ट्रैवल एंड टूरिज्म में उज्ज्वल भविष्य की अपार संभावनाएं

0
210
future in travel and tourism

-सतविंद्र सिंह सिद्धु एजुकेटर व रिंकी एजुकेशन प्लेटफार्म

आज के समय में ट्रैवल एंड टूरिज्म में कैरियर बनाना एक अच्छा आॅप्शन हो सकता है क्योंकि टूरिज्म इंडस्ट्री एक ऐसी इंडस्ट्री है जो हर साल बहुत तेजी से बढ़ रही है इसमें लाखों नहीं बल्कि करोड़ों रोजगार के अवसर पैदा हो रहे हैं और इसका सीधा फायदा उन छात्रों को मिलेगा जो टूरिज्म में अपना करियर बनाना चाहते हैं और जिन्होंने ट्रैवल एंड टूरिज्म में एक अच्छा डिग्री या कोर्स किया हुआ है। ( Future in Travel and Tourism) हाल ही में जारी हुई एक रिपोर्ट के अनुसार ट्रैवल एंड टूरिज्म इंडस्ट्री दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा रोजगार देने वाला क्षेत्र बन गया है और भारत भी इस क्षेत्र में पीछे नहीं है। एशिया घूमने आने वाले लोगों में 50% लोग भारत घूमने आते है, इसलिए भारत का टूरिज्म क्षेत्र भी बहुत बड़ा है और हर साल करोड़ों रोजगार पैदा करता है जिस कारण भारत में टूर गाइड और टूर आॅपरेटर की मांग दिन पर दिन बढ़ रही है।

भारत में ट्रैवल एंड टूरिज्म इंडस्ट्री:

यह इंडस्ट्री भारत के सबसे बड़े और सबसे अधिक लाभदायक क्षेत्रों में से एक है और भारत द्वारा अर्जित की जाने वाली विदेशी मुद्रा में इसका योगदान काफी है। एक रिसर्च के अनुसार भारत में ट्रैवल एंड टूरिज्म इंडस्ट्री 2025 तक करीब 4.5 करोड़ रोजगार पैदा करेगी। एक रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रैवल एंड टूरिज्म इंडस्ट्री का देश की जीडीपी में 10 फीसदी योगदान है। भारत में ट्रैवल इंडस्ट्री का आकार 16 लाख करोड़ रुपए है। 2029 तक इसका आकार दोगुना होकर 35 लाख करोड़ रुपए तक पहुंच जाएगा।

ट्रैवल एंड टूरिज्म क्षेत्र में कोर्स:

यदि आप ट्रैवल एंड टूरिज्म में अपना करियर बनाने के बारे में सोच रहे हैं तो इसके लिए आप बारहवीं कक्षा के बाद और ग्रेजुएशन के बाद कोर्स कर सकते हैं। इस फील्ड में आप डिग्री कोर्स डिप्लोमा कोर्स और शॉर्ट टर्म सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते है इनमें से कुछ प्रमुख कोर्स इस प्रकार है।

1. बैचलर आॅफ टूरिज्म एडमिनिस्ट्रेशन:

ट्रैवल एंड टूरिज्म इंडस्ट्री में यह काफी प्रसिद्ध कोर्स है और बहुत सारी यूनिवर्सिटी और कॉलेज इस कोर्स को करवाती है। यह एक तीन साल का डिग्री कोर्स है। यदि आपने 12वीं कक्षा किसी भी स्ट्रीम से पास की है, तो आप इस कोर्स को कर सकते हैं। इस कोर्स को करने के बाद आप एयरलाइंस, फूड इंडस्ट्रीज, हॉस्पिटलिटी इंडस्ट्री, ट्रांसपोर्ट इंडस्ट्रीज, टैÑवल एजेंसी और गवर्नमेंट टूरिज्म डिपार्टमेंट में जॉब कर सकते हैं। बैचलर आॅफ टूरिज्म एडमिनिस्ट्रेशन का कोर्स करने के बाद आप वीजा एग्जीक्यूटिव, ट्रैवल एग्जीक्यूटिव, ट्रैवल एजेंट, ट्रांसपोर्ट आॅफिसर, काउंटर असिस्टेंट, टूर मैनेजमेंट एग्जीक्यूटिव, टूर आॅपरेटर, गवर्नमेंट के टूरिज्म डिपार्टमेंट में जॉब कर सकते हैं।

2. बैचलर आॅफ टूरिज्म मैनेजमेंट:

इस डिग्री कोर्स को करने के लिए आप किसी भी स्ट्रीम से 12वीं पास होने चाहिए। यह तीन साल का डिग्री कोर्स है। इस कोर्स को करवाने वाली प्रमुख संस्थान चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी, महात्मा गांधी यूनिवर्सिटी, जीएनए यूनिवर्सिटी, और लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी हैं। इस डिग्री कोर्स को करने के बाद आप टूर मैनेजर, होटल मैनेजमेंट, ट्रेनी टूर आॅपरेटर, एग्जीक्यूटिव फैसिलिटी मैनेजमेंट आदि में जॉब पा सकते हैं। इस कोर्स को करने के बाद आप एमबीए इन टूरिज्म मैनेजमेंट और मास्टर आॅफ टूरिज्म मैनेजमेंट भी कर सकते हैं।

3. बीएससी इन एयरलाइंस, टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी:

यह तीन साल का डिग्री कोर्स है अगर आप 12वीं कक्षा साइंस स्ट्रीम से 50% नंबर से पास की है तो आप इस कोर्स को कर सकते हैं। इस कोर्स को करने के बाद आप टूर मैनेजमेंट एग्जीक्यूटिव, ट्रैवल कंसलटेंट, ट्रैवल एंड टूरिज्म मैनेजर, आॅपरेशंस एग्जीक्यूटिव, टूर आॅपरेटर, होटल मैनेजमेंट आदि की जॉब पा सकते हैं।

4. बीबीए इन टूरिज्म एंड ट्रैवल मैनेजमेंट:

यह भी काफी प्रसिद्ध कोर्स है और 12वीं करने के बाद काफी छात्र इस कोर्स को करते हैं। यह तीन साल का डिग्री कोर्स है। इसके लिए 12वीं कक्षा में पास होना अनिवार्य है। इस कोर्स को करने के बाद आप टूर आॅपरेटर ट्रैवल एजेंसीज, इमीग्रेशन एंड कस्टम्स सर्विस आदि में जॉब पा सकते हैं।

कुछ अन्य कोर्स:

  •  सर्टिफिकेट कोर्स इन ट्रैवल एंड टूरिज्म
  •  एमबीए इन ट्रैवल एंड टूरिज्म
  •  पीजी डिप्लोमा इन ट्रैवल एंड टूरिज्म
  •  मास्टर आॅफ टूरिज्म एडमिनिस्ट्रेशन

ट्रैवल एंड टूरिज्म के लिए जरूरी स्किल्स:

अगर आप ट्रैवल एंड टूरिज्म फील्ड में करियर बनाना चाहते हैं इसके लिए कुछ स्किल्स का होना भी आवश्यक है जैसे कि अच्छी सोच समझ और अच्छी पर्सनालिटी होना बहुत जरूरी है और इसके साथ-साथ इंग्लिश भाषा पर अच्छी पकड़ होनी चाहिए। इसके अलावा हिस्ट्री, कल्चर, आर्किटेक्चर, आदि का ज्ञान होना चाहिए।

ट्रैवल एंड टूरिज्म में जॉब्स:

1. टूर आॅपरेटर: ट्रैवल एंड टूरिज्म क्षेत्र में यह काफी अच्छी नौकरी मानी जाती है। इसमें टूर आॅपरेटर को पर्यटकों की यात्रा का पूरा इंतजाम करना होता है। जैसे कि यात्रियों के लिए टूर की प्लानिंग करना उनको अच्छी सेवाएं मुहैया करवाना टूर आॅपरेटर को अपनी भारतीय यात्रियों के अलावा विदेशी यात्रियों को भी सेवाएं मुहैया करवानी होती हैं। एक टूर आॅपरेटर की सैलरी हजारों से लेकर लाखों में होती है
2. हॉस्पिटैलिटी सेक्टर: ट्रैवल एंड टूरिज्म हॉस्पिटैलिटी सेक्टर से काफी गहरा संबंध है, इसलिए इस सेक्टर में जॉब बहुत अच्छी मानी जाती है और इनकी मासिक सैलरी भी काफी अच्छी होती है। इस सेक्टर में आप देश के साथ-साथ विदेश में भी नौकरी के अवसर मिलते हैं।
3. पर्यटन विभाग: राज्य और केंद्र स्तर पर सरकार द्वारा अनेक पर्यटन विभागों का निर्माण किया गया है। यदि आपने ट्रैवल एंड टूरिज्म में कोई डिप्लोमा या डिग्री की है तो आप इनमें अप्लाई करके अच्छी जॉब पा सकते हैं।
4. ट्रैवल एजेंसी: ट्रैवल एंड टूरिज्म क्षेत्र में ट्रैवल एजेंसीज का योगदान काफी ज्यादा है। ट्रैवल एजेंसी की वजह से ही आज ट्रैवल एंड टूरिज्म का सेक्टर इतना बड़ा हुआ है। इस कारण ट्रैवल एजेंसी में लगातार ट्रेवल प्रोफेशनल की मांग बढ़ती जा रही है। यदि आपने ट्रैवल एंड टूरिज्म में कोई डिप्लोमा डिग्री की है तो आप ट्रैवल एजेंसी में विभिन्न विभिन्न पदों पर अप्लाई कर सकते हैं।

करियर की राह: आकड़ों में है रुचि तो बनाए स्टेटिस्टिक्स में करियर

टूरिज्म कितने प्रकार का होता है: आमतौर पर टूरिज्म तीन भागों में विभाजित है। घरेलू पर्यटन, इनबॉउंड टूरिज्म, आउट बाउंड टूरिज्म।

1. घरेलू टूरिज्म: इस प्रकार की टूरिज्म में एक देश के लोग अपने देश के अंदर ही पर्यटन स्थलों को देखने जाते हैं जैसे भारत के लोग आगरा में ताजमहल को देखने जाएं।
2. इनबॉउंड टूरिज्म: इस प्रकार की टूरिज्म में जैसे किसी और देश के लोग भारत में भारत के पर्यटन स्थलों को देखने आए उदाहरण के तौर पर अमेरिका के लोग भारत में घूमने आए।
3. आउटबाउंड टूरिज्म: इसमें भारत के लोग किसी अन्य देश में उनके पर्यटन स्थलों को देखने जाते हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।