंने यह भी चेतावनी दी कि ऐसा नहीं होने पर वे कोर्ट की शरण लेंगे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।