पॉवरकॉम के मुख्य दफ़्तर की छत पर चढ़े मृतकों के आश्रित

0
157
Powercom Protesters

पांच पुरूष और तीन महिलाएं शामिल, नौकरी की मांग पूरी होने के बाद ही नीचे आने को कहा

  •  अन्य सदस्यों ने पॉवरकॉम के मुख्य गेट के आगे दिया धरना

सच कहूँ/खुशवीर सिंह तूर
पटियाला। नौकरी दौरान मारे गए कर्मचारियों के पारिवारिक सदस्य शुक्रवार को नौकरी की मांग को लेकर पॉवरकॉम के मुख्य दफ़्तर की 6वीं मंजिल पर चढ़ गए। छत पर चढ़े मृतकों के आश्रितों में पाँच पुरूष और तीन महिलाएं शामिल हैं। इसके अलावा बाकी सदस्यों की ओर से नीचे पॉवरकॉम मैनेजमेंट और सरकार विरुद्ध रोष प्रदर्शन शुरू कर दिया गया। जानकारी के अनुसार इन मृतकों के आश्रितों का कहना है कि उनके पारिवारिक सदस्य 2010 से पहले बिजली बोर्ड में काम करते हुए अपनी जान गंवा बैठे थे, परन्तु अभी तक उनके पारिवारिक सदस्यों को नौकरी नहीं दी गई।

इस मौके नेता विजय कुमार ने कहा कि उनको अपनी मांगों के लिए चौथी बार छत पर चढ़ना पड़ा है, इससे पहला दो बार टंकी और एक बार छत पर चढ़े थे। हर बार मैनेजमेंट की ओर से उनकी मांगों को पूरी करने का भरोसा देकर लारा लगा दिया जाता है, परन्तु आज तक उनको नौकरियां नहीं दीं गई। इस मौके पर चढ़े व्यक्तियों ने कहा कि नौकरियों की इस मांग की पूर्ति तक वह नीचे नहीं उतरेंगे। इस संबंधी चाहे कि इन प्रदर्शनकारियों की पॉवरकॉम के एक अधिकारी के साथ मीटिंग भी हो चुकी है परन्तु शाम तक बात किसी बात बनी नहीं थी।

पॉवरकॉम के आधिकारियों का यह भी तर्क था कि विभाग की तरफ से मृतक कर्मचारियों के कई आश्रितों को निर्धारित की गई राशि प्रदान कर दी गई थी। अपना नाम न छापे जाने की शर्त पर एक अधिकारी का तर्क था कि ऐसी राशि लेने बाद में भी नौकरी मांगने की कोई गुजांईश ही नहीं रह जाती। इसी अधिकारी का यह भी कहना था कि यदि लिए गए ऐसे फंड सबंधित पारिवारिक मैंबर वापिस कर दें, तो नौकरी संबंधी विचार किया जा सकता है।

समाचार लिखे जाने तक जारी था कर्मचारियों का धरना

उधर एक प्रदर्शनकारी का कहना था कि विभाग ने आश्रितों को ऐसे फंड मुहैया तो करवाए हैं, परन्तु तब स्पष्ट नहीं किया गया था कि वह यह फंड लेने के बाद मृतक कर्मचारी की जगह नौकरी लेने के योग्य रहेंगे या नहीं। उन्होंने कहा कि पिछले समय दौरान परनीत कौर की ओर से उनकी मांग को जायज बताया गया था और मैनेजमेंट ने भी हामी भरी थी। इधर शाम छह बजे खबर लिखे जाने तक पॉवरकॉम के मुख्य दफ़्तर की छत पर कर्मचारी चढ़े हुए थे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।