सरसा नगर परिषद चेयरमैन पद पर कांडा समर्थक रीना सेठी का कब्जा

0
82
Sirsa Municipal Council

भाजपा प्रत्याशी सुमन बामणिया को दो वोटों से हराया

सरसा(सुनील वर्मा)। सरसा में बुधवार को विधायक गोपाल कांडा एक बार फिर भाजपा पर भारी पड़ गए। नगर परिषद चेयरमैन के चुनाव में कांडा समर्थित प्रत्याशी रीना सेठी ने जीत का परचम लहराया। वार्ड नंबर 17 से पार्षद रीना सेठी ने भाजपा प्रत्याशी सुमन बामणिया को दो वोटों से हराया। रीना सेठी को कुल 17 वोट मिले। जबकि भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी सुमन बामणिया को 15 वोटों से ही संतोष करना पड़ा। इस दौरान सांसद सुनीता दुग्गल और विधायक गोपाल कांडा भी मौजूद रहे और उन्होंने अपने मताधिकार का भी प्रयोग किया।

रीना सेठी की जीत के बाद कांडा समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई और विधायक गोपाल कांडा और उनके भाई गोविन्द कांडा को बधाईयों का सिलसिला शुरू हो गया। विधायक गोपाल कांडा ने कहा कि ये जीत सरसा की जनता की जीत है। इसलिए अब विकास कार्यों में कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी। वहीं भाजपा समर्थकों में मायूसी देखी गई। बता दें कि यह चुनाव पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट के आदेशों के बाद हुए।

किसानों ने किया हंगामा

इस दौरान अप्रत्याशित स्थिति उस वक्त बन गई जब किसान सांसद सुनीता दुग्गल और विधायक गोपाल कांडा का विरोध करने पहुंच गए। इस दौरान किसानों ने जमकर हंगामा किया। किसानों के बढ़ते विरोध को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। पुलिस को किसानों को रोकने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। लेकिन किसान पीछे हटने को तैयार नहीं थे। आखिर पुलिस ने थोड़ी सख्ती दिखाते हुए किसानों को खदेड़ा। गौरतलब है कि कृषि कानूनों के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा ने भाजपा-जजपा मंत्रियों और विधायकों के बहिष्कार का ऐलान किया हुआ है और जहां भी इन पार्टियों के नेताओं के कार्यक्रम होते हैं, वहां विरोध किया जा रहा है। वर्तमान दौर में मुख्यमंत्री मनोहर लाल, उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, कृषि मंत्री जेपी दलाल और खेल मंत्री सहित भाजपा सांसदों तक को भी किसानों के भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।